भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, मंत्री रामखेलावन भी संक्रमित

  • विमान में लखनऊ गए चारों नेता पॉजिटिव, मंत्री भदौरिया के संपर्क में आए थे सीएम, वीडी और सुहास
  • अब तक सीएम सहित 4 मंत्री और छह विधायक कोरोना की चपेट में, संख्या और बढ़ सकती है

भोपाल। राजधानी में बुधवार को 246 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। यह आंकड़ा प्रदेश में अब तक का सबसे ज्यादा है। इससे पहले 16 अप्रैल को इंदौर में 244 मरीज मिले थे। भोपाल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 6398 हो गई है। सबसे ज्यादा 14 मरीज शाहजहांनाबाद इलाके में मिले। अरेरा कॉलोनी, नरेला शंकरी और सईद नगर में 7-7 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सईद नगर के सभी मरीज एक ही परिवार के हैं, वहीं अरेरा कॉलोनी के पांच मरीज भी एक ही परिवार के हैं
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद वीडी शर्मा की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मंगलवार मध्यरात्रि बाद उन्हें हल्का बुखार आया। सुबह सैंपल दिया, शाम को रिपोर्ट में संक्रमण मिले। वे चिरायु में भर्ती हैं। इसके अलावा मंत्री रामखेलावन पटेल और मुख्यमंत्री सचिवालय के अपर सचिव व आईएएस अधिकारी ओपी श्रीवास्तव भी पॉजिटिव हुए हैं। रामखेलावन चौथे मंत्री हैं, जो पॉजिटिव हैं। इससे पहले मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा (मंत्री बनने से पहले ही पॉजिटिव हुए), अरविंद भदौरिया और तुलसी सिलावट संक्रमित हो चुके हैं। वीडी शर्मा के पॉजिटिव आने के बाद अब वे चारों कोविड संक्रमित हो गए हैं, जो राज्यपाल रहे लालजी टंडन के निधन पर लखनऊ एक ही विमान से गए थे। बाकी तीन में मुख्यमंत्री शिवराज, संगठन महामंत्री सुहास भगत और मंत्री अरविंद भदौरिया शामिल हैं।
भाजपा अध्यक्ष की अपील- जो भोपाल आए थे, जांच करा लें
प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पार्टी नेताओं, विधायकों व कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे पिछले दिनों में भोपाल पार्टी दफ्तर पहुंचे हैं, मुझसे मिले हैं या किसी कार्यक्रम में शामिल हुए, वे जांच कराने के बाद ही जनता के बीच जाएं। इधर, हैरान करने वाला तथ्य है कि मुख्यमंत्री सचिवालय से लेकर भाजपा के दफ्तर, मंत्री-विधायकों में कोरोना वायरस मिलने लगे हैं। इसके पीछे पिछले दो महीनें रही भाजपा की सक्रियता भी बड़ा कारण बनकर सामने आया है। सीएम सचिवालय में अपर सचिव श्रीवास्तव के प्यून, सीएमओ में पदस्थ आईजी मकरंद देउस्कर के दो स्टेनो, प्रोग्राम ऑफिसर और मुख्य सचिव के डिप्टी सैक्रेटरी अरविंद दुबे भी पॉजिटिव हैं। साफ है कि सीएमओ में नेताओं की सक्रियता ने असर दिखाया। इसके बाद भाजपा दफ्तर में एकत्रित हुई भीड़ और मेल-मुलाकातों के बाद विधायक और मंत्री पॉजिटिव होने लगे। 9 विधायक पॉजिटिव हो चुके हैं। इसके बाद भी वे जनता के बीच सक्रिय हैं। मंगलवार को जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट पॉजिटिव आए। वे उपचुनाव के मद्देनजर अपने सांवेर विधानसभा क्षेत्र में खासे सक्रिय रहे।

किसी को भी फर्स्ट कांट्रेक्ट की जानकारी नहीं

  • पॉजिटिव हुए नेताओं से बातचीत में चौंकाने वाला तथ्य है कि किसी को भी फर्स्ट कांट्रेक्ट की जानकारी नहीं हैं। वे नहीं बता पा रहे कि उन्हें कोरोना किससे हुए और पॉजिटिव होने से पहले के 3-4 दिनों में वे किससे मिले। स्पष्ट है कि वे सुपर स्प्रेडर बनकर घूम रहे हैं।
  • मुख्यमंत्री, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री को पता है कि वे मंत्री भदौरिया के साथ रहे, इसलिए संक्रमित हैं। भदौरिया को नहीं पता कि उनमें संक्रमण कहां से आया। वे बताते हैं कि 18 जुलाई को भिंड में कार्यकर्ताओं के स्वागत में रहे। वहीं हुआ होगा।
  • मुख्यमंत्री के अपर सचिव श्रीवास्तव का भी कहना है कि उन्हें यह जानकारी नहीं कि किससे हुआ। हालांकि वे यह कह रहे हैं कि सीएमओ में काफी लोग आते-जाते हैं। किससे हुआ, कैसे बताएं। मुख्य सचिव के डिप्टी सैक्रेटरी अरविंद दुबे को भी फर्स्ट कांट्रेक्ट के बारे में कोई खबर नहीं। मंत्रियों के स्टॉफ पॉजिटिव निकल रहे हैं और उन्हें भी संक्रमण किससे मिला, पता नहीं।

सांसद नंदकुमार, पूर्व विधायक पटेल क्वारेंटाइन
मुख्यमंत्री के संपर्क में आए सांसद नंदकुमारसिंह चौहान एवं मांधाता के पूर्व विधायक नारायण पटेल ने अपने आपको क्वारेंटाइन कर लिया है। ये दोनों भोपाल में हैं। बड़वानी में कैबिनेट मंत्री प्रेमसिंह पटेल, सांसद गजेंद्र पटेल और पूर्व मंत्री अंतरसिंह आर्य भी सीएम के संपर्क में आए थे। तीनों की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। खरगौन सांसद गजेंद्र पटेल सीएम और अरविंद भदौरिया से मिले थे। उनके व उनके स्टाफ की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बुरहानपुर भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे सीएम से मिले थे। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

कोरोना (जन) प्रतिनिधि… जनता इनसे क्या सीख लेगी?

भदौरिया : मंत्री बनने के उत्साह में सावधानी भूले

अरविंद भदौरिया मंत्री बनने के बाद 18 जुलाई को भिंड पहुंचे थे। ग्वालियर से भिंड तक उनका 100 से ज्यादा स्थानों स्वागत हुआ था।

सिलावट: जनसंपर्क पर ध्यान, जनता का नहीं

तुलसीराम सिलावट ने मुख्यमंत्री के पाॅजिटिव आने के बाद सांवेर के 10 से ज्यादा गांवाें में जनसंपर्क किया। इस दाैरान हजाराें लाेगाें से मिले।

बिना मास्क… ये कैसी सौजन्य मुलाकात?

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा बुधवार को बिना मास्क के नजर आए। उनका कहना है कि यह सौजन्य मुलाकात थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *