अब तक एक लाख 19 हजार मौतें: डब्ल्यूएचओ ने कहा- कोरोना स्वाइन फ्लू से 10 गुना घातक; सरकारों को कोई भी प्रतिबंध अचानक नहीं हटाने चाहिए

  • श्रीलंका, ब्रिटेन समेत 47 देशों में कोरोनावायरस के चलते चुनाव टले, लेकिन दक्षिण कोरिया में कल मतदान
  • अमेरिका में कोरोना से अब तक 23 हजार 640 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि संक्रमण के मामले पांच लाख 86 हजार से ज्यादा हो गए हैं

वॉशिंगटन. दुनियाभर में कोरोनावायरस से अब तक 19 लाख 24 हजार 635 संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 19  हजार 686 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, चार लाख 44 हजार 836 ठीक भी हुए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोनावायरस को स्वाइन फ्लू से 10 गुना घातक बताया है। साथ ही सरकारों को लॉकडाउन या अन्य प्रतिबंध अचानक न हटाने की सलाह दी है। संगठन के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस एडहोनम गेब्रियेसस ने सोमवार को कहा कि संक्रमितों की स्वाइन फ्लू के मुकाबले 10 गुना ज्यादा मौतें हो रही हैं। यह भीड़-भाड़ वाले इलाकों में ज्यादा तेजी से फैलता है और इसका संक्रमण रोकने के लिए संक्रमित लोगों का पता लगाना, जांच और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति की पहचान जरूरी है।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देशकितने संक्रमितकितनी मौतेंकितने ठीक हुए
अमेरिका5 लाख 86 हजार 94123 हजार 64036 हजार 948
स्पेन1 लाख 70 हजार 09917 हजार 75664 हजार 727
इटली 1 लाख 59 हजार 51620 हजार 465 35 हजार 435
फ्रांस1 लाख 36 हजार 779 14 हजार 96727 हजार 718
जर्मनी1 लाख 30 हजार 0723 हजार 194 64 हजार 300
ब्रिटेन88 हजार 62111 हजार 329उपलब्ध नहीं
चीन82 हजार 2493 हजार 34177 हजार 738
ईरान73 हजार 3034 हजार 58545 हजार 983
तुर्की 61हजार 049    1 हजार 2963 हजार 957
बेल्जियम30 हजार 5893 हजार 9036 हजार 707

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus/

अमेरिका: न्यूयॉर्क में 10 हजार से ज्यादा मौतें
अमेरिका में कोरोनावायरस से अब तक 23 हजार 640 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें केवल न्यूयॉर्क में 10 हजार से ज्यादा जान गई है। वहीं, देश में संक्रमण के मामले पांच लाख 86 हजार से ज्यादा हो गए हैं। वहीं, न्यूयॉर्क में एक लाख 95 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं। अमेरिका में सोमवार को 1,535 लोगों की मौत हुई, जबकि संक्रमण के 26 हजार 641 नए मामले सामने आए।

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को कोरोनावायरस के कवरेज को लेकर मीडिया पर भड़के नजर आए। उन्होंने सीबीएस चैनल की रिपोर्टर पाउला रीड के एक सवाल पर कहा कि आप झूठी हैं और आपका पूरा कवरेज फर्जी है।
  • पाउला रीड ने व्हाइट हाउस टास्क फोर्स की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रम्प से पूछा कि फरवरी महीने में कोरोना से लड़ने के लिए आपने क्या कदम उठाए। पहले ट्रम्प इस सवाल का जवाब देने से इनकार करते रहे, लेकिन अंत में भड़क गए।
  • ट्रम्प ने कहा- पिछले कुछ दिनों में देश में नए मामलों में कमी आई है। इसकी जानकारी न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी, मिशिगन और लुइसियाना जैसे इस कोरोना के हॉटस्पॉट में अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या से मिली है।
  • उन्होंने कहा- ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि अमेरिकी गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं। पहले एक लाख से ज्यादा मौत की बात कही जा रही थी, लेकिन यह संख्या कम ही रहेगी।
  • डॉ. एंथोनी फॉसी ने भी ट्रम्प के बयान का समर्थन किया और कहा कि संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है।
  • उन्होंने रविवार को उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि पहले से तैयारी की गई होती तो इतनी मौतें नहीं हुई होती। इसमें शब्दों का चयन सही नहीं था।
  • सीएनएन के मुताबिक, प्रवक्ता जिम लॉन्ग ने बताया कि न्यूयॉर्क के फायर डिपार्टमेंट ने कोरोना के नए मामलों की आज एक भी रिपोर्ट नहीं दी है। जब से यहां कोरोना का प्रसार शुरू हुआ है तब से ऐसा पहली बार हुआ है।

ब्रिटेन: सात मई तक लॉकडाउन

कोरोना की रोकथाम के लिए ब्रिटेन में लागू लॉकडाउन की अवधि सात मई तक बढ़ाई जाएगी। टाइम्स अखबार की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन के विदेश मंत्री और मौजूदा कार्यवाहक प्रधानमंत्री डोमिनिक रॉब गुरुवार को इसकी घोषणा करेंगे। डोमिनिक ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉन के अस्वस्थ होने के कारण कार्यवाहक प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। जॉनसन कोरोना संक्रमित थे और हाल ही में उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली है। जॉनसन संक्रमण के प्रसार को देखते हुए 23 मार्च को सोशल डिस्टेंसिंग समेत कई एहतियाती कदम उठाए जाने की घोषणा की थी। इस समय में ब्रिटेन में जरूरी सामानों की खरीदारी, मेडिकल अप्वाइंटेंट, काम और व्ययाम करने के लिए एक घर से सिर्फ एक ही व्यक्ति एक दिन में बाहर निकल सकता है। यहां सोमवार को 717 लोगों की मौत हुई, जबकि चार हजार 342 नए मामले सामने आए।

इटली: मौतों का आंकड़ा 20 हजार के पार

इटली में सोमवार को 566 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही देश में कुल मौतें 20 हजार 465 हो गई। अमेरिका के बाद इटली दूसरा देश हैं, जहां 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई है। एक दिन पहले यहां 466 लोगों ने दम तोड़ा था। वहीं, सोमवार को संक्रमण के 3,153 नए मामले सामने आए। देश में अब संक्रमितों की संख्या एक लाख 59 हजार 516 हो गई है।

फ्रांस: 11 मई तक लॉकडाउन

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने सोमवार को कहा कि देश में कोरोनावायरस संक्रमण का असर कम होता दिख रहा है। हालांकि, यहां 11 मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। वहीं, फ्रांस गैर यूरोपीय देशों के साथ अपनी सीमाएं अगले आदेश तक बंद रखेगा। यहां सोमवार को 574 लोगों की मौत हुई और चार हजार 188 केस सामने आए। देश में अब तक एक लाख 36 हजार 779 संक्रमित हैं। जबकि 14 हजार 967 लोगों की जान जा चुकी है।

तुर्की: हजारों कैदियों को रिहा किया जाएगा

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, तुर्की सरकार की मीडिया ने बताया कि संक्रमण से बचाने के लिए देश में हजारों कैदियों को रिहा किया जाएगा। इसके लिए मंगलवार को संसद में कानून पास किया गया। हालांकि, जिस पर आतंकवाद के आरोप हैं, उन्हें इसमें शामिल नहीं किया जाएगा। इस कानून के तहत देश के लगभग 45 हजार कैदियों  को अस्थायी तौर पर रिहा किया जाएगा। इस बिल के समर्थन में 279 और विरोध में 51 सांसदों ने वोट किया। राष्ट्रपति रेजेप तैयप एर्दोआन की जस्टिस एंड डेवलपमेंट पार्टी ने बिल का समर्थन किया। इसमें आतंकवाद के आरोपों में जेल जाने वालों के अलावा यौन, नशीली दवाओं और हत्या के आरोप में बंद कैदियों को बाहर रखा गया है। देश में कोरोना से अब तक 1,296 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 61 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

द.कोरिया: 15 अप्रैल को चुनाव

सीएनएन के मुताबिक, कोरोनावायरस महामारी के बीच दक्षिण कोरिया में 15 अप्रैल को 300 सीटों पर चुनाव होने वाला है। चुनाव को लेकर राजधानी सियोल में लोगों की भीड़ देखी जा रही है। द.कोरिया में कभी भी चुनाव स्थगित नहीं हुआ है और कोरोनो भी इस पर रोक नहीं लगा रहा। श्रीलंका, ब्रिटेन और इथियोपिया समेत कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण लगभग 47 देशों ने चुनाव स्थगित कर दिए हैं। वहीं अमेरिका और न्यूजीलैंड अभी तय कर रहे हैं कि चुनाव की तिथि आगे बढ़ाई जाए या नहीं। दक्षिण कोरिया में कुछ दिन पहले से ही चुनाव कराए जा रहे हैं, ताकि वे लोग वोट कर सके जो मतदान के दिन नहीं डाल सकते। यहां यह व्यवस्था 2013 में शुरू की गई थी।

  • ब्रिटेन में मई में स्थानीय चुनाव होने वाले थे।
  • श्रीलंका में 25 अप्रैल को संसदीय चुनाव होने थे।
  • फ्रांस में हुए स्थानीय चुनाव में 2014 की तुलना में 5% कम वोट पड़े
  • इथियोपिया में भी अगस्त में संसदीय चुनाव होने थे।

पुर्तगाल और स्पेन की सीमा 15 मई तक बंद

पुर्तगाल और स्पेन कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अपने देश की सीमा को 15 मई तक बंद रखने का फैसला लिया है। लुसा न्यूज एजेंसी ने पुर्तगाल के गृहमंत्री एडुआर्डो कैब्रिटा के हवाले से कहा, “स्पेन सरकार के समन्यव के साथ हमने उनके साथ लगने वाली सीमा पर सीमा नियंत्रण और प्रतिबंधों को एक महीना बढ़ाने की मंजूरी दी है। इस दौरान जरूरी सामानों को ले जाने वाले वाहन या जरूरी काम के लिए यात्रा करने वालों को ही सीमा पार करने की अनुमति होगी।’’ पुर्तगाल में अब तक कोरोनावायरस के 16 हजार 943 मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं 535 लोगों मौत हो चुकी है। पुर्तगाल में 24 घंटे के दौरान कोरोना के 349 नए मामले सामाने आए हैं।

ब्राजील: 23 हजार 430 लोग संक्रमित

ब्राजील में कोरोना से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 23,430 हो गई है। वहीं 1,328 लोगों ने इसके कारण जान गंवाई है। ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 24 घंटे के दौरान कोरोना से 1,261 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 105 लोगों की मौत हुई है। ब्राजील के दक्षिण-पूर्वी राज्य साउ पाउलो के साथ रियो डी जनेरियो, कीरा, अमाजोनस पेर्नाम्बुको और मिनास गेराइस में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार ब्राजील में इस समय प्रति 10 लाख व्यक्ति पर 111 व्यक्ति संक्रमण की चपेट में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *