MP के बाहर फंसे मज़दूरों को लाने के लिए चलेंगी 31 स्पेशल ट्रेन, सरकार देगी किराया

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश के बाहर फंसे मजदूरों को वापस लाने के लिए अब 31 स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी कर रही है. इसका प्रस्ताव सरकार की ओर से रेल मंत्रालय को भेज दिया गया है. रेल मंत्रालय की मंजूरी मिलते ही मजदूरों को लाने के लिए अलग-अलग प्रदेशों से ट्रेन रवाना कर दी जाएंगी. इस बार खास बात ये रहेगी कि मजदूरों का किराया सरकार देगी. लेकिन इन ट्रेन में सफर करने के लिए मजदूरों को पहले से अपना नाम लिखवाना होगा. सरकार ने इसके लिए टोल फ्री नंबर जारी किया है. वो 0755-2411180 पर अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं.
सरकार ने जिन प्रदेशों से मजदूरों को वापस लाने के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने का प्रस्ताव भेजा है उनमें 22 ट्रेन महाराष्‍ट्र से, 2 गुजरात से, 1 दिल्‍ली से, 2 गोवा शामिल हैं.इसके अलावा 4 अन्‍य प्रदेशों से मजदूरों को लाने के लिए भी ट्रेन भेजी जाएंगी. चलाई जाएंगी खास बात यह है की सरकार ने यह तय किया है कि किसी भी मजदूर से इस दौरान ट्रेन से आने का किराया नहीं वसूला जाएगा. प्रदेश सरकार इन स्पेशल ट्रेन का खर्चा खुद उठाएगी.
स्टेशन पर भीड़ न लगाएं
मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन को लेकर एक बात ध्यान देने लायक है कि इन ट्रेन में केवल उन्हीं मजदूरों को बैठने दिया जाएगा जिन्होंने संबंधित अथॉरिटी से संपर्क किया होगा.लिहाजा यह जरूरी है कि जो भी मजदूर इन ट्रेन से आना चाहते हैं वो पहले अधिकृत तौर पर अपना नाम दर्ज कराएंगे. ट्रेन में यात्रा करने से पहले उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी. मध्य प्रदेश सरकार ने बाहर से मजदूरों को लाने के लिए एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया है जो इस प्रकार है 0755-2411180
नासिक से आ चुकी है ट्रेन
इससे पहले शनिवार को नासिक से करीब 349 मजदूरों को लेकर एक स्पेशल ट्रेन भोपाल आयी थी. उस ट्रेन से आए मजदूरों को पहले नासिक से भोपाल लाया गया और फिर यहां से बसों के जरिए उनके गांव या घर और शहर तक पहुंचाया गया. इस दौरान एक बात यह भी सामने आई थी कि नासिक में ट्रेन में बैठने से पहले मजदूरों से किराया वसूला गया था.इसलिए सरकार ने यह तय किया है कि किसी भी स्पेशल ट्रेन से आने वाले मजदूर से किराया नहीं वसूला जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *