मध्‍य प्रदेश के इन 2 एयरपोर्ट से उड़ान भरेंगी कुल 16 फ्लाइट्स, जानिये सभी का किराया

नई दिल्‍ली. मध्‍य प्रदेश के भोपाल और इंदौर से भी घरेलू उड़ानों का ऑपरेशन 25 मई की मध्‍य रात्रि से शुरू हो जाएगा. फिलहाल दोनों एयरपोर्ट से कुल 18 विमानों को ही उड़ान भरने की इजाजत दी गई है, जिमसें इंदौर एयरपोर्ट से 11 और भोपाल एयरपोर्ट से कुल 8 उड़ानों का परिचालन होगा. चूंकि, भोपाल और इंदौर से आवागमन करने वाली सभी उड़ाने ए से डी कैटेगरी के बीच आती है, लिहाजा इन दोनों एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाली सभी फ्लाइट्स का किराया 2000 रुपए से 10 हजार रुपए के बीच ही होगा.
2000 से 6000 रुपए के बीच होगा इन 3 शहरों का किराया
मंत्रालय ने पहले ब्‍लॉक में कुल 46 एयरपोर्ट सेक्‍टर को शामिल किया है. जिसमें, मध्‍य प्रदेश के खाते में कुल 3 फ्लाइट आई हैं. इसमें एक फ्लाइट भोपाल से मुंबई की है, जबकि दो फ्लाइट इंदौर से अहमदाबाद और नागपुर की है. मंत्रालय ने इन तीनों शहरों के लिए न्‍यूनतम किराया 2000 रुपए और अधिकतम किराया 6000 रुपए निर्धारित किया है. भोपाल और इंदौर से इन तीनों शहरों के बीच महज 40 मिनट का हवाई सफर है.
2500 से 7500 रुपए के बीच होगा इन 7 शहरों का किराया
मंत्रालय ने दूसरे ब्‍लॉक में कुल 83 एयरपोर्ट सेक्‍टर को शामिल किया है. जिसमें, मध्‍य प्रदेश के भोपाल से अहमदाबाद, दिल्‍ली, जयपुर और रायपुर के लिए चार फ्लाइट शामिल की गई है. जबकि, इंदौर से हैदराबाद, जयपुर और मुंबई के लिए तीन फ्लाइट हैं. मंत्रालय ने इन 7 शहरों के लिए न्‍यूनतम किराया 2500 रुपए और अधिकतम किराया 7500 रुपए निर्धारित किया है. भोपाल और इंदौर से इन सातों शहरों के बीच महज 40 से 60 मिनट का हवाई सफर है.
3000 से 9000 रुपए के बीच होगा इन 4 शहरों का किराया
मंत्रालय ने तीसरे ब्‍लॉक में कुल 87 एयरपोर्ट सेक्‍टर को शामिल किया है. जिसमें, मध्‍य प्रदेश के भोपाल से हैदराबाद के लिए एक और इंदौर से दिल्‍ली, गोवा और रायपुर के लिए 3 उड़ानें शामिल की गई हैं. मंत्रालय ने इन 4 शहरों के लिए न्‍यूनतम किराया 3000 रुपए और अधिकतम किराया 9000 रुपए निर्धारित किया है. भोपाल और इंदौर से इन सातों शहरों के बीच महज 60 से 90 मिनट का हवाई सफर है.
3500 से 10,000 रुपए के बीच होगा इन 4 शहरों का किराया
मंत्रालय ने चौथे ब्‍लॉक में कुल 70 एयरपोर्ट सेक्‍टर को शामिल किया है. जिसमें, मध्‍य प्रदेश के भोपाल से बैंगलूरू के लिए एक और इंदौर से बैंगलूरू, चेन्‍नई और कोलकाता के लिए तीन उड़ानें शामिल की गई हैं. मंत्रालय ने इन 4 शहरों के लिए न्‍यूनतम किराया 3500 रुपए और अधिकतम किराया 10000 रुपए निर्धारित किया है. भोपाल और इंदौर से इन चारों शहरों के बीच महज 90 से 120 मिनट का हवाई सफर है.
औसत किराए पर बेचनी होंगी 40 फीसदी सीट
एयरलाइंस में एयर फेयर का निर्धारण आरबीडी सिस्‍टम के तहत होता है. आरबीडी सिस्‍टम के तहत कई बकेट्स होती है. जिसमें किराए को बढ़ते क्रम में बांट दिया जाता है. उदाहरण के तौर पर दिल्‍ली से मुंबई का न्‍यूनतम किराया 3500 रुपए और अधिकतम किराया 10 हजार रुपए है. वहीं, एयरलाइंस इस किराये को 10 बकेट्स में बांटती है तो पहले बकेट का किराया 3500 रुपए, दूसरा बकेट का किराया 4000 रुपए होगा.
इसी तरह किराया बकेट के हिसाब से बढ़ता हुआ 10 हजार रुपए तक चला जाएगा. मंत्रालय को आशंका थी कि एयरलाइंस ऊंचे किराये वाले बटेक में टिकटों की बिक्री कर सकती हैं. लिहाजा, मंत्रालय ने तय किया है कि एयरलाइंस विमान के क्षमता की 40 फीसदी सीटें औसत किराये से कम में ही बिक्री करेंगी. बाकी बची 60 फीसदी सीट की बिक्री हायर बकेट्स के जरिये की जा सकेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *