मध्य प्रदेश में कौन सा जिला रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन होगा, आज मुख्यमंत्री ऐलान करेंगे

  • भोपाल, इंदौर, उज्जैन और बुरहानपुर जिले को रेड जोन में रखा जाना तय
  • कंटेनमेंट एरिया को बफर में बदलकर इसके बाहर ढील दी जा सकती

भोपाल/इंदौर. मप्र सरकार सोमवार को तय करेगी कि रेड, ऑरेंज और ग्रीन जो का वर्गीकरण कैसा होगा। कौन से जिले रेड जोन में और कौन से बाकी दोनों जोन में होंगे। हालांकि यह साफ है कि भोपाल, इंदौर, उज्जैन और बुरहानपुर जिले में जिस तरह से कोविड-19 के पाॅजिटिव केस मिल रहे हैं, इन्हें रेड जोन में ही रखा जाएगा। यहां सख्ती बरकरार रहेगी। जिलों के कंटेनमेंट एरिया को बफर में बदलकर इसके बाहर कुछ ढील दी जा सकती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को जनता को संबोधित करेंगे।

भोपाल में छह सेक्टर में शर्तों के साथ छूट
भोपाल में कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने शहर के छह सेक्टर में जरूरी शर्तों के साथ छूट दी है, जबकि जहांगीराबाद, ऐशबाग, अशोका गार्डन, मंगलवारा, तलैया समेत अन्य हॉट स्पॉट वाले इलाकों में टोटल लॉकडाउन लागू रहेगा। सिर्फ इमरजेंसी में अस्पताल जाने की छूट दी जाएगी। कंटेनमेंट जोन के बाहर और गोविंदपुरा क्षेत्र की इंडस्ट्री को 50 फीसदी स्टाफ के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। रजिस्ट्री दफ्तर खुलेंगे, एक रजिस्ट्री में 20 से 25 मिनट का समय लगेगा।  प्रति सब रजिस्ट्रार 11-11 स्लॉट दिए जाएंगे। सरकार और प्राइवेट दफ्तर 33 फीसदी स्टाफ के साथ खुल सकेंगे। 

इंदौर: महू, देपालपुर, बेटमा, गौतमपुरा, सांवेर में लॉकडाउन यथावत रहेगा
इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि शहर में कोई छूट नहीं रहेगी। महू, देपालपुर, बेटमा, गौतमपुरा, सांवेर में लॉकडाउन यथावत रहेगा। हालांकि प्रशासन ने नगरीय सीमा में शामिल 29 गांवों में दुकानें खोलने की मंजूरी दे दी है। इन 29 गांवों में पासधारी के अलावा कोई आ-जा नहीं सकेगा। सीमाएं सील रहेंगी। शहर में किराना, परिवहन सुविधाएं, टैक्सी सब पहले की तरह बंद ही रहेंगे। दवाई खरीदी और मेडिकल इमरजेंसी में ही लोग घर से बाहर निकल सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *