4 मई से ग्रीन जोन के जिलों को लॉकडाउन से बड़ी राहत मिल सकती है, फैसला आज

  • राज्य के आधे जिले ग्रीन जोन में शामिल, भोपाल, इंदौर और उज्जैन रेड जोन में, बाकी जिले ऑरेंज जोन में
  • मध्य प्रदेश में सभी प्रकार की खेल गतिविधियां 31 मई तक के लिए स्थगित की गईं, पहले 30 अप्रैल तक थीं

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार आज ऐलान करेगी कि 3 मई को लॉकडाउन की अवधि खत्म होने के बाद कौन-कौन से इलाकों में राहत दी जाए और कहां-कहां लॉकडाउन जारी रहेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शाम मंत्री और अफसरों की अहम बैठक बुलाई है। सरकार इस मसले पर फैसला करने के बाद अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजेगी। केंद्र की अनुमति मिलने पर 3 मई के बाद जिलों में नई व्यवस्था लागू की जाएगी। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में भोपाल, इंदौर और उज्जैन रेड जोन में हैं। आधे जिले ग्रीन जोन और बाकी ऑरेंज जोन में शामिल हैं। प्रदेश में अब तक 2625 संक्रमित पाए गए। 512 स्वस्थ होकर घर भेजे गए। जबकि 130 की मौत हो गई।


हालांकि उम्मीद की जा रही है कि सरकार 4 मई से ग्रीन जोन वाले जिलों को लॉकडाउन खुलने के बाद बड़ी राहत दे सकती है। फिलहाल, सरकार ने तय किया है कि ग्रीन जोन वाले जिलों में मुख्य बाजार को छोड़कर गली-मोहल्ला की दुकानों को खोलने की इजाजत दे दी जाए। वहीं, छोटे उद्योगों को शर्तों के साथ अपना शुरू करने की इजाजत देने को लेकर सरकार विशेषज्ञों से चर्चा कर रही है। लॉकडाउन से छूट के इन प्रस्‍तावों पर अंतिम मुहर मुख्यमंत्री शिवराज की अध्यक्षता में आज होने वाली बैठक में लग जाएगी।

कोरोना संक्रमण में सुधार के संकेत : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण में कमी आई है। गुरुवार को आई जांच रिपोर्ट में प्रदेश में मात्र 2.4 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव निकले। भोपाल में 1.9 फीसदी, इंदौर में 2.2 और जबलपुर में 4.4 प्रतिशत पॉजिटिव पाए गए। यह अच्छे संकेत हैं। हम जल्दी ही कोरोना को हरा देंगे। चौहान ने कहा कि अब इंदौर की स्थिति में भी तेज गति से सुधार हो रहा है। जांच रिपोर्ट में इंदौर के 451 टेस्ट रिजल्ट में से मात्र 10 पॉजिटिव आए। प्रदेश की 30 अप्रैल की टेस्ट रिपोर्ट में कुल 2617 टेस्ट में से केवल 65 टेस्ट पॉजिटिव आए हैं। भोपाल के 1275 टेस्ट रिजल्ट में से 25 और जबलपुर के 157 टेस्ट रिजल्ट में से 7 पॉजिटिव आए। उज्जैन में 94 जांच रिपोर्ट में 11 संक्रमित मामले पाए गए।

मध्य प्रदेश में गेहूं की खरीदी 15 अप्रैल से शुरू हो गई है। सीहोर में इस बार गेहूं की बंपर पैदावार हुई है।  

आज किसानों को 2990 करोड़ की बीमा राशि देगी सरकार

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक मई यानी आज किसानों को कुल 2990 करोड़ फसल बीमा राशि का ऑनलाइन भुगतान करेंगे। इससे प्रदेश के 14 लाख 93 हजार 171 किसान लाभान्वित होंगे। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि 8 लाख 33 हजार 171 किसानों को खरीफ फसल की बीमा राशि के रूप में 1930 करोड़ रुपए प्रदान किए जाएंगे। इसी प्रकार, 14 लाख 93 हजार 171 किसानों को रबी फसल की बीमा राशि के रूप में 1060 करोड़ का भुगतान किया जाएगा। इससे पहले सरकार ने फसल बीमा की 2200 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान बीमा कंपनियों को प्रीमियम के लिए किया था।

भोपाल में गुरुवार को चिरायु अस्पताल से 28 मरीजों के स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। भोपाल में अब तक 223 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। 

प्रदेश में खेल गतिविधियां 31 मई तक स्थगित 
कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए खेल संचालक वीके सिंह ने प्रदेश के समस्त स्टेडियम/ मैदानों पर संचालित खेल गतिविधियां, प्रशिक्षण और प्रतियोगिताओं को 31 मई तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इस सिलसिले में आदेश जारी कर निर्देशों का पालन करने के लिए कहा है। पहले खेल गतिविधियों को 31 मार्च तक फिर 30 अप्रैल तक स्थगित किया गया था। 

मजदूरों को उनके घर भेजा रहा है और दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लाया जा रहा है। हरदा में उत्तर प्रदेश के कई मजदूर महाराष्ट्र से आकर फंस गए। उन्हें सरकार बसों में भेज रही है। 

35 हजार मजदूर मध्य प्रदेश लाए गए

अपर मुख्य सचिव आईसीपी केशरी ने बताया कि दूसरे राज्यों से अब तक लगभग 35000 मजदूर मध्यप्रदेश लाए जा चुके हैं। इनमें राजस्थान से 25000, गुजरात से 6000, उत्तर प्रदेश से 2000 और महाराष्ट्र से 2000 मजदूर आए हैं। सभी मजदूरों की बॉर्डर पर हेल्थ स्क्रीनिंग की जा रही है। उनकी भोजन आदि की अच्छी व्यवस्था की गई है। एक आंकड़े के मुताबिक मध्य प्रदेश के करीब 1,14000 मजदूर 18 अलग-अलग राज्यों में लॉकडाउन के बाद फंसे हुए हैं। 

  • गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार प्रवासी मजदूरों को भेजने के लिए बसों की व्‍यवस्‍था की जाए। इन बसों को अच्‍छी तरह से सैनिटाइज किया जाए। इसमें बैठने के दौरान सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियम अपनाए जाएं। 
  • मध्य प्रदेश सरकार ने प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए 7 आईएएस अधिकारियों की एक नई टीम बनाई है। ये अधिकारी अन्य राज्यों की टीम के साथ समन्वय कर यह सुनिश्चित करेंगे कि जिन लोगों को मध्य प्रदेश से बाहर जाना है या बाहर से यहां आना है, उनकी मदद की जा सके। 

7 आईएएस अधिकारियों को जिम्मेदारी 

  • मलय श्रीवास्तव – गुजरात, राजस्थान
  • मनु श्रीवास्तव – उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब
  • नीरज मंडलोई – दिल्ली, हरियाणा
  • दीपाली रस्तोगी – महाराष्ट्र, झारखंड
  • आईरिन सिंथिया – तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी
  • वी किरण गोपाल – आंध्र प्रदेश,  तेलंगाना, छत्तीसगढ़, उड़ीसा
  • इलैया राजा टी – कर्नाटक और गोवा
भोपाल में गुरुवार को तीन कंटेनमेंट जोन फ्री कर दिए गए। यहां पर 28 दिन से कोई पॉजिटिव मरीज नहीं मिला। 

भोपाल: 700 पुलिसकर्मियों को फेस शील्ड दिए 
पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गुरुवार को भोपाल में ड्यूटी कर रहे 700 पुलिसकर्मियों को फेस शील्ड दिए गए। इससे चेकिंग और पेट्रोलिंग के दौरान पुलिस का किसी संक्रमित व्यक्ति से सीधा संपर्क या संवाद होने पर काफी हद तक बचाव हो सकेगा और वायरस फैलने का खतरा भी नहीं रहेगा। यह फेस शील्ड धूल, धुंआ आदि से भी बचाएगी। भोपाल में लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में गुरुवार को 85 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए। ज़िले में पिछले 24 घंटे में 85 मामले दर्ज किए गए। जबकि 22 मार्च से अब तक कुल 2841 मामले दर्ज किए गए। 

इंदौर: 4 लोगों ने दम तोड़ा, 28 नए मामले सामने आए
इंदौर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े में लगातार इजाफा हो रहा है। गुरुवार देर रात आई रिपोर्ट में 28 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। 4 लोगों ने दम भी तोड़ा। अब तक 1513 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। 72 लोगों की जान जा चुकी है। इनमें 45 मरीज ऐसे थे, जिन्हें शुगर, ब्लड प्रेशर समेत अन्य कई बीमारियां थीं। मृतकों में 40 मरीजों की उम्र 50 से 70 साल के बीच थी। इनमें बीमारी का घातक प्रसार क्यों हुआ, इसका पता लगाने के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज डेथ ऑडिट करवा रहा है। वह इनके सैंपल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पुणे भेजेगा। 

श्योपुर: राजस्थान से श्योपुर सीमा पर आए 2500 मजदूर
राजस्थान से वहां की परिवहन निगम की बसों से मजदूरों को सरकार बॉर्डर तक भेज रही है। एसडीएम रूपेश उपाध्याय ने बताया कि 2560 मजदूरों को जिले की सामरसा चौकी बॉर्डर पर लाया गया है। इसके बाद इन मजदूरों को शिवपुरी, भिंड, मुरैना, डिंडोरी, उमरिया के लिए बसों से भेजेंगे। अब तक 75 बसें लगाई जा चुकी हैं।

मध्य प्रदेश के मजदूरों को लाने का सिलसिला जारी है। तस्वीर गुजरात में फंसे मजदूरों की है। इन्हें राज्य में वापस लाया जा चुका है।

हरदा: 362 मजदूरों को लेकर 12 बसें उत्तरप्रदेश भेजीं
लाॅकडाउन में फंसे 362 मजदूरों को 12 बसों से उत्तर प्रदेश भेजा गया है। तय रूट के अनुसार, 4 बसें प्रयागराज भेजी गईं। 8 बसें झांसी के लिए रवाना की गईं। इससे पहले मेडिकल टीम ने श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच कर प्रमाणपत्र दिए। प्रशासन ने सभी के लिए भोजन की व्यवस्था भी की। इनमें कई मजदूर महाराष्ट्र के शहरों से घर की ओर निकले थे। इधर, जिले में गुरुवार को दो और कोरोना पाजिटिव मरीज पाए गए। यहां संक्रमितों की संख्या 3 हो गई। ये दोनों लोग पहले संक्रमित पाए गए भटपुरा निवासी युवक के परिवार के सदस्य हैं। 

सिवनी : 3 मई तक बढ़ाया गया कर्फ्यू
जिले में कोरोना की रोकथाम के लिए आगामी 3 मई तक कर्फ्यू बढ़ाया गया। कलेक्टर प्रवीण सिंह ने बताया कि इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड विधान की धारा 188 अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आएगा।

जबलपुर: दो और कोरोना संक्रमित मरीज मिले
जबलपुर में गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव दो नए मरीज मिले। इनमें एक पुरूष और एक युवती शामिल हैं। यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 87 हो गई। आईसीएमआर लैब से आज शाम 85 सैम्पल की रिपोर्ट मिली। उधर, मेडिकल कॉलेज में भर्ती दो कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया। अब तक 9 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जबकि एक का मौत के बाद लिया गया सैंपल पॉजिटिव पाया गया।

रीवा में एक डॉक्टर और उनके दो परिजन के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इलाके को सील कर दिया गया। यहां पर डॉक्टरों की टीम को फेस शील्ड देकर सर्वे के लिए लगाया गया। 

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमितों की संख्या 2625 : इंदौर 1486, भोपाल 508, उज्जैन 138, जबलपुर 85, खरगोन 70, धार 48, खंडवा 46, रायसेन 55, होशंगाबाद 35, बड़वानी 26, देवास 24, रतलाम में 14, मुरैना-विदिशा में 13-13, आगर मालवा 12, मंदसौर 9, शाजापुर 6, सागर और छिंदवाड़ा 5-5, ग्वालियर और श्योपुर 4-4, अलीराजपुर-शहडोल में 3-3, रीवा-शिवपुरी और टीकमगढ़ में 2-2, बैतूल, डिंडोरी, हरदा, बुरहानपुर, अशोकनगर एक-एक संक्रमित मिला। अन्य राज्य के 2 मरीज हैं।

  • अब तक 130 की मौत: इंदौर 68, उज्जैन 24, भोपाल 15, खरगोन और देवास में 7-7, खंडवा 4, होशंगाबाद में 3, रायसेन और मंदसौर 2-2, धार, जबलपुर, आगर मालवा, छिंदवाड़ा, अशोकनगर में एक-एक की मौत हो गई।
  • स्वस्थ्य हुए 512 मरीज: इंदौर 177, भोपाल 223, मुरैना और विदिशा 13-13, खरगोन 22, खंडवा 31, बड़वानी और होशंगाबाद 14-14, जबलपुर 9, उज्जैन 5, देवास में 7, शाजापुर, ग्वालियर, श्योपुर 4, छिंदवाड़ा और शिवपुरी 2-2, रायसेन और सागर में एक-एक मरीज स्वस्थ हुआ।  (स्वास्थ्य विभाग द्वारा 30 अप्रैल को जारी बुलेटिन के अनुसार)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *