औरैया में दो ट्रकों के बीच टक्कर में 24 मजदूरों की मौत, चूने की बोरियों के नीचे दबी लाशें: मोदी ने दुख जताया, कहा- सरकार राहत कार्य में जुटी

  • हादसा तड़के 3.30 बजे हुआ, राजस्थान से आ रहे ट्रक ने दिल्ली से आए खड़े ट्रक को टक्कर मारी
  • ट्रक ढाबे के पास रुका था, कुछ मजदूर चाय पीने के लिए उतरे थे, जबकि बाकी अंदर ही बैठे थे
  • मध्य प्रदेश में भी शनिवार को एक सड़क हादसे में 5 मजदूरों की मौत हो गई, इस तरह देश में पिछले 8 दिन में 61 मजदूरों की जान गई

औरैया. उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार तड़के 3:30 बजे हाईवे पर एक ट्रक ने दूसरे ट्रक को टक्कर मार दी। इसमें 24 मजदूरों की मौत हो गई। कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया है कि 35 लोग जख्मी हुए हैं। इनमें से 20 को जिला अस्पताल, जबकि गंभीर रूप से जख्मी 15 लोगों को सैफई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। 
मध्यप्रदेश के सागर जिले के बंडा के नजदीक एक सड़क हादसे में पांच मजदूरों की मौत हो गई एएसपी प्रवीण भूरिया ने बताया कि जिस ट्रक में मजदूर सवार थे। वह पलट गया। ये लोग महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश जा रहे थे। इन दो हादसों के साथ पिछले आठ दिन में देश में अलग-अलग एक्सीडेंट में 61 मजदूरों की जान गई। इससे पहले औरंगाबाद में 16, मध्यप्रदेश के गुना में 8, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में 6, बिहार के समस्तीपुर में 2 लोगों की मौत हुई थी।

मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, ‘सरकार तत्परता से राहत कार्य में जुटी है।’

जो लोग चाय पीने ट्रक से उतरे थे उनकी जान बच गई 
हादसा औरैया के पास चिरूहली क्षेत्र में एक ढाबे के पास हुआ। पुलिस ने बताया कि दोनों ट्रक में मजदूर सवार थे। दिल्ली से आया ट्रक ढाबे के पास रुका था। कुछ लोग चाय पी रहे थे। तभी राजस्थान से आ रहे ट्रक ने उसमें टक्कर मार दी। इसमें चूना भरा हुआ था और 30 मजदूर सवार थे। जो लोग चाय पीने ट्रक से उतरे थे उनकी जान बच गई। चश्मदीदों ने बताया कि हादसा राजस्थान से आ रहे ट्रक ड्राइवर की झपकी लगने से हुआ। टक्कर के बाद दोनों ट्रक पलट गए। चूने की बोरियों में मजदूर दब गए।

मारे गए लोगों में सबसे ज्यादा झारखंड से
प्रशासन ने मृतकों की शिनाख्त कर सूची जारी की है। अब तक 15 मृतकों की पहचान हो पाई है। इनमें सबसे ज्यादा झारखंड से हैं। इनकी संख्या सात है। वहीं, पश्चिम बंगाल के रहने वाले 4 लोग हैं। इसके अलावा, बिहार और उत्तर प्रदेश से दो-दो मृतक हैं। पुलिस का कहना है कि अन्य अज्ञात लोगों की पहचान करने की कोशिशें जारी हैं। चूना से लदा ट्रक राजस्थान से पश्चिम बंगाल के लिए निकला था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है। जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और सपा नेता अखिलेश यादव ने भी इस हादसे पर दुख जताया।

इससे पहले 8 दिन में चार बड़े हादसे, 32 मजदूरों की मौत

  • बुधवार रात मध्य प्रदेश के गुना में बस और कंटेनर की टक्कर में 8 मजदूरों की मौत हुई। 54 जख्मी हो गए। सभी लोग उत्तरप्रदेश के उन्नाव जा रहे थे। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बुधवार देर रात ही रोडवेज की बस ने 6 मजदूरों को कुचल दिया। वहीं, बिहार में भी प्रवासियों की बस ट्रक से टकरा गई, जिसमें दो लोगों की जान चली गई।
  • इससे पहले 8 मई को महाराष्ट्र में औरंगाबाद के पास रेलवे ट्रैक पर 16 प्रवासी मजदूरों की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गई। सभी मजदूर मध्य प्रदेश जा रहे थे। हादसा औरंगाबाद में करमाड स्टेशन के पास हुआ। घटना उस वक्त हुई, जब मजदूर रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे। मृतक मध्य प्रदेश के शहडोल और उमरिया के रहने वाले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *