एडीजी एसटीएफ माहेश्वरी नए एसआईटी चीफ, स्पेशल डीजी रिटायर

  • पुलिस मुख्यालय ने एडीजी संजीव शमी को एसआईटी की कमान सौंपी थी
  • एडीजी विपिन माहेश्वरी 1990 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं

भोपाल। हनी ट्रैप मामले की जांच के लिए बनी एसआईटी के चीफ एवं स्पेशल डीजी सायबर सेल राजेंद्र कुमार सोमवार को रिटायर हो गए। सरकार ने एडीजी एसटीएफ विपिन माहेश्वरी को एसआईटी का नया चीफ बनाया है। इस संबंध में गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिए हैं। एडीजी विपिन माहेश्वरी 1990 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। जबकि एसआईटी के सदस्य मिलिंद कानस्कर एडीजी माहेश्वरी से एक बैच सीनियर हैं।

ऐसे में सरकार द्वारा एडीजी माहेश्वरी के नेतृत्व में एसआईटी के सदस्यों को भी बदल सकती है। इंदौर के पलासिया थाने में सितंबर 2019 को इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह की शिकायत पर श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वप्निल जैन, आरती दलाल आदि के खिलाफ ब्लैकमेलिंग और मानव तस्करी के मामले दर्ज किए गए थे। मामले की जांच के लिए पुलिस मुख्यालय ने एसआईटी का गठन कर आईजी डी. श्रीनिवास वर्मा को उसका चीफ बनाया था, लेकिन 24 घंटे के अंदर ही पुलिस मुख्यालय ने एडीजी संजीव शमी को एसआईटी की कमान सौंपी थी। एडीजी शमी इसकी जांच कर रहे थे, इस बीच सरकार ने एसआईटी भंग कर स्पेशल डीजी सायबर सेल राजेंद्र कुमार के नेतृत्व में नई एसआईटी का गठन किया था। जिसमें स्पेशल डीजी राजेंद्र कुमार के साथ एडीजी सायबर सेल मिलिंद कानस्कर और तत्कालीन डीआईजी इंदौर रुचि वर्धन मिश्र को सदस्य बनाया था। एसआईटी हनी ट्रैप मामले में कोर्ट में चालान पेश कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *