10वीं और 12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन कार्य पूरा, अब दिए जाएंगे नम्बर

भोपाल. लॉकडाउन के चलते भले ही बोर्ड परीक्षाओं के स्थगित पेपर पर फिलहाल ब्रेक लगा है, लेकिन उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का काम लगभग पूरा हो चुका है. एमपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं की कॉपियों वैल्यूएशन 10 दिन के भीतर पूरे किए जाने का समय दिया गया था. समय सीमा के भीतर कार्य पूरा कर कॉपियां मॉडल स्कूल स्थित मूल्यांकन केंद्र में आज से पहुचेंगी. मूल्यांकन केंद्र में नोडल अधिकारियों के सामने कॉपियों पर नम्बर दिए जाएंगे.
लॉकडाउन के चलते उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन घर से ही करने के आदेश दिए गए थे. बोर्ड ने अपनी जारी गाइडलाइन में यह भी कहा था कि शिक्षक घर से ही कॉपियां चेक करेंगे, लेकिन नंबर नोडल अधिकारी के सामने मूल्यांकन केंद्र पर ही भरेंगे. कॉपियों के वैल्यूएशन का काम पूरा होने के बाद टीटी नगर स्थित मॉडल स्कूल मूल्यांकन केंद्र में डिप्टी वैल्यूअर और वैल्यूअर के सामने टीचर कॉपियों पर नंबर चढ़ाएंगे. शिक्षक होलोग्राम स्टीकर निकालकर अंको की एंट्री करेंगे. कॉपियों में नंबर देने के बाद ओएमआर शीट भरकर कॉपियां बोर्ड ऑफिस भेजी जाएंगी. ओएमआर शीट बोर्ड ऑफिस भेजने से पहले डिप्टी वैल्यूअर कम नंबर आने वाले छात्रों और 90 फीसदी से ज्यादा अंक लाने वाले छात्रों की कापियां बारीकी से दोबारा चैक करेंगे. फिर से अंको की रिटोटलिंग के बाद रोल नंबर के अनुसार ओएमआर सीट भरकर बोर्ड ऑफिस भेजी जाएगी जिसके बाद बोर्ड रिजल्ट तैयार करेगा.
कॉपियों पर नंबर भरने की प्रक्रिया पूरे सप्ताह चलेगी
कॉपियों पर नोडल अधिकारी की देखरेख में नंबर चढ़ाते समय सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना है. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक कमरे में 2 से 3 शिक्षक नोडल अधिकारी के सामने कॉपियों पर नंबर भरेंगे. नंबर भरने और ओएमआर शीट भरने की प्रक्रिया करीब 1 हफ्ते तक चलेगी. लगातार एक हफ्ते तक अलग-अलग स्कूलों के शिक्षक अपनी-अपनी कॉपियां लेकर मॉडल स्कूल स्थित मूल्यांकन केंद्र पहुंचेंगे.
19 मार्च के पहले तक की कॉपियों का हुआ मूल्यांकन
एमपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 02 और 03 मार्च से शुरू हुई थी. 19 मार्च तक पेपर हो सके थे. कोरोना वायरस के चलते 21 मार्च से होने वाले सारे पेपर अब तक स्थगित है. मूल्यांकन कार्य में देरी होने के चलते घरों से ही मूल्यांकन कार्य शुरू कराने का फैसला एमपी बोर्ड ने लिया था. 10 दिनों के भीतर 10वीं और 12वीं के 19 मार्च से पहले होने वाले पेपर की कॉपियों का मूल्यांकन कार्य पूरा हो चुका है. अब 19 मार्च को हुए पेपर की कॉपियों का मूल्यांकन कार्य शुरू होगा.
एमपी बोर्ड की कॉपियों के मूल्यांकन का काम 23 अप्रैल से शुरू हुआ था. एक-एक शिक्षक को वैल्यूएशन के लिए 450 कॉपियों का बंडल दिया गया था और 10 दिन के भीतर कॉपियों का मूल्यांकन कार्य पूरा करने के निर्देश भी दिए गए थे. 30साल बाद पहला मौका है जब शिक्षक बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियां घर से चेक कर रहे है. अब तक 10वीं और 12वीं कॉपियां हर जिले में कड़ी सुरक्षा के बीच मूल्यांकन केंद्र में ही चैक होती थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *