राफेल फाइटर जेट की उड़ान से हरदा के ‘लल्लू सर’ के पोते का कनेक्शन

हरदा. फ्रांस से 7 हजार किलोमीटर का सफर तय कर 5 राफेल फाइटर जेट 29 जुलाई को भारत पहुंच रहे हैं. पूरे देश को उस पल का इंतज़ार है जब ये लड़ाकू विमान देश की धरती पर उतरेंगे और भारतीय वायु सेना के बेड़े में शामिल होंगे. इन फाइटर जेट्स को अंबाला एयरबेस में रखने की तैयारी है. राफेल के स्वागत के लिए अभी से अंबाला एयरबेस को तैयार किया जा रहा है. लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि राफेल की इस उड़ान से मध्य प्रदेश के हरदा का भी जुड़ा हुआ है. राफेल विमानों ने जब भारत के लिए फ्रांस से उड़ान भरी तो उस वक्त हरदा के नमन उपाध्याय भी एयरबेस पर मौजूद थे. नमन भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी हैं और इस वक्त फ्रांस स्थित भारतीय दूतावास में सेकेंड सेक्रेट्री के पद पर तैनात हैं.

हरदा के लिए एक बार फिर गौरव का पल आया. लड़ाकू विमान राफेल के फ़्रांस से भारत रवाना होने के गौरवमयी पल के गवाह बने हरदा के नमन उपाध्याय. यहां के उपाध्याय परिवार के बेटे नमन उपाध्याय भारतीय विदेश सेवा के 2016 के अधिकारी हैं.वर्तमान में वो फ़्रांस के भारतीय दूतावास में सेकेंड सेकेट्री के पद पर पदस्थ हैं. नमन 2019 में राफेल सौंपने के वक्त भी मौजूद थे जब भारत के रक्षामंत्री राजनाथसिंह फ़्रांस गए थे.

फ्रांस में हैं नमन
नमन आईएफएस अधिकारी के रूप में देशसेवा कर रहे हैं. जब 5 राफेल विमानों ने फ़्रांस से भारतीय एयरबेस के लिए उड़ान भरी उस वक्त नमन भी तस्वीरो में दिखाई दिए. राफेल विमान को लेकर आ रहे गोल्डन रोज कमांडिंग ऑफिसर पायलट के साथ फ़्रांस के एयरबेस पर ली गयी तस्वीरों में नमन मौजूद हैं. 

लल्लू सर के पोते

हरदा निवासी उपाध्याय परिवार के सदस्य नरेंद्र उपाध्याय से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय विदेश सेवा में चयनित होने के बाद से नमन फ़्रांस में भारत के दूतावास में सेकेंड सेकेट्री के पद पर पदस्थ हैं. वो हरदा के उन दिवंगत शिक्षक बृजमोहन उपाध्याय के पोते हैं जिन्हें पूरा शहर लल्लू सर के नाम से जानता है. नमन के पिता नर्मदा प्रसाद उपाध्याय प्रदेश वाणिज्य कर विभाग में डायरेक्टर रह चुके हैं. 35 सदस्यों के इस परिवार के अधिकांश सदस्य प्रशासनिक सेवा के बड़े पदों पर पदस्थ हैं. पूरे परिवार को नमन की उपलब्धियो पर गर्व है. आज सभी सदस्य खुश है की परिवार का बेटा देश के लिए महत्वपूर्ण क्षण का गवाह बना.

UPSC में थी 106 रेंक
नमन उपाध्याय ने 2016 की UPSC परीक्षा में 106 रेंक हासिल की थी.चयन होने के बाद वो भारतीय विदेश सेवा में गए.

दादा की सीख का पोते पर असर
नमन के काका नरेंद्र उपाध्याय ने न्यूज़ 18 को बताया कि उनके उनके पिता स्व बृजमोहन उपाध्याय हरदा में चार दशकों तक शिक्षक रहे. वो अपने शिष्यों से एक ही बात कहते थे कि जिसमें रुचि हो वो करो. नरेंद्र उपाध्याय आगे बताते हैं कि उनके पिता नमन से हमेशा कहते थे कि तुम्हें अपने पिता से भी एक कदम आगे जाना है. नमन के भाई निहित उपाध्याय इंदौर में पुलिस विभाग में उप पुलिस अधीक्षक हैं. वो वर्तमान में परदेशीपुरा थाना क्षेत्र के सीएसपी हैं.

राफेल डील
साल 2016 में भारत और फ्रांस के बीच हुए 36 राफेल फाइटर जेट के करार के बाद 5 राफेल अब बुधवार को भारत की जमीन पर उतरने वाले हैं.10 एयरक्राफ्ट तयशुदा समय के हिसाब से तैयार हैं, जिनमें से 5 एयरक्रफ्ट को ट्रेनिंग के लिए फ्रांस में ही रखा गया है, जबकि 5 राफेल को भारत भेजा जा रहा है. भारत पहुंच रहे इन 5 विमानों में दो ट्रेनर एयरक्राफ्ट हैं और तीन लड़ाकू विमान हैं. 2021 के अंत तक सभी 36 राफेल की डिलीवरी हो जाएगी.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *