अब तक 1 लाख 77 हजार मौतें: संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी- महामारी के कारण अकाल का खतरा; अमेरिकी राज्य मिसौरी ने चीन पर केस किया

  • अमेरिका में एक दिन में संक्रमण का 25 हजार 985 मामला सामने आया, यहां अब तक 8 लाख से ज्यादा केस मिले
  • इस बात की पूरी संभावना है कि अगली सर्दियों में हम फिर से इस महामारी की चपेट में होंगे: सीडीसी

वॉशिंगटन. कोरोनावायरस से दुनिया में अब तक 25 लाख 56 हजार 725 संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 77 हजार 618 की मौत हो चुकी है, जबकि छह लाख 90 हजार 329 ठीक हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि महामारी की वजह से दुनिया के कई देशों में आकाल पड़ने का खतरा है। विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) के प्रमुख डेविड बेस्ले ने कहा कि विकासशील देशों के 30 से ज्यादा देशों में व्यापक अकाल को रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए। इस संकट की वजह से लगभग 26.5 करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर होंगे। डब्ल्यूएफपी का कहना है कि संघर्ष, आर्थिक संकट और जलवायु परिवर्तन से प्रभावित 10 देशों में सबसे ज्यादा खतरा है। उधर, अमेरिकी राज्य मिसौरी ने कोरोना को लेकर चीन पर सिविल केस दर्ज किया है। राष्ट्रपति ट्रम्प भी इसके लिए लगातार चीन पर हमला कर रहे हैं।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देशकितने संक्रमितकितनी मौतेंकितने ठीक हुए
अमेरिका8 लाख 18 हजार 74445 हजार 31882 हजार 923
स्पेन2 लाख 4 हजार 17821 हजार 28282 हजार 514
इटली 1 लाख 83 हजार 95724 हजार 64851 हजार 600
फ्रांस1 लाख 58 हजार 05020 हजार 79639 हजार 181
जर्मनी1 लाख 48 हजार 4535 हजार 08695 हजार 200
ब्रिटेन1 लाख 26 हजार 04417 हजार 337उपलब्ध नहीं
तुर्की 95 हजार 5912 हजार 25914 हजार 918
ईरान84 हजार 8025 हजार 29760 हजार 965
चीन 82 हजार 7884 हजार 63277 हजार 151
रूस47 हजार 1214563 हजार 873

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

कुछ महीनों में हमारे सामने अकाल जैसी समस्या होगी: डब्ल्यूएफपी

फूड क्राइसिस की चौथी वार्षिक वैश्विक रिपोर्ट में यमन, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य, अफगानिस्तान, वेनेजुएला, इथियोपिया, दक्षिण सूडान, सूडान, सीरिया, नाइजीरिया और हैती को शामिल किया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल दक्षिण सूडान में 61% आबादी खाद्य संकट से प्रभावित थी। महामारी से पहले से पूर्वी अफ्रीका और दक्षिण एशिया के कुछ हिस्सों में पहले से ही सूखे के कारण गंभीर खाद्य संकट था। एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को संबोधित करते हुए बेस्ले ने कहा कि दुनिया को बुद्धिमानी से और तेजी से काम करना होगा। सच्चाई यह है कि हमारे पास ज्यादा वक्त नहीं है, कुछ महीनों में ही हमारे सामने अकाल जैसी समस्या होगी।

अमेरिका: दूसरी लहर ज्यादा विनाशकारी होगी: सीडीसी
अमेरिका में 24 घंटे में 2,804 लोगों की जान गई है और 25,985 केस सामने आए हैं। यहां मौतों का आंकड़ा 45 हजार से ज्यादा हो गया है। वहीं संक्रमितों की संख्या आठ लाख 18 हजार 744 हो चुकी है। इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि अमेरिका में विदेशियों के बसने पर रोक के आदेश पर जल्द ही हस्ताक्षर करूंगा। देश में 60 दिनों तक प्रवासियों के आने पर प्रतिबंध रहेगा। वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के डायरेक्टर रॉबर्ट रेडफिल्ड ने मंगलवार को चेतावनी दी कि कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा विनाशकारी होगी। क्योंकि हम फ्लू की महामारी और कोरोना दोनों से एक ही वक्त पर जूझ रहे होंगे। उन्होंने कहा कि इस बात की पूरी संभावना है कि अगली सर्दियों में हम फिर से इस महामारी की चपेट में होंगे।

  • ट्रम्प ने कहा- इमिग्रेशन के नियमों में वे कुछ छूट भी देंगे। यह अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर निर्भर करेगा कि यहां स्थाई तौर पर बसने आने वालों पर 60 दिन के बाद भी प्रतिबंध बढ़ाएंगे या नहीं। जरूरत पड़ने पर इसे 30 दिनों के लिए या ज्यादा समय के लिए भी बढ़ाया जा सकता है।
  • उन्होंने अस्थाई प्रतिबंध लगान के कारणों को स्पष्ट करते हुए कहा- अमरिका को पहले अपने कामगारों का ध्यान रखना होगा। कोरोना संकट के कारण लाखों अमेरिकियों ने नौकरी गंवा दी है। उनके साथ कभी अन्याय नहीं होगा।
  • ट्रम्प ने कहा- महमारी ऐसे समय में फैला जब अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर चल रहा था। चीन पर उनके जैसी सख्ती किसी ने नहीं दिखाई। फिर पता नहीं अचानक से ये अदृश्य दुश्मन कहां से आ गया।
अमेरिका: लॉस एंजिल्स में फायर डिपार्टमेंट द्वारा बेघरों के लिए बनाए गए टेस्टिंग सेंटर में जांच कराता युवक। यहां 8 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं।

सीनेट में 480 अरब डॉलर का राहत पैकज पास

अमेरिकी सीनेट में 480 अरब डॉलर के आपातकालीन पैकेज को मंजूरी दे दी गई है। इसे कोरोना संकट के दौरान नुकसान उठा रहे छोटे व्यापारियों, अस्पतालों और देशभर में हो रहे टेस्टिंग पर खर्च किया जाएगा। सीनेट में यह डेमोक्रेट, रिपब्लिकन और व्हाइट हाउस के बीच एक सप्ताह से ज्यादा समय तक बातचीत के बाद सर्वसम्मति से पारित हुआ। अब गुरुवार को हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव (प्रतिनिधि सभा) में वोटिंग होगी। इस पर ट्रम्प ने कहा कि राहत पैकेज से संघर्ष कर रहे कामगारों को राहत मिलेगी। हम इस महामारी के खिलाफ जमीनी स्तर पर लडाई जारी रखेंगे।

कनाडा: अब तक 1,834 मौतें

कनाडा में मंगलवार को एक हजार नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की कुल संख्या 38,422 हो गई है। यहां अब तक 1,834 जान जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले क्यूबेक (20,126) और ओंटारियो (11,735) प्रांतों में है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने 11 मार्च को कोरोना को महामारी घोषित किया था।

कनाडा: कैनेडियन सशस्त्र बलों के स्वास्थ्यकर्मी मॉन्ट्रियल में विला वैल डेस एरब्रिज पहुंचे। यह वरिष्ठ नागरिकों का देखभाल केंद्र है।

जर्मनी: बर्लिन मैराथन स्थगित
जर्मनी सरकार के भीड़ इकट्ठा करने पर प्रतिबंध के कारण इस साल 27 सितंबर को होने वाले बर्लिन मैराथन को स्थगित करने का फैसला किया है। आयोजकों ने बिना किसी नई तारीख के इसके स्थगित होने की घोषणा की। अधिकारियों ने बयान जारी कर कहा, “हमें पता चला है कि 24 अक्टूबर तक 5,000 से ज्यादा भीड़ वाले किसी भी इवेंट को कराने की मनाही है। इस कारण हम 26-27 सितंबर को होने वाले बर्लिन मैराथन का आयोजन नहीं कर पाएंगे।” यहां अब तक एक लाक 48 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं, जबकि 5,086 की मौत हो चुकी है।

जर्मनी: ड्रेसडेन के नेउमरकट में तैनात पुलिस अधिकारी। यहां भी मौतों का आंकड़ा 5,086 हो गया है।

सऊदी अरब: लॉकडाउन में राहत देने पर विचार
बीबीसी के मुताबिक, सऊदी अरब सरकार रमजान की वजह से लॉकडाउन में राहत देने पर विचार कर रही है। सरकार ने सोमवार रात पवित्र स्थलों मक्का और मदीना में नमाज के लिए भी रहत दे दी। यहां अब तक 11 हजार 631 संक्रमित हैं, जबकि 109 लोगों की मौत हो चुकी है।

चीन: 30 नए मामले सामने आए
चीन में मंगलवार को 30 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 23 मामले बाहर के हैं। चीन स्वास्थ प्रशासन ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि अन्य सात मामले घरेलू हैं। हिलोंगजियांग प्रांत में कोई मामला सामने नहीं आया है। यहां मंगलवार को एक भी मौत का मामला सामना नहीं आया है।

चीन: बीजिंग में चौराहे पर डांस करते कपल। दश के कई शहरों में स्थिति बेहतर हो रही है।

रूस: मॉस्को में 24 घंटों में 28 की मौत
रूस की राजधानी मॉस्को में 24 घंटों में 28 लोगों की मौत हो गई। इससे यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 261 पहुंच गया है। मॉस्को में कोरोना के 29,430 मामलों की पुष्टि हुई है। यहां 2,050 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं। रूस में कुल 52,700 मामले सामने आए हैं। 456 लोगों की मौत हुई है, जबकि 3870 मरीज ठीक हुए हैं।

रूस: मिलिट्री मेडिकल एकेडमी के कैडेट्स सेंटपिटसबर्ग में एकेडमी के हॉस्टल से बाहर निकलते हुए। देश में 52 हजार से ज्यादा लोग सक्रमित हो चुके हैं।

ब्राजील: अब तक 2741 की जान गई
ब्राजील में 24 घंटे में 166 लोगों की मौत हुई, जबकि 2,500 नए केस सामने आए हैं। यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 2,741 पहुंच गया। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि देश में कोरोना के 43,079 संक्रमित मामले हैं। ‘द ब्राजीलियन रिपोर्ट’ के मुतबिक, नौ दिनों में संक्रमण का आंकड़ा यहां दोगुना हो गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वीकार किया है कि मौतों की वास्तविक संख्या ज्यादा भी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *