आयशर ट्रक-बोलेरो भिड़ंत में 6 की मौत, 1 घायल

बैतूल। सोमवार को दोपहर को उस समय नेशनल हाईवे 69 पर चीख पुकार मच गई जब एक आयशर ट्रक और बोलेरो जीप में भिड़ंत हो गई। इस भिड़ंत में जहां आधा दर्जन लोगों की मौत हो गई वहीं 1 बच्ची घायल हो गई है। इस भीषण सड़क दुर्घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक कार्तिकेयन के निर्देश पर डीएसपी और गंज थाना प्रभारी मोतीलाल कुशवाह के नेतृत्व में बैतूल कोतवाली, बैतूलबाजार और सांईखेड़ा का पुलिस बल मौके पर पहुंचा और शवों को उठाकर जिला अस्पताल पहुंचाने की कार्यवाही प्रारंभ की गई। दुर्घटना में दो पिता और दो पुत्रों की भी मौत हो गई है। जिला अस्पताल में तहसीलदार वैद्यनाथ वासनिक, एसडीओपी आनंद राय, कोतवाली टीआई सुनील लाटा भी अस्पताल पहुंचे और शवों को एम्बुलेंस से उतरवाया।
प्रभात पट्टन जा रहे थे पालक
जिला मुख्यालय से करीब 22 किलोमीटर दूर बैतूल-नागपुर फोरलेन हाईवे के पास स्थित मदानी ढाबे के सामने सोमवार को दोपहर करीब सवा 2 बजे आयशर ट्रक क्रं.एमएच 40 बीएल 2134 और बोलेरो जीप क्रं. एमपी 48 टीए 5814 में भीषण सड़क दुर्घटना हो गई। इस दुर्घटना में बोलेरो में सवार नवोदय विद्यालय बच्चों के विषय चयन करने के लिए जा रहे पालकों सहित दो बच्चों की भी मौत हो गई है। वहीं एक बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुई है। बच्चों का विषय चयन करने के लिए आदिवासी समाज के सभी पालकों द्वारा घोड़ाडोंगरी से जनपद सदस्य के वाहन से प्रभात पट्टन जा रहे थे तभी मदानी ढाबे के पास यह भीषण हादसा हो गया।
ओव्हरटेक करने से घटी घटना
बैतूल थाना प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी मोतीलाल कुशवाह ने बताया कि सोमवार को दोपहर करीब 1 बजे घोड़ाडोंगरी से बोलेरो वाहन में बैठकर 7 लोग नवोदय विद्यालय प्रभात पट्टन जा रहे थे। बोलेरो जीप के पीछे चल रहे आयशर ट्रक ने बोलेरो को फोरलेन हाईवे पर मदानी ढाबे के पास ओव्हरटेक किया और कुछ दूर जाकर बोलेरो जीप के सामने ही आड़ा हो गया जिसमें बोलेरो वाहन जाकर घुस गया। बोलेरो वाहन की आयशर वाहन से इतनी जबरदस्त टक्कर हुई थी कि मृतकों के शवों को बमुश्किल रस्सी से गाड़ी की बॉडी कहीं खींचकर तो कहीं काटकर निकाले गए। इतना वीभत्स मंजर देखा कि कहा नहीं जा सकता है।
6 की मौत 1 की हालत गंभीर
श्री कुशवाह ने बताया कि इस भीषण भिड़ंत में हुई दुर्घटना में वन रक्षक मनीराम उइके(42) निवासी हांडीपानी, चरण धुर्वे (45) फूलगोहान, रेखा पति सुखलाल धुर्वे (32) कान्हावाड़ी, दिलीप पिता सकल वरकड़े (16) फूलगोहान, सकल वरकड़े (38) फूलगोहान, आयुष पिता चरण (15) फूलगोहान की मौत हो गई। जबकि एकता पिता मनीराम उइके (16) निवासी हांडीपानी की हालत गंभीर बनी हुई है जिसे परिजनों ने नागपुर ले गए हैं। मृतकों में चरण धुर्वे एवं आयुष धुर्वे, सकल वरकड़े और दिलीप वरकड़े पिता-पुत्र हैं। वहीं एक मृतक मनीराम की बेटी एकता गंभीर रूप से घायल हैं। मृतिका रेखा धुर्वे भी अपनी पुत्री सीता धुर्वे के लिए विषय चयन करने जा रही थी। सीता के नागपुर में होने के कारण वह उनके साथ नहीं जा पाई और इस दर्दनाक हादसे से बच गई। मृतिका रेखा ग्राम पंचायत कान्हावाड़ा के सरपंच कमलेश परते की बहन है।
अस्पताल में लगा तांता
मृतकों में घोड़ाडोंगरी जनपद अध्यक्ष सुशीला धुर्वे के पति और फुलगोहन के सरपंच चरनलाल धुर्वे शामिल हैं। बोलेरो वाहन भी चरणलाल धुर्वे का ही है और वे स्वयं ही चला रहे थे। श्री धुर्वे पूर्व ससंसदीय सचिव रामजीलाल उइके एवं पूर्व विधायक गीता उइके के दामाद हैं। घटना की सूचना मिलते ही जिला अस्पताल के मरच्यूरी के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे, भाजपा के सांसद प्रत्याशी डीडी उइके, पूर्व संसदीय सचिव रामजीलाल उइके, जिला उपाध्यक्ष नरेश फाटे, राजेंद्र मालवीय, गम्फू पाठा सहित अन्य भाजपा नेता और घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत के सीईओ दानिश खान सहित अधिकत्तर कर्मचारी जिला अस्पताल पहुंचे थे।
आज होगा अंतिम संस्कार
मृतक और घायल सभी आदिवासी समुदाय के हैं। मृतकों के शवों को जिला अस्पताल लाया गया जहां पोस्टमार्टम के उपरांत परिजनों को सौंप दिए हैं। दुर्घटना इतनी हृदयविदारक थी कि बुलेरो सवार ड्राइवर दुर्घटना के बाद बुलेरो में ही फंसा रह गया। जिसका शव बड़ी मशक्कत के बाद भी वाहन से नही निकाला जा सका। घटना के बाद आयशर सवार ड्रायवर क्लीनर फरार हो गए है। पुलिस ने वाहन जप्त कर दोनों की तलाश शुरू कर दी है। सभी मृतकों का आज मंगलवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *