महाकाल में पुजारियों का ‘निजी प्रोटोकॉल… रसूखदारों के लिए जगह घेर खड़े थे, कलेक्टर ने पकड़ा

उज्जैन। ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में पुजारियों का निजी प्रोटोकॉल सामने आया है। दरअसल कुछ लोग पुजारियों के रसूखदार यजमानों को भस्मारती में आगे बैठाने के लिए पहले से जगह घेरकर बैठे थे। इसी बीच कलेक्टर यहां पहुंच गए और उन्होंने इन लोगों को पकड़ लिया।
पांच ऐसे लोग पाए गए जो पुजारियों के नाम पर जगह घेरे हुए थे। इन्हें सख्त चेतावनी दी गई है। कहा गया है कि आगे से ऐसा करते पाए गए तो मंदिर में प्रवेश प्रतिबंध्ाित कर दिया जाएगा। उन पुजारियों का भी पता लगाया जा रहा है, जिनके यजमानों के लिए ये लोग खड़े थे।
महाकाल मंदिर आम और खास के बीच खाई पटने का नाम नहीं ले रही है। भस्मारती में आए यजमानों को पुजारी आगे बैठाने का प्रयास करते हैं। इसके एवज में मोटी दक्षिणा ली जाती है। पुजारी अपने कथित प्रतिनिध्ाियों को पहले से जगह घेरकर खड़े रहने को कहते हैं, ताकि यहां आकर उनके रसूखदार यजमान बैठ सकें।
शिकायत मिलने पर कलेक्टर शशांक मिश्र लंबे समय से इस पर नजर रखवा रहे थे। सोमवार को तड़के 4 बजे वे खुद मंदिर पहुंच गए और पांच ऐसे लोगों को पकड़ा। जब पूछताछ की गई तो सारा मामला खुल गया। कथित प्रतिनिध्ाियों ने बताया कि पुजारियों के कहने पर वे उनके यजमानों के लिए जगह रोककर खड़े हैं।
कलेक्टर ने तत्काल सभी को सख्त चेतावनी दी। कहा कि आगे ऐसा किया तो मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। सभी को तत्काल बाहर कर दिया गया। उन पुजारियों के बारे में भी पता किया जा रहा है, जिनके यजमानों के लिए उक्त लोग खड़े थे।
कलेक्टर ने निरीक्षण कर कुछ कथित पुजारी प्रतिनिध्ाियों को पकड़ा है। उक्त लोग पुजारियों के यजमानों के लिए जगह रोककर खड़े थे। सभी को सख्त चेतावनी दी गई है। आगे से ऐसा किया गया तो मंदिर में प्रवेश प्रतिबंध्ाित कर दिया जाएगा।
-मूलचंद जूनवाल, प्रभारी अध्ािकारी, भस्मारती व्यवस्था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *