3 दिन पहले ही तय हुई थी बैंक पीओ की शादी, ट्रेन से उतरी और दूसरी की चपेट में आई, मौत

Sharing is caring!

भोपाल। राजधानी में रहने वाले एक परिवार की खुशियां तीन दिन में मातम में बदल गईं। परिवार की बेटी इटारसी के एसबीआई में पीओ (प्रोबेशनरी ऑफिसर) थी, जिसकी तीन दिन पहले शादी तय हुई थी, लेकिन सोमवार को ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। हादसा हबीबगंज रेलवे स्टेशन के आउटर पर उस समय हुआ जब वह ट्रेन से उतरकर जा रही थी, तभी दूसरे ट्रैक पर आ रही ट्रेन से टकरा गई।
बागसेवनिया पुलिस के अनुसार नर्मदा इन्क्लेव, अयोध्या नगर निवासी शिवाली प्रजापति (31) स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) में पीओ थी। उसकी पोस्टिंग इटारसी में थी। वह रोज ट्रेन से इटारसी-भोपाल अपडाउन करती थी। सोमवार रात को शिवाली उर्फ शिल्पी ट्रेन से भोपाल आ रही थी, तभी हबीबगंज रेलवे स्टेशन के आउटर पर ट्रेन अचानक रुक गई। शिवाली सड़क पर जाने के लिए ट्रेन से नीचे उतरी, तभी दूसरी ओर से अचानक ट्रेन आ गई। शिवाली संभल पाती, उससे पहले ही उसके शरीर का बायां हिस्सा ट्रेन से टकरा गया। इससे वह अंडरब्रिज के नीचे गिर गई। उसके सिर पर गंभीर चोट लगी। घायल हालत में उसे जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन कुछ घंटों के बाद मौत हो गई।
फोन से मिली मां को सूचना
ट्रेन में सफर करते समय शिवाली और उसके साथ काम करने वाले और भी लोग थे। उन्होंने तुरंत हादसे की सूचना उसकी मां को दी थी। मां ने अपने परिजनों को घटना के बारे में बताया और सभी लोग जेपी अस्पताल पहुंच गए। इधर, मंगलवार को एम्स में उसका पीएम होने के बाद परिजनों को शव सौंप दिया गया।
दो बहन और एक भाई में सबसे बड़ी थी शिवाली
शिवाली पढ़ाई-लिखाई में बचपन से मेधावी थी। उसके पिता मधुसुदन प्रजापति समाज सेवक हैं। शिवाली बड़ी थी, उसके बाद एक छोटी बहन और एक भाई है। शिवाली को सात साल पहले ही एसबीआई में नौकरी मिली थी और पांच महीने पहले उसकी पोस्टिंग इटारसी में हुई थी।
शादी की तैयारी कर रहा था परिवार
चाचा किशोर प्रजापति ने बताया कि परिवार वाले शिवाली की शादी करने की तैयारी कर रहा था। हैदराबाद में उसकी शादी की बात पक्की करने के बाद परिवार 18 मई की सुबह ही घर लौटा था।
सुभाष नगर में किया गया अंतिम संस्कार
शिवाली का परिवार समाज सेवा से जुड़ा हुआ है। उनके चाचा भी प्रजापति समाज के नेता हैं। मंगलवार दोपहर को शिवाली का अंतिम संस्कार सुभाष नगर विश्रामघाट में कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *