पत्नी की पिटाई करने का मामला: पूर्व डीजी पुरुषोत्तम ने आईपीएस एसोसिएशन और डीजीपी को सख्त लहजे में पत्र लिखा, बोले- थोड़ी-सी भी शर्म है तो मुख्यमंत्री को ज्ञापन दें

भोपाल। निलंबित डीजी पुरुषोत्तम शर्मा ने आईपीएस एसोसिएशन और डीजीपी को सख्त लहजे में पत्र लिखा है। कहा- कई सीनियर आईएएस और आईपीएस के आपत्तिजनक वीडियो आए, आज तक कुछ नहीं हुआ दावा- मेरे मामले में तो घरेलू विवाद है, उस पर कोई शिकायत तक नहीं, ऐसे में कार्रवाई ठीक नहीं मध्य प्रदेश में पत्नी की पिटाई मामले में निलंबित डीजी रैंक के अफसर पुरुषोत्तम शर्मा ने आईपीएस एसोसिएशन और डीजीपी को सख्त लहजे में पत्र लिखा। उन्होंने कहा कि थोड़ी-सी शर्म बची हो तो मुख्यमंत्री को ज्ञापन दें। अब तक कितने आईएएस और आईपीएस के आपत्तिजनक वीडियो आ चुके हैं, लेकिन आज तक कार्रवाई नहीं की गई। मैंने तो अपनी रक्षा में पत्नी का सामना किया। उन्होंने कहा कि मामले में जांच तक नहीं की गई है। मैंने समय पर जवाब दिया। उसके बाद तथ्यों को बिना जांचे सिर्फ फैसला कर दिया गया है। शर्मा ने कहा कि उन्होंने गृहमंत्री और मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा है। वीडियो में इस तरह शर्मा अपनी पत्नी पर हमला करते नजर आए थे।

फिर कहा पुरुष प्रताड़ना का मामला
पुरुषोत्तम ने गृह विभाग को भेजे जवाब में बताया था कि यह मामला उनको प्रताड़ित करने वाला है। यह न तो घरेलू हिंसा का केस है और न ही महिला उत्पीड़न का, बल्कि ये पुरुष प्रताड़ना का केस है। मैं फिर दोहराता हूं कि यह पुरुष प्रताड़ना का केस है। मेरी व्यवसायिक छवि को बिगड़ने की साजिश है। शर्मा का कहना है कि अब तक किसी अधिकारी पर कभी कोई कार्रवाई नहीं की गई। सिर्फ उन्हीं पर बिना किसी ठोस कारण के कार्रवाई कैसे की गई।

डीजी स्तर के अधिकारी पर इस तरह कार्रवाई सही नहीं
शर्मा ने दूसरे अफसरों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अब तक प्रदेश में एक दो नहीं, कई आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के वीडियो वायरल हुए हैं। कोई पैसे लेते हुए तो कोई किसी महिला के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा गया। लेकिन कभी कुछ नहीं हुआ। मेरा तो सिर्फ घर का विवाद है। वह भी कोई गंभीर नहीं है।

गृह विभाग ने जवाब संतोषजनक नहीं पाया
गृह विभाग ने निलंबन आदेश में लिखा कि 27 सितंबर को शर्मा का वीडियो वायरल हुआ। इस संबंध में 28 सितंबर को नोटिस जारी किया गया। उनका जवाब संतोषजनक नहीं पाया गया। ऐसे में उन्‍हें तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन के समय शर्मा पुलिस मुख्यालय में रहेंगे।

शिकायत कोई नहीं है, कार्रवाई कर दी
शर्मा ने कहा कि अब तक इस मामले में कोई शिकायत नहीं है। पत्नी पर हमला अपने बचाव में किया था। उसने भी कोई शिकायत नहीं की। बेटे ने वीडियो वायरल किया लेकिन वह भी अब शिकायत नहीं चाहता। ऐसे में सिर्फ मीडिया ट्रायल के नाम पर एक अधिकारी का निलंबन किया जा सकता है।

यह है मामला
मध्य प्रदेश पुलिस में डीजी रैंक के अफसर पुरुषोत्तम शर्मा ने 4 दिन पहले अपनी पत्नी प्रिया शर्मा के साथ मारपीट की थी। इस घटना से जुड़े दो वीडियो वायरल हुए थे। एक वीडियो में वे अपने घर में पत्नी के साथ मारपीट करते देखे जा रहे हैं। दूसरे वीडियो में शर्मा अपनी एक परिचित महिला के फ्लैट में बैठे हैं। यहां उनकी पत्नी पहुंचती हैं और शर्मा को लेकर सवाल शुरू कर देती हैं। मामले में पुरुषोत्तम के बेटे पार्थ गौतम ने यह वीडियो फुटेज गृह मंत्री, डीजीपी समेत बड़े अफसरों को भेजे। पार्थ खुद भी आईआरएस यानी इंडियन रेवेन्यू सर्विस में हैं। घटना के बाद पुरुषोत्तम को पहले से पद से हटाया गया। बाद में उनको सस्पेंड कर दिया गया। मामले में राज्य महिला आयोग ने भी नोटिस जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *