मोदी लहर में बह गए एक दर्जन पूर्व मुख्यमंत्री, 8 कांग्रेसी भी शामिल

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में एक बार फिर मोदी लहर साफ नजर आई। यही वजह रही की भाजपा ने अकेले दम पर बहुमत हासिल कर लिया है। उत्तर प्रदेश में शानदार प्रदर्शन करने के साथ ही पश्चिम बंगाल में भी पार्टी ने बेहतर नतीजे हासिल किए हैं। इसके साथ ही नरेंद्र मोदी का दोबारा प्रधानमंत्री बनना तय हो गया है। चुनाव के दौरान मोदी लहर ने देशभर में एक दर्जन पूर्व मुख्यमंत्रियों की भी नींव हिला दी और उन्हें इस बार करारी हार का सामना करना पड़ा है। इसमें से 8 पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस के हैं।
देशभर के अलग-अलग राज्यों के पूर्व मुख्यमंत्रियों को इस चुनाव में भारी नुकसान उठाना पड़ा है। इसमें दिल्ली से शीला दीक्षित, कर्नाटक से देवेगौड़ा, मध्यप्रदेश से दिग्विजय सिंह, महाराष्ट्र से अशोक चव्हाण और सुशील कुमार शिंदे को हार का मुंह देखना पड़ा है। इसके अलावा उत्तराखंड के हरीश रावत, मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा, हरियाणा के भूपेंद्र सिंह हुड्डा, वीरप्पा मोइली, जम्मू कश्मीर से महबूबा मुफ्ती, बाबूलाल मरांडी और शिबू सोरेन शामिल हैं।
उत्तर-पूर्वी दिल्ली से हारीं शीला दीक्षित
दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित को उत्तर-पूर्वी दिल्ली की सीट से 3.63 लाख के बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा है। उन्हें दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने हराया।
87 साल की उम्र में हारे एचडी देवेगौड़ा
कर्नाटक में सत्तारुढ़ गठबंधन के जेडीएस को बड़ा झटका तब लगा जब पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व प्रधानमंत्री के साथ ही कर्नाटक के सीएम रहे एचडी देवेगौड़ा को इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें तुमकुर लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी ने 13 हजार वोटों से हराया।
साध्वी प्रज्ञा से हारे दिग्विजय सिंह
मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट इस बार चुनाव में सबसे चर्चित सीटों में से एक बन गई थी। कांग्रेस ने इस सीट से जहां पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को उतारा था, वहीं भाजपा ने हिंदूवादी फायरब्रांड नेता साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिया था। चुनावी प्रचार के दौरान भारी खींचतान के बीच इस सीट से साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह को एकतरफा मात दी। साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह को 3.6 लाख वोटों से हराया। बता दें साध्वी प्रज्ञा मालेगांव ब्लास्ट के मामले में आरोपी हैं और फिलहाल जमानत पर हैं।
अशोक चव्हाण को नांदेड़, सुशील कुमार को सोलापुर से मिली हार
महाराष्ट्र में कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व मुख्यमंत्री रहे अशोक चव्हाण भी इस चुनाव में मोदी लहर में बह गए। उन्हें भाजपा के प्रतापराव चिखलीकर ने 40 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। वहीं सुशील कुमार शिंदे को भाजपा प्रत्याशी सिद्धेश्वर शिवाचार्य ने बड़े अंतर से मात दी।
पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती भी हारीं
पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को अनंतनाग लोकसभा सीट से हार का सामना करना पड़ा। उन्हें नेशनल कांफ्रेंस प्रत्याशी हसनैन मसूदी ने लगभग 10 हजार वोटों से हराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *