मार्क जुकरबर्ग की मदद के बदौलत मुकेश अंबानी फिर बने एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन, जैक मा को पीछे छोड़ा

  • इस निवेश के बाद जियो में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99% हो जाएगी
  • मुकेश अंबानी की संपत्ति जैक मा से 3 अरब डॉलर ज्यादा हुई

मुंबई. मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो और मार्क जुकरबर्ग की कंपनी फेसबुक में पार्टनरशिप के बाद अंबानी एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। उन्होंने अलीबाबा के संस्थापक जैक मा को पीछे छोड़ दिया है। फेसबुक के साथ हुई डील के बाद अंबानी की संपत्ति 4 अरब डॉलर बढ़कर 49.5 अरब डॉलर (लगभग 3.77 लाख करोड़ रुपए) हो गई है। बता दें कि फेसबुक मुकेश अंबानी की जियो में 43,574 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इस निवेश के बाद जियो में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99% हो जाएगी। 

जैक मा से 3 अरब डॉलर ज्यादा हुई अंबानी की संपत्ति
मुकेश अंबानी ने अब तक एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन रहे जैक मा को पीछो छोड़ा है। जैक मा के मुकाबले अंबानी की संपत्ति 3 अरब डॉलर ज्यादा हो गई है। ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार, 21 अप्रैल तक मुकेश अंबानी की वेल्थ 14 अरब डॉलर तक गिर गई थी। वहीं मंगलवार को जैक मा की वेल्थ में 1 अरब डॉलर की कमी आई थी।

रिलायंस के शेयरों में जबरदस्त उछाल
फेसबुक के साथ डील की खबरों के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में बुधवार को शानदार उछाल देखने को मिली। एक समय तो 11 फीसदी ऊपर 1375 रुपए पर कारोबार कर रहा था। कारोबार बंद होते समय आरआईएल का शेयर 9.83 फीसदी ऊपर 1359 रुपए पर जाकर बंद हुए। सिर्फ बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप में 90,000 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ था।

भारत की किसी कंपनी में अल्पमत हिस्सेदारी के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा एफडीआई है। जियो प्लेटफॉर्म के लिए प्री मनी एंटरप्राइज वैल्यू करीब 66 अरब डॉलर होगी। निवेश के बाद जियो प्लेटफॉर्म की वैल्यू 4.62 लाख करोड़ हो जाएगी। इस पार्टनरशिप से लोगों और बिजनेस के लिए बड़े मौके पैदा होंगे।

भारत को ‘डिजिटल दुनिया’ के शिखर तक पहुंचा का सपना होगा सच: अंबानी
फेसबुक के साथ पार्टनरशिप पर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा, “2016 में जब हमने जियो की शुरुआत की थी तो हमने एक सपना देखा था। ये सपना था भारत के ‘डिजिटल सर्वोदय’ का। ये सपना था भारत में एक ऐसी समावेशी डिजिटल क्रांति का जिससे हर भारतीय की जिंदगी बेहतर हो सके। सपना, एक ऐसी क्रांति का जो उसे ‘डिजिटल दुनिया’ के शिखर तक पहुंचा सके। इसलिए भारत के डिजिटल इकोसिस्टम को विकसित करने और बदलने के लिए हम अपने दीर्घकालिक साझेदार के रूप में फेसबुक का स्वागत करते हैं। जियो और फेसबुक के बीच तालमेल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने में मदद करेगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *