प्रियंका गांधी इंदौर में कर सकती हैं रोड शो

इंदौर। लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए सुरक्षित मानी जाने वाली इंदौर सीट पर इस बार लड़ाई कांटे की होती नजर आ रही है। कांग्रेस ने बाजी पलटने के लिए पार्टी के बड़े नेताओं का साथ भी मांगा है। शहर कांग्रेस ने पार्टी मुख्यालय से मांग की है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ महासचिव प्रियंका गांधी को भी प्रचार के लिए भेजा जाए। कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में दोनों में से कोई एक सभा तो दूसरा रोड शो करे। शहर में कांग्रेस उम्मीदवार के लिए प्रदेश के तीन मंत्री प्रचार अभियान की कमान संभाल रहे हैं। सज्जनसिंह वर्मा, तुलसी सिलावट और जीतू पटवारी लगातार उम्मीदवार पंकज संघवी के लिए प्रचार में जुटे हैं।
चुनाव नजदीक आते ही पार्टी ने इंदौर सीट के लिए प्रचार में तेजी लाते हुए बड़े नेताओं को भेजने की मांग रखी है। अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने पुष्टि करते हुए कहा कि हमने राहुल गांधी और प्रियंका के साथ ही प्रदेश के अन्य बड़े नेताओं को भी प्रचार के लिए इंदौर भेजने की मांग रखी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत प्रदेश के नेता तो इंदौर लोकसभा क्षेत्र में आएंगे ही। अभी राहुल और प्रियंका के चुनावी दौरे को लेकर अनुमति नहीं मिली है। बाकलीवाल के मुताबिक 10 मई के आसपास ही दोनों नेताओं के दौरे की तारीख तय होने की जानकारी मिलेगी।
आखिर दौर में जमावड़ा
इंदौर में सबसे अंतिम और सातवें दौर 19 मई को मतदान होना है। जबलपुर में मतदान हो चुका है। भोपाल, ग्वालियर समेत प्रदेश की ज्यादातर सीटों पर मतदान इसके पहले ही 12 मई तक संपन्न् हो जाएगा। ऐसे में मालवा-निमाड़ में आखिरी दौर में रखी गई सीटों पर ही दोनों पार्टियों का जोर रहेगा। कांग्रेस इंदौर जैसी बड़ी सीट पर बाजी पलटने में पूरा जोर लगा रही है। ऐसे में सभी बड़े नेताओं का इंदौर आना लगभग तय माना जा रहा है। भाजपा प्रधानमंत्री मोदी को इंदौर लाने के लिए आश्वस्त है। कांग्रेस को उम्मीद है कि राहुल गांधी तो इंदौर आ ही रहे हैं, प्रियंका गांधी का दौरा भी तय हो जाए। प्रियंका इससे पहले उज्जैन और मंदसौर के लिए सहमति दे चुकी हैं। मुख्यालय दोनों में से सिर्फ एक नेता की रैली ही करवाने के पक्ष में है लेकिन इंदौर के नेता दोनों को भेजने पर अड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *