वन विभाग का एसडीओ निकला करोड़पति, जांच में मिली ढाई करोड़ की संपत्ति

उमरिया/सतना। आय से अधिक संपत्ति मामले में रीवा लोकायुक्त ने शुक्रवार सुबह 6 बजे बांधवगढ़ टाइगर रिवर्ज के धमोखर रेंज में पदस्थ एसडीओ फॉरेस्ट सतीश श्रीवास्तव के उमरिया स्थित सरकारी आवास व सतना के निज निवास पर एकसाथ दबिश दी।
श्रीवास्तव के उमरिया आवास से ढाई लाख तो सतना के घर से साढ़े तीन लाख रुपए नकद मिले। अभी तक अलग-अलग बैंकों में एक करोड़ से ज्यादा की नकदी होने की जानकारी मिली है। इसके अलावा चार गाड़ियां, भारी मात्रा में सोना और कई मकान होने की भी जानकारी लोकायुक्त के हाथ लगी है।
हालांकि अभी मकानों के संबंध में जांच की जा रही है। कुल मिलाकर एसडीओ के पास से अभी तक ढाई करोड़ की संपत्ति मिली है। मामले में उनसे लगातार पूछताछ भी जारी है। लोकायुक्त एसपी ने बताया कि श्रीवास्तव के खिलाफ पिछले कई महीनों से लगातार शिकायतें मिल रही थीं।
शाम करीब 6 बजे तक लोकायुक्त टीम ने उमरिया और सतना के बैंकों में मौजूद श्रीवास्तव के सभी लॉकरों को सील कर दिया। कुछ लॉकर श्रीवास्ताव के खुद के नाम पर हैं तो कुछ पत्नी के नाम पर। यह सभी लॉकर बाद में खोले जाएंगे।
उमरिया में छापे के बाद लोकायुक्त की एक टीम एसडीओ की पत्नी को लेकर सतना गई। क्योंकि वहां कोई नहीं था। उनके वहां पहुंचने के बाद लोकायुक्त ने घर को खंगालने की कार्रवाई शुरू की। श्रीवास्तव की बेटी की शादी हो चुकी है और दोनों पति-पत्नी उमरिया में ही रहते हैं। सतना के आवास से साढ़े तीन लाख रुपए नकद के अतिरिक्त 12 लाख का सोना, 6 बैंकों में 8 लाख 14 हजार रुपए मिले हैं।
अलग-अलग बैंक खातों में एक करोड़ से अधिक की राशि जमा है। सबकुछ मिलाकर लगभग ढाई करोड़ की संपत्ति अभी तक मिली है। सतीश श्रीवास्तव के खिलाफ पिछले कुछ महीनों से लगातार शिकायतें मिल रही थीं।
राजेंद्र कुमार वर्मा, लोकयुक्त एसपी
सतना के घर पर व उमरिया स्थित सरकारी आवास पर कार्रवाई की गई है। अब तक की कार्रवाई में करीब ढाई करोड़ की संपत्ति का खुलासा हुआ है।
अरविंद तिवारी, निरीक्षक, लोकायुक्त रीवा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *