उपचुनाव से पहले बदलेगा इंदौर कांग्रेस का चेहरा, कार्यकारिणी भंग

भोपाल. मध्य प्रदेश में 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले इंदौर शहर कांग्रेस की कार्यकारिणी भंग कर दी गई है. शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताया कि मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश पर संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने यह फैसला किया. अब जल्द ही नई कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा. उसमें सिर्फ ज़मीनी और सक्रिय कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ही मौका दिया जाएगा.
ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक प्रमोद टंडन ने अभी 8 जून को सीएम शिवराज सिंह चौहान के इंदौर दौरे के दौरान बीजेपी की सदस्यता ले ली थी. वो करीब 12 साल तक लगातार शहर कांग्रेस अध्यक्ष पद पर रहे. इससे पहले कई सिंधिया समर्थक पदाधिकारी कांग्रेस छोड़कर बीजपी में शामिल हो चुके हैं. इसके बाद से ही इंदौर में कांग्रेस संगठन के पुनर्गठन की जरूरत महसूस की जा रही थी.
ज़मीनी कार्यकर्ताओं को दिया जाएगा मौका
शहर अध्यक्ष का कहना है कार्यकारिणी भंग करने के पीछे यही कारण है कि ऐसे सैकड़ों लोगों को पार्टी से अलग करना है जो पद लेकर घर पर बैठे हुए हैं. जो कभी कांग्रेस के कार्यक्रमों की गतिविधियों में शामिल नहीं होते सिर्फ घरों के बाहर नेम प्लेट लगाकर अपने निजी स्वार्थ के लिए पार्टी के नाम का दुरुपयोग कर रहे हैं. आने वाले सांवेर विधानसभा उपचुनाव में हमें पूरी ताकत के साथ कांग्रेस के सक्रिय और जमीनी कार्यकर्ताओं के साथ जन-विरोधी ताकतों से लड़ना है. इसलिए कार्यकारिणी में ज़मीनी और सक्रिय कार्यकर्ताओं को ही मौका दिया जाएगा.प्रमोद टंडन के अध्यक्ष रहते शहर कांग्रेस कमेटी में करीब 850 लोगों को पद मिले थे लेकिन अब नई कार्यकारिणी का आकर छोटा रखा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *