बुआ- भतीजे का तलाक, मायावती ने कहा-अकेले लड़ेंगे आने वाले उपचुनाव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए सपा और बसपा द्वारा बनाए गए गठबंधन पर ब्रेक लग गया है। मायावती ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि आने वाले समय में होने वाले उपचुनावों पर बसपा अकेले चुनाव लड़ेगी। हालांकि, मायावती गठबंधन को लेकर साफ-साफ कुछ भी कहने से बचती रहीं लेकिन हार के लिए सपा पर दोष मढ़ते हुए गठबंधन से दूरी बना ली।
मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि चुनाव में ईवीएम में खराबी की बड़ी भूमिका रही। वहीं हम चुनाव नतीजों को नजरअंदाज नहीं कर सकते। यूपी के चुनाव में सपा के आधार वोट यादव समुदाय ने ही पार्टी को समर्थन नहीं दिया। यहां तक की सपा के मजबूत उम्मीदवार भी चुनाव में हार गए। सपा में समर्थकों को बदलने की जरूरत है। सपा में एक बड़े बदलाव की जरूरत है। अगर अखिलेश ने भविष्य में पार्टी में बदलाव किया तो साथ चलना संभव होगा। मैंने गिले शिकवे मिटाकर गठबंधन किया था। हमारा सुख-दुख का रिश्ता बना रहेगा।
मायावती ने साफ किया कि अगर सपा प्रमुख अपने कार्यकर्ताओं को मिशनरी बनाने में कामयाब होते हैं तो हम लोग आगे भी मिलकर साथ चलेंगे। अगर वो ऐसा करने में नाकाम रहते हैं तो हमे अकेले ही चलने में फायदा है। फिलहाल सपा-बसपा गठबंधन पर ब्रेक नहीं लगा है लेकिन आने वाले उपचुनाव के लिए फिलहाल बसपा ने अकेले ही चुनाव लड़ने का फैसला किया है।
मायावती ने कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनकी पत्नी मुझे बड़ी होने की वजह से पूरा सम्मान देते हैं। हमारा रिश्ता राजनीतिक स्वार्थ का नहीं बल्कि आगे भी बना रहेगा, यह रिश्ते कभी खत्म नहीं होने वाले, ऐसी मेरी कोशिश रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *