5 दिन लू की चपेट में होंगे कई शहर, 47 डिग्री तक जा सकता है पारा; भाेपाल 44 डिग्री पार, 11 जिलों में लू

  • बड़ी वजह: राजस्थान-गुजरात से सुर्ख गर्म हवा आ रही, इससे तपिश बढ़ी
  • भोपाल में सीजन में पहली बार पारा 44.1 डिग्री रिकॉर्ड हुआ यहां दोपहर 12:30 बजे ही पारा 42 डिग्री था

भोपाल. नौतपा सोमवार से शुरू हो रहे हैं। लेकिन, इसके पहले भोपाल समेत पूरे प्रदेश में गर्म हवाओं ने भीषण तपिश बढ़ा दी। भोपाल में सीजन में पहली बार पारा 44.1 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। यहां दोपहर 12:30 बजे ही पारा 42 डिग्री था। प्रदेश के 18 जिलों में 44 डिग्री से भी ज्यादा तापमान रिकॉर्ड हुआ। महाकौशल, बुंदेलखंड, विंध्य और निमाड़ में 11 जिले लू की चपेट में रहे। राजधानी में रात भी सीजन में सबसे ज्यादा तपी। तापमान 29.7 डिग्री रहा। माैसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले पांच दिन देश के पांच राज्याें राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के अधिकतर हिस्से भीषण लू की चपेट में रहेंगे। तापमान 47 डिग्री तक भी जा सकता है। रविवार काे राजस्थान का चूरू 47.4 डिग्री तापमान के साथ देश का सबसे गर्म स्थान रहा।  

सिर्फ पचमढ़ी में रहा 40 डिग्री से कम तापमान

हिल स्टेशन पचमढ़ी में दिन का तापमान 39.0 डिग्री दर्ज किया गया, जो कि प्रदेश में सबसे कम है। इसके बाद कम तापमान बैतूल में 42.5, इंदौर में 42.6 और मंडला में 42.8 डिग्री रहा।

आगे क्या :

वरिष्ठ माैसम वैज्ञानिक एके शुक्ला, पीके साहा ने बताया कि  अगले तीन दिन 25, 26 और 27 मई सबसे गर्म रहने के अासार हैं। मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा ने बताया कि राजस्थान- गुजरात से आ रही सूखी व गर्म हवा से प्रदेश तप रहा है।

यहां चली लू – जबलपुर, मुरैना, उमरिया, छतरपुर, ग्वालियर, रीवा, सीधी, खरगाेन, खंडवा, दमाेह और टीकमगढ़।

क्या है नाैतपा :

ज्येष्ठ शुक्लपक्ष की तृतीया यानी 25 मई को सूर्य कृतिका से रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा। 8 जून तक इसी नक्षत्र में रहेगा। सूर्य के रविवार-साेमवार रात 2:32 बजे नक्षत्र बदलते ही नौतपा शुरू हो जाएगा। ज्योतिष गणना के अनुसार सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 15 दिनों के लिए आता है। पहले नौ दिन सर्वाधिक गर्मी वाले होते हैं। इस दौरान धरती पर सूर्य की किरणें लंबवत पड़ती हैं और इसी कारण तापमान बहुत बढ़ जाता है।

ऑल टाइम रिकॉर्ड

भोपाल में 2016 में 46.7 डिग्री पारा था, यह अब तक का सर्वाधिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *