नई कैबिनेट की पहली बैठक आज, विभागों का बंटवारा हो सकता है

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके नए कैबिनेट मंत्रियों की आज यहां पहली बैठक होगी। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बैठक में विभागों का बंटवारा हो सकता है। इससे पहले मोदी ने गुरुवार को लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। उनके अलावा 57 कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण की, जबकि 2014 में 46 ने शपथ ली थी। इस बार 25 कैबिनेट, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री बनाए गए। अमित शाह पहली बार केंद्रीय मंत्री बने।
शाह को मिल सकता है वित्त मंत्रालय
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को अपने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर मोदी से उन्हें नए मंत्रिमंडल में शामिल न करने का आग्रह किया था। जेटली की गैर मौजूदगी से वित्त मंत्रालय का प्रभार पीयूष गोयल के पास रहा, लेकिन अब यह जिम्मेदारी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सौंपे जाने की चर्चा है।
एस जयशंकर को मिल सकता है विदेश मंत्रालय
शपथ से पहले तक विदेश मंत्रालय का जिम्मा निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी या स्मृति ईरानी को सौंपे जाने की चर्चा थी, लेकिन अब एस जयशंकर का नाम सबसे आगे है। वे तीन साल विदेश सचिव रह चुके हैं।
पत्नी के साथ मंदिर पहुंचे प्रधान
नए मंत्रिमंडल में शपथ लेने के बाद केंद्रीय मंत्री धर्मेंद प्रधान शुक्रवार सुबह पत्नी मृदुला के साथ मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। उन्होंने हौज खास स्थित जगन्नाथ मंदिर में माथा टेका। नई कैबिनेट में शामिल किए गए प्रताप चंद्र सारंगी और भुवनेश्वर से भाजपा सांसद अपराजिता सारंगी भी उनके साथ थे।
कैबिनेट में भाजपा के 53 मंत्री
कैबिनेट में 53 मंत्री भाजपा के हैं और सहयोगी दलों के मंत्रियों की संख्या 4 है। इनमें जदयू और अपना दल शामिल नहीं हैं। 19 नए चेहरों को जगह मिली। उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 8 सांसदों को मंत्री बनाया गया। सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, राज्यवर्धन राठौर, महेश शर्मा और सुरेश प्रभु को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया।
राहुल को हराने वाली स्मृति कैबिनेट में सबसे युवा
43 वर्षीय स्मृति ईरानी कैबिनेट में सबसे युवा हैं। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान (72) सबसे उम्रदराज हैं। इस बार 6 महिलाओं निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर बादल, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सरुता और देबश्री चौधरी को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। पिछली सरकार में 9 महिलाएं मंत्री थीं।
गिरिराज, रिजिजू और शेखावत का प्रमोशन
अरुणाचल पश्चिम सीट से दो बार के सांसद किरेन रिजिजू का दर्जा राज्यमंत्री से बढ़ाकर इस बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कर दिया गया। गिरिराज सिंह को भी कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई गई, पिछली बार उन्हें राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का दर्जा मिला था। गजेंद्र सिंह शेखावत को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया, पिछली बार वे राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे। महेंद्र नाथ पांडेय कैबिनेट बने, वे भी पिछली बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *