सूर्य के नक्षत्र में मनेगी शनि जंयती, इस तिथि पर शनि रहता है वक्री, राशि अनुसार किन बातों का ध्यान रखें

मेष राशि के लोगों को मिल सकता है नया रोजगार, वृष राशि के लोग शनि के नामों का जाप करें

22 मई को कृत्तिका नक्षत्र रहेगा और शनि जयंती मनाई जाएगी। इस नक्षत्र का स्वामी सूर्य है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार शनिदेव अपने पिता सूर्य को शत्रु मानते हैं। इस वजह से कृत्तिका नक्षत्र में शनि जयंती का आना विशेष योग है। शनि इस समय मकर राशि में वक्री है। ज्येष्ठ मास की अमावस्या पर शनि जयंती मनाई जाती है, इस समय शनि वक्री रहता है। शनि का गोचर भी सूर्य के स्वामित्व वाले नक्षत्र उत्तराषाढ़ा में रहेगा। जानिए शनि जयंती पर राशि अनुसार किन बातों का ध्यान रखें…

मेष– आपके लिए दशम शनि कार्य में बढ़ोतरी करेगा। बेरोजगारों को रोजगार की प्राप्ति होगी। पिता से लाभ मिलेगा। ये लोग सुंदरकांड या हनुमान चालीसा का पाठ करें।

वृषभ– इन लोगों के लिए नवम शनि भाग्य का साथ दिलाने वाला रहेगा। आर्थिक लाभ मिल सकता है। शनि के नामों का जाप करें।

मिथुन– अष्टम शनि की वजह से भय, चिंता और परेशानी बढ़ेगी। कमाई हो सकती है। शनिदेव को काली उड़द चढ़ाएं।

कर्क– सप्तम शनि आपको परेशानी के साथ ही लाभ भी दे सकता है। कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है। राजा दशरथ कृत शनि स्त्रोत का पाठ करें।

सिंह– इन लोगों के लिए शनि षष्ठम रहेगा। अनावश्यक विवाद बढ़ाने वाले समय रहेगा। आय भी बढ़ सकती है। हनुमानजी को चोला चढ़ाएं।

कन्या- इस राशि के लिए पंचम शनि संतान से विवाद करवा सकता है। रोग बढ़ाने वाला समय हो सकता है। उपवास रखें और शनिदेव के मंत्रों का जाप करें।

तुला- आपके लिए चतुर्थ शनि रहेगा। दांतों में दर्द हो सकता है। समस्याएं बढ़ सकती हैं। शनिदेव का अभिषेक सरसों के तेल से करें।

वृश्चिक- इस राशि के लिए तृतीय शनि भाइयों से विवाद करवाने वाला और सफलता दिलाने वाला रहेगा। हनुमान चालीसा का पाठ करें और चींटियों को आटा डालें।

धनु- द्वितीय शनि आपको संपत्ति से नुकसान करवा सकता है। विवाद हो सकता है। धन की कमी रहेगी। पीपल के वृक्ष के नीचे दीपक जलाएं।

मकर– शनि का गोचर इसी राशि में है। परेशानी बढ़ सकती है। धन की कमी हो सकती है। शनिदेव के वैदिक मंत्रों का जाप करें।

कुंभ– इस राशि के लिए द्वादश शनि आर्थिक हानी करवा सकता है। परेशानी, तनाव और काम की अधिकता रहेगी। हनुमानजी की उपासना करें और नीलम रत्न धारण करें।

मीन– एकादश शनि आपके लिए लाभदायक रहेगा। शुभ कार्य होंगे। बजरंग बाण का पाठ करें और गरीबों की हर संभव मदद करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *