अब तक 268 केस: इंदौर में सब्जी खरीदने पर जेल भेजा जाएगा, भोपाल में बाहर घूमने से रोकने पर पुलिसकर्मियों को चाकू मारे

  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन का पालन नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए
  • भिंड में कोरोना संदिग्ध क्रिकेट खिलाड़ी की मौत, प्रदेश में अब तक 16 लोगों की जान जा चुकी, 18 मरीज स्वस्थ होने पर भेजे गए

भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 268 हो गई है। प्रदेश में अब तक 14 मरीजों की मौत हुई है। उधर, भोपाल में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारी और पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने के मामले भी बढ़ रहे हैं। यहां मिले 75 मरीजों में 34 अकेले स्वास्थ्य विभाग के हैं। शहर में दो दिन से टोटल लॉकडाउन है। पुलिस पुराने शहर में गश्त कर लोगों को घरों में रहने की हिदायत दे रही है, लेकिन सोमवार रात बाहर घूम रहे कुछ लोगों ने दो पुलिसकर्मियों पर चाकू से हमला कर दिया। पुलिस आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई करेगी।

प्रदेशभर में टोटल लॉकडाउन का आदेश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन का पालन नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। संक्रमण रोकने के लिए सभी जिलों में टोटल लॉकडाउन का आदेश दिया गया है। अगर कोई कोरोना संक्रमण को छिपाता है या जांच में सहयोग नहीं करता तो यह गंभीर अपराध होगा। ऐसे लोगों को एफआईआर दर्ज कर और जेल भेजा जाएगा। भोपाल में टोटल लॉकडाउन होने से लोगों को जरूरी सामान मिलना बंद हो गया है। यहां किराना और दूध की सप्लाई भी बाधित हुई है।

इंदौर: आज से दुकानों, सब्जी ठेलों से खरीदारी की तो जेल जाएंगे
कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस मंगलवार से सख्ती करेगी। पुलिस की गाड़ियां शहर में घूमेंगी। जो व्यक्ति बिना काम बाहर घूमता मिलेगा, किराना की दुकान खुली रखेगा या सब्जियां बेचता मिलेगा, उसे गिरफ्तार किया जाएगा। महत्वपूर्ण बात यह है कि जो इन दुकानों या ठेलों से खरीदारी करेगा, उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। इसके लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने सांवेर रोड स्थित श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय के प्रथम तल को 30 दिन तक अस्थायी जेल घोषित किया है। किराना की दुकानें खोलने, सब्जियां बेचने पर पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है। शहर में 60 से ज्यादा लोगों पर कार्रवाई की है। तिलक नगर पुलिस ने भी कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर छह पर केस दर्ज किया। इंदौर में अब तक 151 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यहां महामारी से मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। एक अच्छी खबर भी आई। सोमवार को कोरोना से जंग जीतकर 11 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए।

उज्जैन: टीआई और महिला संक्रमित
उज्जैन में दो और मरीज कोरोना संक्रमित पाए हैं। इनमें नीलगंगा टीआई और 65 साल की महिला शामिल है। टीआई के अंबर कॉलोनी में ड्यूटी के दौरान संक्रमित होने की आशंका है। यहां कोरोना से संतोष वर्मा की मौत के बाद इस क्षेत्र को कोरोना प्रभावित क्षेत्र घोषित किया था। यहां पर टीआई की ड्यूटी थी। वहीं, दूसरी पॉजिटिव महिला की रविवार को इंदौर के एक निजी अस्पताल में मौत हो चुकी है। उसके परिवार के लोग 12 दिन पहले इंदौर में रिश्तेदार से मिलने गए थे। आशंका है कि वहीं से महिला संक्रमित हुई है क्योंकि जिस रिश्तेदार के यहां मिलने गए थे, वे भी पॉजिटिव पाए हैं। उज्जैन में अब 10 संक्रमित हो गए हैं। 

भोपाल और उज्जैन की कहानियां: जब अंतिम समय अपनों ने छोड़ा साथ…

कोरोना के चलते जीते जी तो छोड़िए मरने के बाद भी अपने साथ छोड़ने लगे हैं। उज्जैन की कोरोना पॉजिटिव सलमा बी (65) की मौत के बाद यही स्थिति बनी। कब्रिस्तान में उन्हें दफनाने के लिए कोई जाने को तैयार नहीं था। भतीजे ने एंबुलेंस के ड्राइवर व स्वीपर की मदद से शव को दफनाया। हैं। वहीं, भोपाल में मृतक नरेश खटीक का सोमवार सुबह अंतिम संस्कार हुआ। विडंबना यह रही है कि उनकी न अर्थी काे कंधा मिल सका, न कोई अंतिम क्रिया हो पाई। पत्नी विजया भी अंतिम दर्शन नहीं कर पाई। उन्हें नर्मदा अस्पताल से प्लास्टिक किट बैग में पैक डेथ बॉडी एम्बुलेंस से उतारते वक्त के चंद सेकंड के लिए दिखाई गई। इससे पहले छिंदवाड़ा में भी कोरोना संक्रमित की मौत के बाद परिजन अंतिम दर्शन तक नहीं कर सके थे। न ही कोई अर्थी को कंधा दे सका था।

पहली तस्वीर में उज्जैन में भतीजे ने एंबुलेंस के ड्राइवर और स्वीपर की मदद से शव को दफनाया। दूसरी तस्वीर में भोपाल के मरीज की अंतिम क्रिया में कोई परिजन नहीं पहुंचा।

खरगोन: सेंधवा के 3 पॉजिटिव मरीजों के साथ 25 लोगों ने यात्रा की थी
सऊदी अरब की धार्मिक यात्रा में खरगोन जिले से 25 यात्री शामिल हुए थे। ये लोग सेंधवा में कोरोना पॉजिटिव मिले मरीजों के साथ थे। सभी ने 15 दिन तक सफर में साथ खाना-पीना किया। यात्रा से 13 मार्च को लौट आए थे, लेकिन सेंधवा के 3 यात्रियों में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने से यहां हड़कंप है। रविवार को कसरावद के 3 यात्रियों के होम आइसोलेट होने के बाद यह खुलासा हुआ। इनकी हिस्ट्री लेने के बाद धीरे-धीरे खुलासा होता जा रहा है। जिले में सऊदी अरब से लौटे यात्रियों के आंकड़े बढ़ने की आशंका है। 

भिंड: युवा क्रिकेट खिलाड़ी की मौत, संक्रमण की आशंका
ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल लाए गए भिंड के युवा किक्रेट खिलाड़ी गौरव सिंह राजावत (24) की इलाज के दौरान मौत हो गई। उसे कोरोना संक्रमण होने की आशंका है। डॉक्टरों के मुताबिक, गौरव के प्लेटलेट काफी कम थे और वह कोमा में था। अभी गौरव के कोरोना सैंपल की जांच रिपोर्ट नहीं आई है। डॉक्टर आशंका व्यक्त कर रहे हैं कि दिमागी बुखार आने से माैत हुई है।

मुरैना: दुबई से लौटने की बात छिपाई तो मरीज पर केस
दुबई से लौटने के बाद खुद को होम क्वारैंटाइन में रखने के बजाय पारिवारिक कार्यक्रम करने वाले कोरोना पॉजिटिव के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। उसके संपर्क में आए जिन 16 लोगों के सैंपल 2 दिन पहले भेजे गए थे, उनमें से 9 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि 7 सैंपल खराब होने की वजह से दोबारा जांच के लिए ग्वालियर भेजे जाएंगे। सोमवार को संक्रमित युवक के रिश्तेदार और उसके संपर्क में आए 22 रिश्तेदारों को जिला अस्पताल में आइसोलेट किया गया।

मप्र में 268 कोरोना संक्रमित
मध्य प्रदेश में 268 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनमें इंदौर 151, भोपाल 75, मुरैना 12, जबलपुर 8, उज्जैन 8, खरगोन 4, बड़वानी 3, ग्वालियर, शिवपुरी और छिंदवाड़ा में 2-2, विदिशा में एक संक्रमित मिला। अब तक इंदौर में 10, उज्जैन में 3, भोपाल, छिंदवाड़ा, खरगोन में एक-एक की मौत हो गई। इसमें इंदौर 11, जबलपुर 3, भोपाल 2, शिवपुरी और ग्वालियर में एक-एक मरीज स्वस्थ्य होने पर घर भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *