कोरोना संक्रमण के 12 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 5 स्वास्थ्यकर्मी और 7 पुलिसवाले, शहर के 63 इलाके सील

  • राजधानी में 34 स्वास्थ्यकर्मियों में संक्रमण फैला, 15 पुलिसकर्मी और उनके परिजन पॉजिटिव मिले
  • भोपाल में 63 स्थानों कैंटोनमेंट एरिया घोषित किया है, यहां के एक किमी के दायरे में आने-जाने पर पूरी पाबंदी

भोपाल. भोपाल में मंगलवार सुबह कोरोना संक्रमण के 12 नए केस सामने आए, इनमें 5 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी और 7 पुलिस कर्मचारी और उनके परिवार के लोग हैं। अब राजधानी में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर 75 हो गई है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के ही 34 केस सामने आए। सोमवार तक स्वास्थ्य विभाग के 29 संक्रमित थे। शाम तक ये आंकड़ा और बढ़ सकता है। सीएमएचओ डॉ. सुधीर डेहरिया ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह अपने घरों में ही रहें। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों को भर्ती किया जा रहा है। उनके परिवार में किसी को भी संक्रमण के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, वह तुरंत जांच कराएं और वह किस-किस से मिल चुके है, इसकी जानकारी दें ताकि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा सके और संक्रमण को रोका जा सके। पुलिस कर्मचारियों की संख्या भी 15 पहुंच गई है। 

पाॅजिटिव आने के दाे दिन बाद अस्पताल पहुंचे स्वास्थ्य विभाग के अफसर

भोपाल के 75 कोरोना पॉजिटिव में 34 उसी स्वास्थ्य विभाग के अफसर और कर्मचारी हैं, जिनके कंधों पर कोरोना से जंग की जिम्मेदारी है। चिंता की बात ये है कि दाे दिन पहले पाॅजिटिव रिपाेर्ट मिलने के बावजूद महकमे के कोरोना अफसर घर में बने रहने की जिद पर अड़े रहे। स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल, रुबी खान, उपसंचालक डॉ. वीणा सिन्हा और डॉ. उपेन्द्र दुबे की रिपोर्ट शनिवार को ही पॉजिटिव आ गई थी। फिर भी ये अस्पताल नहीं पहुंचे। जिला प्रशासन के अफसर दो दिनों से अस्पताल में शिफ्ट होने की मिन्नतें कर रहे, लेकिन ये तैयार नहीं हुए। पहले दिन इन्हाेंने घराें के बाहर काेराेना पाॅजिटिव पेशेंट का पाेस्टर भी नहीं लगने दिया। इन अफसरों के हठ से हारकर जिला प्रशासन ने मुख्य सचिव से गुहार लगाई। मिन्नतों और सख्ती के बाद सोमवार रात को प्रमुख सचिव गोविल और डॉ. सिन्हा बंसल अस्पताल में शिफ्ट हुईं। रुबी खान को चिरायु में शिफ्ट किया गया।

63 क्षेत्रों को कैंटोनमेंट एरिया घोषित किया  
कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही प्रशासन ने 22 नए कंटेनमेंट एरिया घोषित किए हैं। इनके साथ ही शहर में कंटेनमेंट एरिया की संख्या बढ़कर अब 63 हो गई। नए घोषित एरिया में बाग सेवनिया, रीगल होम्स खजूरीकलां, जानकी नगर चूना भट्टी, सलैया, पार्वती नगर कोलार, टीटी नगर पुलिस आवासीय परिसर के तीन मकान, जहांगीरबाद, 25वीं बटालियन, शिवाजी नगर, अशोका गार्डन, नुपूर कुंज, एसबीआई कॉलोनी जहांगीराबाद, नॉर्थ टीटी नगर, घरोंदा हाइट्स कोलार, ऋषि नगर चार इमली, अवधपुरी, 477 बाग सेवनिया, खनूजा इनक्लेव दाना पानी, रचना नगर और अमलतास फेज- शामिल हैं। इन एरिया में बाहरियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

सीएम ने कहा- उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई 

प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए टोटल लॉकडाउन हाेगा। कलेक्टर और एसपी अपने जिले में टोटल लॉक तय करें। आदेशों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई हो। अगर कोई कोरोना संक्रमण को छुपाता है या जांच में सहयोग नहीं करता तो यह गंभीर अपराध होगा। ऐसे लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करें और जेल भेजें। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान दिए।

271 पुलिस कर्मचारी ड्यूटी के बाद घर नहीं जा सकेंगे 

चार पुलिसकर्मियों और उनके परिवार के दो सदस्यों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं अब तक 15 पुलिसकर्मियों के कोराेना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। इसे देखते हुए भोपाल के तीन थानों के 271 पुलिसकर्मी अब घरों के बजाय होटल में रहेंगे। राजधानी में दो दिन में संक्रमित मरीजों की संख्या 18 से 63 पर पहुंच गई है। साेमवार को 22 नए कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किए गए। शहर में अब 63 कंटेनमेंट क्षेत्र हो चुके हैं, जहां आवाजाही पूरी तरह बंद कर दी गई है। 

मप्र में 273 कोरोना संक्रमित
मध्य प्रदेश में 273 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनमें इंदौर 151, भोपाल 75, मुरैना 12, जबलपुर 8, उज्जैन 11, खरगोन 4, बड़वानी 3, ग्वालियर, शिवपुरी और छिंदवाड़ा में 2-2, विदिशा-बैतूल, कटनी में एक-एक संक्रमित मिला। अब तक इंदौर में 10, उज्जैन में 4, भोपाल, छिंदवाड़ा, खरगोन में एक-एक की मौत हो गई। इसमें इंदौर 13, जबलपुर 3, भोपाल 2, शिवपुरी और ग्वालियर में एक-एक मरीज स्वस्थ्य होने पर घर भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *