किसानों से धोखाधड़ी और खाद की कालाबाज़ारी करने वालों पर लगेगी रासुका

भोपाल. मध्य प्रदेश में अब खाद की कालाबाज़ारी करने वाले व्यापारियों पर रासुका लगायी जाएगी. ऐसे कालाबाज़ारियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने ये ऐलान किया है.खाद और बीज को लेकर मध्य प्रदेश में किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ शिवराज सरकार सख्त हो गई है.
कृषि मंत्री कमल पटेल ने एक बड़ा ऐलान किया है कि मध्य प्रदेश में अगर खाद की कालाबाजारी को लेकर किसानों से धोखाधड़ी की गई तो फिर आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. पटेल ने कहा-किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाले 40 मामलों में अब तक कार्रवाई की जा चुकी है. अब धोखाधड़ी करने वालों को यह हिदायत जारी की जा रही है कि अगर खाद को लेकर किसानों से किसी तरीके की धोखाधड़ी पाई जाती है तो फिर आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी. इससे एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी खाद की कालाबाजारी को लेकर सख्त निर्देश जारी किए थे.

अब तक क्या हुई कार्रवाई ?
सरकार ने खाद के भंडारण, परिवहन और बिक्री पर सख्ती से निगरानी करने के निर्देश दिए हैं. सभी जिलों में खाद-यूरिया वितरण व्यवस्था की मॉनिटरिंग के लिए कलेक्टर्स और अधिकारियों को आकस्मिक निरीक्षण के निर्देश भी दिए गए हैं. इसी के तहत प्रदेश में उर्वरक का अवैध भंडारण करने वालों के खिलाफ पुलिस में 14 एफ.आई.आर. दर्ज करवाई गई हैं. दूसरी ओर 9 प्रकरणों में लाइसेंस निरस्त किए गए. 23 प्रकरणों में लायसेंस निलंबित कर 2 प्रकरणों में उर्वरक भंडार सीज किए गए.

कहां कितनी कार्रवाई हुई ?
छिन्दवाड़ा जिले में 154 विक्रय केन्द्रों पर निरीक्षण के दौरान अवैध भंडारण करने पर तीन एफ.आई.आर. दर्ज की गईं. बिना बिल के खाद बेचेन पर एक लायसेंस निरस्त कर 3 प्रकरणों में निलंबन की कार्रवाई की गई. सिवनी जिले में 105 विक्रय केन्द्रों का निरीक्षण और 1 प्रकरण में निलंबन किया गया. बड़वानी जिले में 26 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में यूरिया का अवैध भण्डारण करने पर एक प्रकरण में एफ.आई.आर. और 3 प्रकरणों में लायसेंस निलंबन किया गया. छतरपुर जिले में 22 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में उर्वरक का अवैध भण्डारण करने के एक प्रकरण में एफ.आई.आर. दर्ज की गई. नरसिंहपुर जिले के 122 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में यूरिया के अवैध परिवहन एवं भण्डारण पर एक एफ.आई.आर. और 2 प्रकरणों में निलंबन की कार्यवाही की गई. बैतूल जिले के 82 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में यूरिया के अवैध भण्डारण के 1 प्रकरण में लायसेंस निलंबित किया गया. होशंगाबाद जिले में 3 प्रकरणों में एफ.आई.आर., 9 प्रकरणों में लायसेंस निलंबन और 3 लायसेंस निरस्त किए गए. खरगौन जिले के 116 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में रिकार्ड मेंटेन नहीं करने पर एक लाइसेंस निलंबित किया गया.धार जिले के 85 विक्रय केन्द्रों में निरीक्षण किया गया. इनमें से एक में अवैध भंडारण मिला. उसके खिलाफ एफ.आई.आर. की गयी. यहां पांच लायसेंस निरस्त और 3 में लायसेंस निलंबित किए गए. इसी प्रकार खंडवा जिले में 26 विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में अनियमितताओं के कारण 3 संस्थाओं को कारण बताओं नोटिस जारी किए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *