महज 40 दिनों में आए 86% केस, 10 दिन में मिले 76 हजार से ज्यादा मरीज़

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के मामले भारत में तेजी के साथ बढ़ रहे हैं. देश में अब तक कुल मामलों की संख्या 2,76,583 तक पहुंच चुकी है. देश में लॉकडाउन (Lockdown) बीते 24 मार्च से जारी है लेकिन कुल मामलों में 86 प्रतिशत केस सिर्फ 40 दिनों के भीतर आए हैं. 1 जून से लॉकडाउन खुलने के बाद सिर्फ दस दिनों के भीतर 76 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. हिंदुस्तान टाइम्स अखबार की एक रिपोर्ट कहती है कि 84 प्रतिशत डेथ सिर्फ अप्रैल और मई के महीनें में हुई है.
मई महीना रहा सबसे बुरा
रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना के लिहाज से भारत के लिए मई महीना सबसे बुरा साबित हुआ है. एक मई से 31 मई के बीच में भारत में कोरोना के 1 लाख 53 हजार मामले सामने आए. सरकार ने एक जून से देश में लॉकडाउन में ढील देने और आर्थिक गतिविधियों की शुरुआत की है. इस ढील के तहत अब देश में मॉल, धार्मिक स्थल, रेस्टोरेंट खोलने की शुरुआत हुई है. कई दफ्तर भी अब खुल रहे हैं. हालांकि उन इलाकों को अभी इससे अलग रखा गया है जहां पर कोरोना वायरस का प्रभाव काफी ज्यादा है.
राज्यों की मदद के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम सक्रिय
इसी बीच मंगलवार को भारत में रिकॉर्ड रूप से 10 हजार कोरोना के मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश के 15 राज्यों में और संघशासित प्रदशों में सेंट्रल टीम लगाई गई हैं. जिससे स्थानीय स्तर पर प्रशासन की मदद की जा सके और संक्रमितों की संख्या पर काबू पाया जा सके. स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन के मुताबिक भारत की स्थिति अन्य देशों के मुकाबले काफी बेहतर है.
दुनिया में पांचवे नंबर पर है भारत
गौरतलब है कि अमेरिका, ब्राजील, रूस और ब्रिटेन के बाद दुनिया में कोरोना प्रभावितों के मामले में भारत का नंबर पांचवां है. अमेरकि की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक अब दुनिया में कोरोना के कुल 71 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. जनवरी महीने में इस महामारी का सबसे पहला शिकार चीन हुआ था. चीन के वुहान में कोरोना का पहला मामला सामने आया था. इसी वजह से इस महामारी को वुहान वायरस के उपनाम से भी जाना जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *