मप्र में बिजली 12 फीसदी महंगी करने की तैयारी, चुनाव में कहा था- 1.5% ही बढ़ाएंगे दाम

जबलपुर। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद प्रदेश सरकार जनता की मुश्किलें और बढ़ाने जा रही है। बिजली के दाम बढ़ाकर लोगों की जेब हल्की करने की तैयारी हो गई है। कंपनी ने बिजली के दाम अब सीधे 12 फीसदी बढ़ाने की तैयारी की है। चुनाव से पहले कंपनी महज 1.5 फीसदी इजाफा करने का दावा कर रही थी। उस वक्त प्रस्ताव भी भेजा गया। लेकिन पिछले दिनों मप्र पॉवर मैनेजमेंट कंपनी ने संशोधित प्रस्ताव बनाकर दाम 12 फीसदी बढ़ाने की मंजूरी मांगी है। अब मप्र विद्युत नियामक आयोग इस मामले में निर्णय करेगा।
फरवरी में था 1.5 फीसदी का प्रस्ताव
बिजली कंपनी ने लोकसभा चुनाव के पहले फरवरी 2019 में मप्र विद्युत नियामक आयोग को टैरिफ प्रस्ताव भेजा। इसमें 1.5 फीसद औसत बढ़ोतरी का जिक्र किया। बिजली कंपनी ने पिछले 23 और 25 मई को दोबारा रिव्यू पिटीशन दायर की। जिसमें 4098 करोड़ का घाटा बताते हुए 12 फीसदी बिजली के दाम बढ़ाने की सिफारिश की गई। सूत्रों की माने तो साल नवंबर 2018 में मप्र पॉवर मैनेजमेंट कंपनी ने टू-अप पिटीशन दायर कर 3837 करोड़ रुपए का घाटा दर बढ़ाकर मांगा था। जिसे आयोग ने मंजूर किया है। इसी के बाद दाम बढ़ाने की तैयारी हुई।
12 फीसदी मतलब 100 यूनिट में 25 रुपए बढ़ेगा

  • बिजली कंपनी की मनमाफिक यदि दाम बढ़ेगें तो 100 यूनिट बिजली की खपत वाले उपभोक्ता के मौजूदा बिल में करीब 25 रुपए अतिरिक्त बोझ आएगा। घरेलू उपभोक्ता को मौजूदा टैरिफ के मुताबिक औसत दाम 5.95 रुपए प्रति यूनिट बिजली मिलती है।
    100 यूनिट का बिल 517 रुपए
    बिजली की मौजूदा दर के हिसाब से अभी 100 यूनिट बिजली बिल का दाम करीब 517 रुपए आता है। बिजली के दाम बढ़े तो ये करीब 542.50 रुपए के आसपास होगा। करीब 25 रूपए का अंतर आएगा।
    2019-20 के लिए दाम
    बिजली के दाम साल 2019-20 के लिए होगा। सामान्यतौर पर 1 अप्रैल से बिजली के दाम बढ़ जाते हैं। लोकसभा चुनाव की वजह से आयोग निर्णय नहीं ले सका। नतीजों के बाद अब आयोग टैरिफ पर जनसुनवाई करने की तैयारी कर रहा है।
    बिजली टैरिफ का संसोधित चार्ट- कंपनी ने जो प्रस्तावित किया है
    ऐसा भेजा है कंपनी ने प्रस्ताव
    यूनिट अभी प्रस्ताव बढ़ोतरी फिक्स जार्च बढ़ाया
    30 यूनिट तक 3.10 3.20 10 पैसे
    50 यूनिट तक 3.85 4.10 25 पैसे 5 रुपए बढ़ाया
    51-100 4.70 5.15 45 पैसे 15 रुपए बढ़ाया
    101-300 6.00 6.60 60 पैसे 07 रुपए प्रति आधा किलोवाट बढ़ाया
    300 से अधिक 6.30 6.80 50 पैसे 05 रुपए प्रति आधा किलोवाट लोड पर बढ़ाया
    (नोट- बिजली कंपनी ने गांव और शहर दोनों ही जगह फिक्स जार्च एक कर दिया है। अभी तक अलग-अलग तय था)
    ऐसा है फिक्स जार्च
    बिजली कंपनी ने फिक्स जार्च बिल में ऊर्जा प्रभार के साथ जुड़कर आता है। अभी उपभोक्ता को 101 यूनिट से 300 यूनिट तक खपत पर शहर में 90 और गांव में 65 रुपए जार्च देना होता था। इसे अब 80 रूपए किया है। वहीं 101 से 300 यूनिट में 17 रूपए प्रति आधा किलोवाट लोड पर बढ़ाकर 24 रूपए। तथा 300 यूनिट से ऊपर पर 21 रूपए प्रति आधा किलोवाट से बढ़ाकर 27 रूपए प्रति आधा किलोवाट करने का प्रस्ताव बनाया है।
    12 फीसदी बढ़ोतरी का प्रस्ताव
    बिजली कंपनी ने संशोधित टैरिफ प्रस्ताव मप्र विद्युत नियामक आयोग को भेजा है। पहले 1.5 फीसदी ही बढ़ोतरी की गई थी। दोबारा भेजे गए प्रस्ताव में 12 फीसदी बढ़ोतरी की सिफारिश की गई है – फिरोज मैश्राम, सीजीएम टैरिफ मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *