स्टूडेंट को मास्क भी देंगे: जेईई के परीक्षा केंद्र में, कॉन्टैक्ट, ट्रेवल हिस्ट्री बताने पर ही देंगे प्रवेश

  • सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए एनटीए ने प्रवेश पत्र के साथ एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भी उपलब्ध करवाया है
  • प्रतिभागियों को सर्दी, खांसी, बुखार सहित कोरोना के किसी भी लक्षण की जानकारी देना होगी

भोपाल। संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) 1 से 6 सितंबर तक होगी। इसमें शामिल होने वाले प्रतिभागियों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा कड़े प्रबंध किए जा रहे हैं। परीक्षा के पहले और बाद में हॉल सैनिटाइज किया जाएगा। तापमान जांचने के अलावा दो सीटों के बीच दूरी, हैंड सैनिटाइजर, प्रत्येक प्रतिभागी के लिए मास्क भी एग्जाम हाॅल में उपलब्ध करवाए जाएंगे।

सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए एनटीए ने प्रवेश पत्र के साथ एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भी उपलब्ध करवाया है। हॉल में प्रवेश के वक्त हर प्रतिभागी को यह अंडरटेकिंग देना जरूरी होगा। प्रतिभागियों को सर्दी, खांसी, बुखार सहित कोरोना के किसी भी लक्षण की जानकारी देना होगी। पिछले 14 दिनों में किसी कोरोना संक्रमित से संपर्क और यात्रा की जानकारी भी उपलब्ध करवाना होगी। एक्सपर्ट विजित जैन ने बताया कोरोना संक्रमित छात्र किसी भी स्थिति में परीक्षा नहीं दे सकेंगे। सभी छात्रों को कोरोना लक्षण संबंधी जानकारी देना जरूरी है। कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं करने वालों को ही प्रवेश देंगे।

टेबल-कुर्सी, की-बोर्ड, माउस भी होंगे सैनिटाइज
परीक्षा के हर स्लॉट के पहले और बाद में सेंटर पर हॉल के साथ छात्रों की टेबल-कुर्सी के साथ की-बोर्ड, माउस, वेबकेम सहित अन्य चीजें सैनिटाइज की जाएगी। हालांकि एनटीए ने छात्रों को 50 एमएल सैनिटाइजर साथ लाने के लिए कहा है। पूरी प्रक्रिया को टच फ्री बनाने का प्रयास भी एनटीए कर रहा है। एडमिट कार्ड, आई कार्ड, पारदर्शी बॉल पेन, पानी की बोतल ले जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *