आज केरल पहुंचेगा मानसून, इन जगहों पर भारी बारिश का जारी हुआ रेड अलर्ट

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुमान के मुताबित आज आखिरकार राहत की बूंदे लिए मानसून के बादल केरल के तट से टकरा जाएंगे और फिर जमकर बरसेंगे। वैसे केरल में मानसून पहली जून तक पहुंचता है, लेकिन इस बार इसमें एक हफ्ते की देरी हुई है। मानसून के केरल पहुंचने के बाद 9, 10 और 11 जून को केरल के त्रिशूर, एर्नाकुलम, मलप्पुरम, कोझिकोड में भारी बारिश हो सकती है।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मौसम विभाग ने इसे देखते हुए अलर्ट जारी किया है। साथ ही मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह दी गई है। अगल 48 घंटों में मानसून रफ्तार पकड़ सकता है लेकिन इसके बावजूद मौसम विभाग का अनुमान है कि जून के महीने में औसत से कम बारिश होने की उम्मीद है। विभाग के मुताबिक अगस्त और सितंबर में अच्छी बारिश होगी।
मौसम विभाग ने नागालैंड, छत्तीसगढ़, मिजोरम, त्रिपुरा, असम, मेघालय और केरल में अगले 72 घंटे के दौरान भारी बारिश का अनुमान लगाया है। साथ ही, उत्तर भारत के कई इलाकों में चल रही गर्म हवाओं (लू) से भी अगले कुछ दिनों में राहत मिलने की उम्मीद जताई है।
भले ही मानसून केरल पहुंच रहा है लेकिन इससे मध्यभारत को राहत नहीं मिलेगी और यहां लू के थपेड़े लगते रहेंगे। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर और मध्य भारत में अगले सप्ताह तक हीटवेव जारी रहने का अनुमान लगाया है। शनिवार से लेकर मंगलवार तक मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र के विदर्भ में गंभीर लू की स्थिति बनी रहेगी।
हालांकि, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में पिछले दो तीन दिनों से जारी आंधी बारिश और ओलावृष्टि के कारण कुछ शहरों में तपन में कमी आई है लेकिन इससे पूरी राहत मानसून के आने के बाद ही मिलेगी।
आईएमडी ने शुक्रवार को अपने मानसून बुलेटिन में कहा, “इसके (मानसून) धीरे-धीरे उत्तर-पूर्व की ओर रुख करने की बहुत संभावना है, जिससे केरल में 8 जून के आसपास दक्षिण-पश्चिम मानसून के पहुंचने की संभावना है। अगले 3-4 दिनों के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने की संभावना है।” मौसम विभाग ने इस बार मानसून के सामान्य रहने का भी पूर्वानुमान जताया है।
मानसून के केरल पहुंचने के हफ्ते भर बाद ही देश के उत्तरी क्षेत्रों को प्रचंड गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद है। अभी उत्तर भारत समेत देश के कई हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। राजस्थान के कुछ हिस्सों में तो पारा 50 डिग्र्री सेल्सियस के पास तक पहुंच गया है। हालांकि, शुक्रवार को दिल्ली को गर्मी से कुछ राहत मिली, क्योंकि अधिकतम पारा गिरकर 44 डिग्र्री सेल्सियस से गिरकर 40.2 डिग्र्री पर आ गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *