वन मंत्री विजय शाह को हाईकोर्ट से राहत, निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका खारिज

जबलपुर. हरसूद विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक और प्रदेश में वन मंत्री विजय शाह को हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है.शाह के खिलाफ दायर की गई चुनाव याचिका हाईकोर्ट ने निराधार पाते हुए खारिज कर दी है.उनके खिलाफ गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रत्याशी ने ये याचिका दायर कर शाह के निर्वाचन को चुनौती दी थी.
हरसूद विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राधेश्याम दरसीमा शाह के खिलाफ मैदान में उतरे थे. कुंवर विजय शाह के निर्वाचन को चुनौती देते हुए याचिका में आरोप लगाए गए थे कि धार्मिक प्रलोभन देकर मतदाताओं को प्रभावित करने के मकसद से विजय शाह ने धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया था. शाह ने चुनाव से पहले अपने विधानसभा क्षेत्र में भागवत कथा का आयोजन किया था. दरसीमा ने इसे याचिका का मूल आधार बनाया था. चुनाव याचिका पर चली लंबी सुनवाई के दौरान विजय शाह की ओर से यह तर्क दिया गया कि पार्टी का प्रत्याशी घोषित होने से पहले विजय शाह ने धार्मिक अनुष्ठान कराया था जिसमें किसी भी तरीके से मतदाताओं को प्रभावित नहीं किया गया. हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता की दलील सुनने के बाद पाया कि याचिका सुनवाई योग्य नहीं है इसलिए इसे खारिज कर दिया.
भागवत कथा
खंडवा जिले की हरसूद विधानसभा सीट से विजय शाह विजयी घोषित हुए थे. उन्होंने अपना चुनाव भाजपा के टिकट पर लड़ा था और 80556 मत प्राप्त किए थे. याचिका में बताया गया था कि विजय शाह ने 26 अक्टूबर 2018 से 1 नवंबर 2018 तक भागवत कथा का आयोजन किया था और धार्मिक आधार पर चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की थी. याचिकाकर्ता की दलील पर विजय शाह ने बताया कि उनके द्वारा चुनाव का नाम निर्देशन पत्र 1 नवंबर 2011 के बाद 5 नवंबर 2018 को दाखिल किया था. वो 1 नवंबर 2018 तक भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी भी नहीं थे इसलिए चुनाव प्रभावित करने का प्रश्न ही नहीं उठता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *