उमा-प्रज्ञा मुलाकात के पीछे ये नेता, संघ ने दी उमा को ऐसी समझाइश

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की समझाइश के बाद दो दिन में भोपाल की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह के प्रति भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती के सुर बदल गए। उमा भारती ने दो दिन पहले साध्वी प्रज्ञा को महान संत और खुद को मूर्ख बताया था। उनके इस बयान के राजनीतिक हलको में तरह-तरह के अर्थ निकाले जा रहे थे।
इस एपिसोड के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के राष्ट्रीय संगठन मंत्री रहे राजकुमार भाटिया अचानक भोपाल पहुंचे। उन्होंने उमा भारती व साध्वी प्रज्ञा से मुलाकात की और दोनों के बीच मुलाकात कराई। भाटिया एबीवीपी के बड़े नेता रहे हैं, जिनके नेतृत्व में शिवराज सिंह चौहान, धर्मेंद्र प्रधान और जेपी नड्डा जैसे दिग्गज नेताओं ने काम किया है।
जुटेंगे संघ और एबीवीपी के नेता
भोपाल में एबीवीपी नेता राजकुमार भाटिया ने भाजपा नेताओं से इस बात की चर्चा भी की कि एबीवीपी और संघ के नेताओं को कहां-कहां तैनात करना है और उनका क्या उपयोग करना है। गौरतलब है कि सोमवार को हुए मतदान के बाद भारी संख्या में संघ और एबीवीपी के कार्यकर्ता भोपाल आ रहे हैं। लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह से भी उन्होंने इस बारे में बातचीत की है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ कार्यकर्ताओं की तैनाती पर भी भाटिया ने बातचीत की।
संघ खुश हीं था
सूत्रों के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती द्वारा साध्वी प्रज्ञा सिंह को लेकर दिए बयान पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ खुश नहीं था। इसके बाद ही उमा और प्रज्ञा के बीच सोमवार को डेढ़ घंटे की मुलाकात हुई। अब उमा भोपाल में भाजपा के पक्ष में प्रचार भी करेंगी। सूत्रों ने बताया कि दोनों के बीच चर्चा में उमा भारती ने उन पलों को याद किया, जब साध्वी प्रज्ञा सिंह जेल में थी और वे उनसे मिलने गई थीं। भारती ने कहा कि एटीएस के एक अधिकारी ने उनसे मुलाकात कर बताया था कि साध्वी प्रज्ञा को किस तरह प्रताड़ित किया गया था, उसके बाद ही उमा भारती जेल में प्रज्ञा से मिली थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *