इंदौर, भोपाल, उज्जैन और खरगोन में लॉकडाउन बढ़ना तय; संक्रमण रोकने के लिए सरकार केरल मॉडल लागू कर सकती है

  • सरकार के सूत्रों का कहना है कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अन्य जिलों में भी लॉकडाउन फेज-3 लागू किया जा सकता
  • आज से रमजान का महीना शुरू होता है तो बाजारों में भीड़ बढ़ने की आशंका, घरों से नमाज और तरावीह पढ़ने की अपील

भोपाल. मध्यप्रदेश में लॉकडाउन फेज-2 का शुक्रवार को दसवां दिन है। राज्य में संक्रमित मरीजों की बढ़ती जा रही है। अब तक 1698 संक्रमित सामने आ चुके हैं। इसे देखते हुए शिवराज सरकार संक्रमण रोकने के लिए केरल मॉडल पर विचार कर रही है। इसको लेकर प्रदेश के डॉक्टर्स और वरिष्ठ अधिकारियों ने केरल के अधिकारियों से बात की। राज्य में इंदौर, भोपाल, उज्जैन और खरगोन सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। 

मुस्लिम समाज के सभी धर्मगुरुओं ने रमजान में नमाज और तरावीह घर पर ही पढ़ने की अपील की है। ये भी बताया जा रहा है कि सरकार रमजान के चलते मुस्लिम बाहुल्य बस्तियों में लोगों को खरीदारी करने की कुछ छूट दे सकती है। लेकिन, मस्जिदों में नमाज और तरावीह पढ़ने की छूट नहीं दी जाएगी। 

क्या है केरल मॉडल

कोरोना से जंग में देशभर में केरल मॉडल की चर्चा हो रही है। केरल के कासरगोड में कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आए थे। कासरगोड में 31 मार्च तक कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 106 हो गई थी। 6 अप्रैल को संक्रमित लोगों की संख्या 164 थी। इसके बाद 10 दिनों में केवल 14 मामले सामने आए। संक्रमण रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के लॉकडाउन की तर्ज पर बंद के लिए तीन तरह के कदम उठाए गए।

  • पहला- विदेशों से, खासकर खाड़ी देशों से आए 19 संक्रमित लोगों के सीधे और परोक्ष रूप से संपर्क में आए लोगों को पूरी तरह से आइसोलेट करने के अभियान के तहत कदम उठाए गए। पुलिस व्यवस्था के पारंपरिक तरीके अपनाए गए। जैसे- सड़क को बंद किया गया, हर जगह गश्त बढ़ा दी गई। इस तरह  लोगों को घरों से निकलने से रोकने में कामयाब रहे। 
  • दूसरा- सभी संक्रमित मामले, घर पर क्वारैंटाइन में भेजे गए लोग, दूसरे देशों से आए सभी लोगों और संक्रमित लोगों के सीधे या परोक्ष रूप से संपर्क में आए लोगों का स्थानीय तौर पर आंकड़ा तैयार किया गया। विदेश से आए जिन लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई, उन लोगों ने अपने किन रिश्तेदारों, दोस्तों से मुलाकात की, इसकी भी सूची बनाई गई।
  • तीसरा- तीसरे कदम के तहत घरों के बाहर पहरा लगाया गया। प्रभावित लोगों के 10-12 घरों तक के लिए पुलिस को गश्त पर तैनात किया। पुलिसकर्मी उनके पास जाकर घरों में रहने का महत्व समझाते थे। इसके अलावा, उनके संपर्क में आए लोगों की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। अब केरल में कोरोना कंट्रोल में है।

शिवराज ने कहा- 24 जिलों में एक भी कोरोना रोगी नहीं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश के 24 जिलों में एक भी कोरोना रोगी नहीं है। 14 जिलों में 10 से कम रोगी पाए गए। 14 जिलों में ही 15 से अधिक पॉजिटिव मरीज मिले हैं। प्रदेश में कुल 487 कंटेनमेंट एरिया बनाए गए हैं। कोरोना नियंत्रण का काम तेजी से हो रहा है। टेस्टिंग किट्स की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है। सीएम ने सभी जगह जरूरी सामान, राशन, पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में गठित आपदा प्रबंधन समूह की बैठक नियमित रूप से हों।

यह फोटो इंदौर के राजबाड़ा का है। यहां गुरुवार रात को लक्ष्मी मंदिर से कुछ दूर घंटों उल्लू बैठा देखा गया। 

कोरोना अपडेट्स: 

  • भोपाल: शहर में 25 नए पॉजिटिव मिले। एक मरीज की एम्स में मौत भी हो गई। भोपाल में कुल मौतों की संख्या आठ हो गई। बताया जा रहा है कि जिस मरीज की कोरोना से मौत हुई है, उसे पहले डेंगू था।
  •  इंदौर: शहर में गुरुवार को संक्रमितों की संख्या 1029 हो गई। यहां देर रात तक 84 नए मरीज सामने आए और दो लोगों की जान चली गई।
  • उज्जैन: यहां 42 नए संक्रमित मिले और तीन मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पिछले तीन दिन में 56 पॉजिटिव मरीज मिले। अब तक जिले में 102 लोग संक्रमित मिल चुके। इनमें 4 ठीक हो गए। 11 की मौत हो गई है।
राजधानी भोपाल के सबसे संक्रमित इलाके जहांगीराबाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम बीते आठ दिन से लगातार सर्वे कर रही हैं।

प्रदेश में कुल 1698 संक्रमित : इंदौर 945, भोपाल 323, उज्जैन 87, खरगोन 51, धार 36, खंडवा 35, जबलपुर 30,  रायसेन और होशंगाबाद 26-26, बड़वानी 24, देवास 21, मुरैना 16, विदिशा 13, रतलाम 12, आगर मालवा 11, मंदसौर 8, शाजापुर 6, सागर 5, छिंदवाड़ा, ग्वालियर और श्योपुर 4-4, अलीराजपुर 3, शिवपुरी और टीकमगढ़ 2-2, बैतूल में एक-एक संक्रमित है। 3 अन्य राज्य के संक्रमित मिले।

  • अब तक 203 लोग स्वस्थ्य हुए: इंदौर में 82, भोपाल में 73, खरगोन 7, उज्जैन 5, खंडवा 8, जबलपुर 6, मुरैना 14, ग्वालियर और शिवपुरी 2-2, विदिशा, शाजापुर, रायसेन, होशंगाबाद में एक-एक स्वस्थ होकर घर भेजे गए।
  • अब तक 84 की मौत: इंदौर 53, उज्जैन 8, भोपाल 7, देवास 6, खरगोन 5, आगर-मालवा, जबलपुर, धार, मंदसौर और छिंदवाड़ा में एक-एक की मौत हुई। (स्वास्थ्य विभाग के 23 अप्रैल को दोपहर 3 बजे जारी बुलेटिन के अनुसार)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *