पुलिस कुछ कर नहीं रही, हमें उनका एनकाउंटर चाहिए

अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ की शिकायत करने पर गाजियाबाद में एक पत्रकार की गोली मार कर हत्या दी गई। इस मामले ने यूपी की कानून-व्यवस्था को फिर कटघरे में खड़ा कर दिया। पुलिस की नाकामी पर परिवार ने गुस्सा जाहिर किया है और आरोपियों के एनकाउंटर की मांग की है। पुलिस अब तक 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है जिनमें दो मुख्य आरोपी भी शामिल हैं। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। 

20 जुलाई की रात पत्रकार विक्रम जोशी जब अपनी दो बेटियों के साथ घर लौट रहे थे तभी उन पर कुछ लोगों ने घेर कर हमला कर दिया था। पत्रकार के साथ मारपीट हुई और उनके सिर पर गोली मारी गई। पत्रकार को गंभीर हालात में गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां बुधवार सुबह उनकी मौत हो गई।

अब तक 9 आरोपी गिरफ्तार

NBT

मामले में पुलिस ने अब तक 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें मुख्य आरोपी रवि और छोटू भी शामिल हैं। एक आरोपी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है।

चौकी इंचार्ज तत्काल प्रभाव से सस्पेंड

NBT

मामले में चौकी इंचार्ज को भी सस्पेंड कर दिया है। गाजियाबाद एसएसपी कलानिथि नैथानी ने बताया, ‘परिवार का कहना है कि उन्होंने उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई थी। चौकी इंचार्ज को लचर रवैये के कारण सस्पेंड कर दिया। हम मामले की पूरी जांच करेंगे।’

सीएम योगी ने किया 10 लाख रुपये की मदद का ऐलान

NBT

सीएम योगी आदित्यनाथ ने पत्रकार के परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है। इसी के साथ मृतक की पत्नी को नौकरी और बच्चों को निशुल्क शिक्षा देने का वादा भी किया है।

पुलिस ने जारी किए 10 आरोपियों के नाम

NBT

पत्रकार हत्या मामले में पुलिस ने 10 लोगों के नाम जारी किए हैं। इनमें से 9 गिरफ्तार कर लिए गए हैं जिनसे पूछताछ जारी है। वहीं एक आरोपी फरार है। सभी गाजियाबाद से ही रहने वाले हैं। आरोपियों के पास से पुलिस को 01 तमंचा 315 बोर, 1 जिंदा और 1 खोखा कारतूस मिला है।

पत्रकार के परिवार ने की आरोपियों के एनकाउंटर की मांग

NBT

पत्रकार विक्रम जोशी के परिवार ने पुलिस पर नाकामी के आरोप लगाए हैं। एक न्यूज चैनल से बातचीत में परिवार ने कहा कि पुलिस कुछ नहीं कर रही हैं और आरोपियों के एनकाउंटर की मांग की।

‘वादा था रामराज का, दे दिया गुंडाराज’

NBT

पत्रकार हत्याकांड पर कांग्रेस ने योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं। सांसद राहुल गांधी ने पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या पर ट्वीट किया, ‘अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध करने पर पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या कर दी गई। शोकग्रस्त परिवार को मेरी सांत्वना। वादा था रामराज का, दे दिया गुंडाराज।’

पत्रकारों ने दिया धरना

NBT

गाजियाबाद में विक्रम जोशी की हत्या के विरोध में स्थानीय पत्रकारों के एक समूह ने आज धरना दिया है।

पत्रकारों पर हो रहे अपराध पर उठे सवाल

NBT

धरना दे रहे पत्रकारों ने यूपी में कानून-व्यवस्था और पत्रकारों पर हो रहे अपराधों पर सवाल उठाए। पत्रकारों ने मामले की जांच के साथ इंसाफ की गुहार लगाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *