धर्मनगरी में सियासी घमासान की तैयारी

Sharing is caring!

उज्जैन। मध्यप्रदेश की धर्मधानी के रूप में ख्यात उज्जयिनी में इन दिनों राजनीतिक गतिविधियां जोर पकड़ चुकी हैं। मतदान के दिन करीब आते ही दोनों प्रमुख राजनीतिक दल अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। प्रचार प्रसार जोर पकड़ रहा है और कांग्रेस-भाजपा दोनों के आला नेताओं के उज्जैन आने की सुगबुगाहट है। कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी का आना तय हो चुका है। वहीं भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आने की संभावना है। दोनों दलों के स्थानीय नुमाइंदों का मानना है कि आला नेताओं के आने से उनके पक्ष में माहौल बनेगा। बीते साल हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा की ओर से अमित शाह और राहुल गांधी उज्जैन आए थे। दोनों ने महाकाल मंदिर में दर्शन कर प्रचार प्रसार किया था।
कांग्रेस नेताओं का मानना है कि राहुल के आने से जिले में पार्टी को फायदा हुआ और सात में चार सीटों पर जीत मिली। इसलिए कार्यकर्ता चाहते हैं कि अब प्रियंका गांधी उज्जैन आएं। बीते दिनों संभागीय समन्वयक से स्थानीय वरिष्ठ नेताओं की बैठक में इसे लेकर चर्चा हुई। दिल्ली में स्टार प्रचारकों का दौरा-कार्यक्रम तय करने वाले पदाधिकारियों से भी बात हुई। तय हुआ कि उज्जैन में प्रियंका गांधी को रोड शो हो। नेताओं के अनुसार प्रियंका 10 से लेकर 14 तारीख के बीच उज्जैन आएंगी। महाकाल दर्शन के बाद रोड शो प्रस्तावित है। उनके साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ भी होंगे।
मोदी की सभा भी!
अंतिम चरण के मतदान से पूर्व उज्जैन संभाग में पीएम नरेंद्र मोदी की सभा प्रस्तावित है। मगर संभाग के किस जिले में मोदी की सभा होगी, यह भी तय नहीं हुआ है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबसे ज्यादा नुकसान उज्जैन-आलोट लोकसभा सीट पर ही हुआ था। यहां आठ में पांच विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस के विधायक हैं। इसलिए इस बात की पूरी संभावना है कि नरेंद्र मोदी उज्जैन में चुनावी सभा में शामिल हों। पार्टी की ओर ये योगी आदित्यनाथ आदि के आने भी संभावना है। भाजपा नेताओं का कहना है कि स्टार प्रचारकों के दौरे-कार्यक्रम एक दो दिन में तय हो जाएंगे।
इंदिरा-राजीव ने भी किया था प्रचार
उज्जैन में नेहरू-गांधी परिवार प्रचारप्रसार के लिए आता रहा है। 1980 में इंदिरा गांधी चुनाव प्रचार के लिए आई थीं। इसके बाद राजीव गांधी और फिर 2009 में उज्जैन में ही सोनिया गांधी भी चुनाव प्रचार के लिए आ चुकी हैं। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू भी उज्जैन आ चुके हैं। हालांकि उन्होंने एक गैर राजनीतिक कार्यक्रम में शिरकत की थी।

Hits: 15

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *