राहुल गांधी का दावा- हार रही है भाजपा, मोदी को दी चुनौती करें ऐसी प्रेस वार्ता

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे आगे बढ़ता जा रहा है, इसकी गर्मी भी बढ़ रही है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता कर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का आकलन है कि इस चुनाव में भाजपा हारने जा रही है। चार चरणों के बाद मोदी की हार तय है।
राहुल ने सर्जिकल स्ट्राइक पर मोदी के बयान का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह सेना का काम है, सेना अपना काम कर रही है। सेना, वायु सेना या नौसेना नरेंद्र मोदी जी की निजी संपत्ति नहीं है, जैसा वह सोचते हैं। जब वह कहते हैं कि यूपीए के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो गेम में की गई थी, तो वह कांग्रेस का नहीं, बल्कि सेना का अपमान कर रहे थे।
कांग्रेस की न्याय योजना मोदी की नोटबंदी योजना का जवाब है। उन्होंने कहा कि 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हुई है। उन्होंने कहा कि कहीं भी चौकीदार बोलिए, जवाब मिलेगा- चोर है।
राहुल गांधी ने कहा कि अभी सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है। मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को नष्ट कर दिया है। देश पूछ रहा है कि मोदी जी आपने हमसे 2 करोड़ रोजगार का वादा किया था, उसका क्या हुआ? वह नौकरियों या किसानों के बारे में एक भी शब्द नहीं बोलते, क्योंकि उनके पास कहने के लिए कुछ नहीं है।
सुप्रीम कोर्ट में मांफी पर यह बोले राहुल
राफेल मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मांगी गई मांफी पर भी राहुल गांधी ने जवाब दिया कि हां मैंने मांफी मांगी। मगर, इसलिए क्योंकि यह मामला कोर्ट में चल रहा है और मैं इस प्रक्रिया में बोल नहीं सकता था। मुझे अपनी गलती का अहसास हुआ और हमने उसे मान लिया। मगर, मैंने पीएम मोदी या भाजपा से मांफी नहीं मांगी है।
राहुल गांधी ने कहा कि राफेल मामले में पीएम ने 30 हजार करोड़ रुपए चोरी किए हैं। कांग्रेस के पास मोदी सरकार के कई और घोटालों की जानकारी है। कांग्रेस पार्टी ने नरेंद्र मोदी को ध्वस्त कर दिया है। सरकार के 2-3 और घोटालों का खुलासा करना है।
उन्होंने चुनाव आयोग पर भी सवाल उठाए। चुनाव आयोग विपक्ष के साथ पक्ष-पात करता है। मोदी-शाह के लिए आयोग की नीति अगल है। मोदी सरकार ने संवैधानिक संस्थाओं पर हमला किया गया है।
कहा कि भ्रष्टाचार, बेरोजगारी पर मोदीजी 10 मिनट बात करें। वह चर्चा से भाग रहे हैं। पीएम मोदी पर जब दबाव पड़ने लगता है, तो वह भाग जाते हैं। उन्होंने आखिरी में कहा कि मैं पीएम मोदी को चुनौती देता हूं कि वह भी आएं और इस तरह की प्रेस वार्ता करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *