आज से शुरु होगी दिग्विजय की ‘भोपाल यात्रा’, 7000 संतों के शामिल होने का दावा

भोपाल। एक हफ्ते बाद भोपाल लोकसभा सीट पर वोटिंग होना है।इसके पहले वोटरों को साधने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह आज पांच मई से भोपाल यात्रा निकालने जा रहे है।जिसके तहत वे भोपाल लोकसभा में आने वाले विभिन्न क्षेत्रों में पद यात्रा करेंगे। इसमें ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्र शामिल होंगें। खास बात यह है कि इस यात्रा का मोर्चा शिवराज सरकार की नाक में दम करने वाले कम्प्यूटर बाबा ने संभाला हुआ है। पदयात्रा की जिम्मेदारी मंत्री पीसी शर्मा और जिला कांग्रेस को सौपी गई है।
इस यात्रा की शुरुआत आज शनिवार भोपाल मध्य सीट से हो रही है।यात्रा राजधानी की सात विधानसभाओं होकर गुजरेगी। इस यात्रा में भाजपा के कब्जे की तीन विधानसभाओं पर फोकस किया जाएगा। इसमें गोविंदपुरा, नरेला और हुजूर विधानसभा शामिल है।इसमें कांग्रेस के कई बड़े नेता भी शामिल रहेंगें।पदयात्रा की जिम्मेदारी मंत्री पीसी शर्मा और जिला कांग्रेस को सौपी गई है। दिग्विजय सिंह सुबह 9 बजे से दोपहर 12 तक और शाम 5 बजे से रात 8 बजे तक पदयात्रा करेंगे। पदयात्रा का रोडमैप भी उन बूथों के आधार पर तैयार किया जा रहा है जहां कांग्रेस की स्थिति कमजोर रही है। इन बूथों में दिग्विजय सिंह घर-घर पहुंचकर लोगों से मुलाकात करेंगे।
आज इन क्षेत्रों से होकर गुजरेगी यात्रा
दिग्विजय सिंह बुधवारा, इस्लामपुरा, छावनी, जिंसी, होता हुआ स्टेट बैंक कॉलोनी पर जाकर ख़त्म होगा। इससे पहले शुक्रवार को दिग्विजय सिंह ने पुराने भोपाल इलाके में जनसंपर्क किया था। वो इमामीगेट, नूरमहल, मरघटिया घाट, इस्लामी दरवाज़ा, जेपी नगर, क़ाज़ी कैम्प, शीतला माता चौराहा होते हुए होली चौराहा तक गए थे।
कम्प्यूटर बाबा ने संभालेंगें मोर्चा
दिग्विजय सिंह के समर्थन में कम्प्यूटर बाबा भी आज से मोर्चा संभाल रहे हैं। वो दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करेंगे। उनके अलावा बड़ी संख्या में संत समाज दिग्विजय सिंह के समर्थन में भोपाल आ रहा है।मोदी सरकार की धर्म विरोधी नीतियों और दिग्विजय सिंह के प्रचार के लिए संत यहां रैली निकालने वाले हैं। दावा किया जा रहा है कि उसमें 7000 संत शामिल होंगे।
गौरतलब है कि कांग्रेस ने बीजेपी के गढ़ भोपाल को भेदने के लिए वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को उम्मीदवार बनााया है। वही बीजेपी ने दिग्विजय की काट हिन्दू छवि वाली साध्वी प्रज्ञा को मैदान में उतारा है। साध्वी से दिग्विजय को कडी चुनौती मिल रही है। ऐसे में दिग्विजय ने भोपाल लोकसभा सीट के वोटरों को साधने के लिए यात्रा निकालने का प्लान बनाया है। सुत्रों की माने तो इस यात्रा का शत-प्रतिशत फायदा दिग्विजय को मिलना तय है। क्योंकि इन दिनो साध्वी प्रज्ञा के बयानों और लगातार विवादों में रहने से जनता के बीच एक गलत मैसेज गया है।हालांकि बीजेपी लगातार संतों को आगे कर डैमेज कंट्रोल मे जुटी हुई है। लोगों में शहीद हेमंत करकरे को लेकर अब भी नाराजगी है, जिसका दिग्विजय लाभ लेने में सहायक होंगें।वही दिग्विजय इस यात्रा में नर्मदा यात्रा का भी मुद्दा भुना सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *