ई-टेंडर घोटाले में फंसी कंपनी का काम 26 सार्वजनिक उपक्रमों व तीन राज्यों में

भोपाल। मध्य प्रदेश के ई-टेंडर घोटाले में शामिल एंट्रस सिस्टम्स लिमिटेड कंपनी मप्र ही नहीं बिहार, गोवा, केंद्र शासित राज्यों लक्षद्वीप, अंडमान सहित देश के 29 सार्वजनिक उपक्रमों में सॉफ्टवेयर का काम करती है। यह संदेह जताया जा रहा है कि मप्र की तरह कंपनी की कार्यप्रणाली से दूसरे राज्यों व सार्वजनिक उपक्रमों में भी ई-टेंडर टेंपरिंग तो नहीं हुई। इसको लेकर आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) मुख्यालय द्वारा संबंधित राज्यों और सार्वजनिक उपक्रम के अधिकारियों को पत्र लिखकर जांच करवाने की सलाह दी जा रही है।
वहीं, ई-टेंडर घोटाले में आरोपित मनीष खरे को अदालत ने सोमवार को न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया।
मप्र में ई-प्रिक्योरमेंट पोर्टल का काम करने वाली टीसीएस की सहयोगी कंपनी एंट्रस सिस्टम्स लिमिटेड को लेकर ईओडब्ल्यू ने जांच के दौरान पाया कि उसका कारोबार मध्य प्रदेश ही नहीं बिहार, गोवा, केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप व अंडमान सरकारों में भी फैला है। इसके अलावा 29 सार्वजनिक उपक्रमों में भी इसी तरह का काम है।
इन सार्वजनिक उपक्रमों में इसरो, आयकर, नोट प्रेस से लेकर भारतीय स्टेट बैंक व इलाहाबाद बैंक जैसे संस्थान हैं। ईओडब्ल्यू के महानिदेशक केएन तिवारी ने बताया कि एंट्रस कंपनी सॉफ्टवेयर का काम करती थी। उसका मप्र के अलावा जिन चारों राज्यों व सार्वजनिक उपक्रमों में कारोबार है, वहां पत्र लिखकर कंपनी के कामकाज की जांच पड़ताल करने की सलाह दी जाएगी।
अब शुरू होगी अधिकारियों से पूछताछ
प्रदेश के ई-टेंडर घोटाले में अब अधिकारियों से पूछताछ शुरुआत होने वाली है। टेंडर प्रक्रिया के समय जो भी अधिकारी पदस्थ रहे होंगे, सभी से पूछताछ की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि मनीष खरे सहित ऑस्मो के संचालकों से पूछताछ में अब तक जो भी तथ्य सामने आए हैं, उनके आधार पर नौकरशाहों से पूछताछ होगी। मनीष खरे को ईओडब्ल्यू ने पूछताछ के बाद एडीजे शिवबालक साहू की अदालत में पेश किया। अदालत ने खरे को न्यायिक रिमांड पर जेल भेजने के आदेश कर दिए।
यहां काम कर रही एंट्रस

  • बिहार
  • गोवा
  • केंद्र शासित राज्य लक्षद्वीप व अंडमान
    सार्वजनिक उपक्रम
  • नॉर्दन कोलफील्ड
  • महानदी कोलफील्ड
  • नेशनल थर्मल पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड
  • इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो)
  • भारत नोट मुद्रण प्रिंटिंग लिमिटेड
  • आयकर विभाग के पंचकुला, चंडीगढ़, अमृतसर कार्यालय
  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक
  • हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड
  • हिमाचल प्रदेश स्टेट इलेक्ट्रॉनिक विकास निगम
  • सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट (सीपीडब्ल्यूडी)
  • नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन
  • अमृतसर स्मार्ट सिटी लिमिटेड
  • पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन
  • लखनऊ नगर निगम
  • मालवीय नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी
  • ईडीसीआईएल इंडिया लिमिटेड
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट
  • बीएसएनएल नई दिल्ली
  • इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी)
  • अंडमान लक्षद्वीप हरबोर वर्क्स
  • केरल फीड लिमिटेड
  • केरल स्टेट सिविल सप्लाई कारपोरेशन लिमिटेड
  • केरल स्टेट को-ऑपरेटिव कंज्यूमर्स फेडरेशन लिमिटेड
  • पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट पुडुचेरी
    कुठियाला से पूछताछ की संभावना
    माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बीके कुठियाला से मंगलवार को पूछताछ की संभावना है। उन्हें आठ जून को बुलाया गया था, लेकिन कम समय होने से उन्होंने कुछ और दिन समय की मांग की थी। सूत्र बताते हैं कि कुठियाला से मेडिकल बिलों के साथ चाय-बिस्किट, मदिरा, किराए के भवन में विवि के खर्च पर बोरवेल कराने जैसे खर्चों पर सवाल किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *