पुराने भाजपा नेताओं से कहा- टिकट नहीं मांगें नए भाजपाइयों को दी समन्वय बनाने की सीख

  • मुंगावली, अशोकनगर विस सीट के उपचुनाव के लिए सेक्टर प्रभारियों में नए और पुराने कार्यकर्ताओं के बीच बनाया जाएगा समन्वय
  • नाम नहीं छापने की शर्त पर कुछ भाजपा पदाधिकारी ने बताया कि उपचुनाव में टिकट मांगने की दी जा रही हैं हिदायत

अशोकनगर. कोरोना के बीच जिले में दो विधानसभाओं के उपचुनाव की तैयारियां पार्टी स्तर पर शुरू हो गई हैं। भाजपा के पुराने और नए शामिल हुए कार्यकर्तओं के बीच आपसी सामंजस्य बैठाने के लिए भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री शहर में पहुंचे। जहां न केवल उन्होंने दोनों विधानसभा क्षेत्रों के पुराने और नए कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठकें लीं। बल्कि टिकट की दावेदारी करने वाले कार्यकर्ताओं को हिदायत भी दी कि वे उपचुनाव में टिकट न मांगें। 
वहीं दूसरी तरफ खुद को कांग्रेस के सच्चे सिपाही बताते हुए कांग्रेस के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष ने प्रेसवार्ता करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित उनके बागी विधायकों को गद्दार बताया बल्कि यहां तक कहा कि इस गद्दारी की वजह से बागी विधायक उपचुनाव में सभी सीटों पर पराजित होंगे। मार्च में अशोकनगर और मुंगावली विधानसभा सीट कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देने से खाली हो गई थीं। कोरोना की वजह से लॉकडाउन में राजनीति ठंडी पड़ी रही। चौथे लॉकडाउन में चुनाव को देखते हुए दोनों की पार्टियों ने कार्यकर्ताओं की नब्ज टोटलते हुए रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। इसी के तहत भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी अशोकनगर पहुंचे। उन्होंने मंडल अध्यक्षों से लेकर पुराने और कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठकें ली। सांसद डाॅ. केपी यादव, जिलाध्यक्ष उमेश रघुवंशी सभी बैठकों में मौजूद रहे।
पुराने और नए कार्यकर्ताओं की ली अलग बैठक
अलग बैठकें- आगामी चुनाव को देखते हुए पुराने और नए कार्यकर्ताओं की पहली बैठक एक साथ न लेते हुए संगठन मंत्री ने अलग-अलग बैठक ली। पूर्व सांसद श्री सिंधिया के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस छोड़ चुके कार्यकर्ताओं ने दोनों क्षेत्रों के पूर्व विधायकों के साथ भाजपा ज्वाइन की थी। इन सभी कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठक ली गई।
सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई जा रही धज्जियां
उपचुनाव को लेकर लगातार  राजनीतिक पार्टियों की जो बैठकें हो रही हैं उनमें सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इस तरह के फोटो दोनों ही पार्टियों की बैठकों में देखने को मिल रहे हैं। इसके बाद भी दबाव और विरोध के चलते प्रशासन कार्रवाई में अक्षम है।
पुराने कार्यकर्ताओं के साथ नए कार्यकर्ता को करेंगे सेक्टर प्रभारियों में एडजस्ट
बैठक में शामिल कुछ पदाधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पुराने कार्यकर्ताओं के साथ आगामी चुनाव में नए कार्यकर्ताओं को भी सेक्टर प्रभारियों के रूप में एडजस्ट किया जाएगा। वहीं सूत्रों की मानें तो संगठन मंत्री द्वारा बैठक में टिकट के दावेदारों को इस उपचुनाव में दोनों विधानसभाओं से टिकट न मांगने की हिदायत भी दी गई।
जिन लोगों ने जनता से छल किया वे बुरी तरह हारेंगे
बुरी तरह पराजित होंगे बागी प्रत्याशी- कांग्रेस के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष गिरीश जैन ने कहा कि श्री सिंधिया कांग्रेस के अखिल भारतीय स्तर के नेता थे जिनको पार्टी ने महासचिव से लेकर मंत्री तक बनाया। लेकिन उन्होंने कांग्रेस की सरकार को अपनी निजी स्वार्थों की पूर्ति और पद की लालसा के लिए केन्द्रीय सरकार से सांठगांठ कर अपने चेहते विधायकों के साथ मिलकर गिराया। उन्होंने कांग्रेस के साथ बढ़ी गद्दारी की। ऐसे गद्दारों को कांग्रेस पार्टी जनता के बीच ले जाएगी। इनकी असलियत जनता के बीच पहले ही आ चुकी है। इससे छुब्द होकर वे अपनी कुंठा को छुपा नहीं पा रहे हैं। जनता उनको और उनके 22 विधायकों को जिन्होंने जनता के साथ धोखा किया है। उनको अब मतदाता सबक सिखाएंगे और सभी बागी विधायक बुरी तरह से पराजित होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *