मध्‍यप्रदेश कांग्रेस का दावा शिवराज के भाई सहित कई लोगों का कर्ज हुआ माफ

भोपाल। किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर गरमाई सियासत में बुधवार को और तड़का लग गया। सोशल मीडिया में किसानों की कर्जमाफी की सूची में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृहग्राम जैत के लाभार्थी किसानों की सूची प्रमुखता से वायरल हुई। इसमें चौहान के भाई रोहित सिंह चौहान सहित अन्य रिश्तेदारों के नाम कर्जमाफी का ब्यौरा दिया गया।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ग्वालियर की सभा में इस मुद्दे को लेकर चौहान को घेरा। इसके साथ ही ताहर सिंह चौहान का एक वीडियो भी वायरल हुआ, जिसमें उन्होंने एक लाख 90 हजार रुपए कर्जमाफी होने की सूचना मिलने का दावा किया। इसको लेकर प्रदेश कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आरोपों पर पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि उन्हें दृष्टिदोष के साथ याददाश्त कमजोर हो गई है। पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने चौहान के निवास पहुंचकर स्टाफ को बादाम, च्यवनप्राश और आई ड्राप सौंपा।
जय किसान फसल ऋण मुक्ति योजना को मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में प्रमुख हथियार बनाया हुआ है। भाजपा नेता इसे किसानों से धोखाधड़ी बता रहे हैं और किसानों को बैंकों की ओर से दिए जा रहे वसूली के नोटिस का मुद्दा उठा रहे हैं। इसको लेकर कांग्रेस और सरकार के ऊपर लग रहे आरोपों के जवाब में प्रदेश कांग्रेस की चुनाव रणनीति समिति के अध्यक्ष सुरेश पचौरी ने प्रतिनिधिमंडल के साथ मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पहुंचे थे।
यहां उन्हें प्रदेशभर में हुई किसानों की कर्जमाफी की सूची सौंपी थी। इस पर पलटवार करते हुए शिवराज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का वीडियो दिखाया और आरोप लगाया कि जो सूची दी गई वो कृषि विभाग की है न कि बैंकों की। बुधवार को सोशल मीडिया पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृहग्राम जैत में कर्जमाफी से लाभांवित हुए किसानों की सूची वायरल हुई। इसमें चौहान के भाई रोहित सिंह चौहान के ऊपर चढ़े 14 हजार 571 रुपए के कर्जमाफी बताई गई।
साथ ही उनके अन्य रिश्तेदारों को मिली ऋणमाफी को भी बताया गया। इसको लेकर ताहर सिंह चौहान का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ। इसमें वे दावा कर रहे हैं कि उन्हें एक लाख 90 हजार रुपए का कर्ज माफ होने की सूचना दी गई है।
प्रदेश कांग्रेस ने बुधवार को इस मुद्दे को लेकर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घेराबंदी की। मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा, भूपेंद्र गुप्ता, जेपी धनोपिया, रवि सक्सेना सहित अन्य पदाधिकारियों ने उनके निवास पहुंचकर स्टाफ को बादाम, च्यवनप्राश और आई ड्राप भेंट किया।
सलूजा ने आरोप लगाया कि पूर्व मुख्यमंत्री को दृष्टि दोष हो गया है और याददाश्त में भी कमी आई है। यही वजह है कि वे प्रदेशवासियों को लगातार गुमराह कर रहे हैं। जबकि, उन्हें कर्जमाफी की पूरी सूची मुहैया करा दी गई है। भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने पलटवार करते हुए कहा कि इन सामग्रियों का सेवन अपने अध्यक्ष राहुल गांधी को कराते तो कांग्रेस को ये दुर्दिन देखने नहीं पड़ते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *