2 करोड़ से ज्यादा टैक्स देंगे रामलला, सितंबर में ही नींव का काम होगा शुरू!

अयोध्या। भव्य और दिव्य राम मंदिर के साथ ही बाकी स्थानों पर होने वाले निर्माण को विकास प्राधिकरण की मंजूरी मिल गई है। ट्रस्ट की ओर से विकास प्राधिकरण में दाखिल किए गए मानचित्र पर विकास प्राधिकरण ने बोर्ड की बैठक में स्वीकृति दे दी है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से 2 करोड़ 11 लाख से ज्यादा का टैक्स दिया जाएगा।
विकास प्राधिकरण ने बोर्ड की बैठक में 2 लाख 74 हजार स्क्वॉयर फीट ओपन एरिया और 12 हजार 879 स्क्वॉयर फीट एरिया का नक्शा पास कर दिया है। इसी के साथ ही राम मंदिर निर्माण पर धार्मिक संस्थाओं के निर्माण में अधिनियम 1961 (80 G) के तहत विकास शुल्क का 65 प्रतिशत छूट का भी प्राविधान दिया गया है।
अयोध्या विकास प्राधिकरण की ओर से राम मंदिर के निर्माण और दूसरे निर्माण के मानचित्र पर स्वीकृति मिलने के बाद राम मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से शुरू होने की उम्मीद है। सूत्रों की मानें तो सितंबर के दूसरे सप्ताह से राम मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद खोदने का काम शुरू हो सकता है। निर्माण कार्य में उपयोग होने वाली लगभग सारी मशीन परिसर के अंदर आ चुकी है।
बता दें कि परिसर में अंदर उन प्राचीन मंदिरों को गिराया जा रहा है, जो जर्जर अवस्था में हैं या फिर खंडहर हो चुके हैं। राम मंदिर निर्माण को लेकर ट्रस्ट ने लगभग अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता का कहना है कि राम मंदिर की बुनियाद लगभग 200 फीट गहरी होगी और इसके लिए कई तरह की मशीनों का उपयोग किया जाएगा। इनमें से अधिकतर मशीनें परिसर में पहुंच चुकी हैं। अन्य मशीनें भी जल्द ही पहुंच जाएंगी।
उन्होंने बताया कि राम मंदिर निर्माण का कार्य करने वाली एजेंसी एल ऐंड टी के काफी कर्मचारी और श्रमिक पहले से यहां मौजूद हैं, बुनियाद का काम शुरू होने के साथ ही आवश्यकता पड़ने पर मजदूरों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रही चहलकदमी से यह उम्मीद जतायी जा रही है कि मंदिर की नींव का काम सितंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *