विकास को रोल मॉडल मानता था अमर दुबे, बिकरू में ‘किले’ के सामने रहकर बिताया था बचपन

कानपुर। कानपुर शूटआउट केस के बाद से फरार विकास दुबे के राइट हैंड अमर दुबे को एसटीएफ ने मुठभेड़ में मार गिराया है। विकास के इस राइट हैंड का निशाना अचूक था, इसी वजह से अमर दुबे विकास के टॉप-10 शार्प शूटरों में शामिल था।
एसटीएफ और अमर दुबे के बीच हुई मुठभेड़ में भी अमर का निशाना नहीं चूका, इस मुठभेड़ में मदौहा इंस्पेक्टर और सिपाही घायल हो गए है। अमर दुबे का सटीक निशाना टारगेट को पलक झपकते भेद देता था। उसके इसी हुनक को देखते हुए विकास हमेशा अपने साथ रखता था।
बिकरू में विकास के घर के सामने आवास
चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव के हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर के सामने अमर दुबे का घर है। अमर दुबे का बचपन विकास दुबे को देखते हुए बीता है। अमर विकास से इतना प्रभावित था कि वो विकास को अपना रोल मॉडल मानने लगा। विकास दुबे परिवारिक रिश्ते में अमर दुबे का बाबा लगता है। विकास दुबे का रिश्तेदार होने की वहज से उसका पूरे गांव में दबदबा था। विकास के कहने पर किसी को भी उठाकर ले आना, रंगदारी वसूला, किसी की भी पिटाई कर देना उसका काम था।
शूटआउट में विकास के साथ था शामिल
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर पर पुलिस दबिश देने गई थी, विकास दुबे ने अपने साथियों के साथ मिलकर पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थी। बदमाशों के साथ मिलकर अमर दुबे ने भी पुलिस पर गोलिया दागी थी। इस मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।
अमर की मां को पुलिस ने भेजा जेल
अमर दुबे की मां क्षमा दुबे को पुलिस ने बीते मंगलवार को जेल भेजा था। पुलिस ने क्षमा पर पुलिस की रेकी करने और बदमाशों को पुलिस कर्मियों के छिपे होने की जानकारी देने का दोषी बनाया है। इसके साथ ही अमर दुबे के चाचा अतुल दुबे को पुलिस पहले ही मुठभेड़ में मार चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *