भोपाल में एक आईएएस अफसर और 4 जमाती कोरोना पॉजिटिव मिले, इनमें 3 विदेशी; इंदौर में संक्रमण के सबसे ज्यादा 89 केस

  • मप्र में कोरोना के 120 केस, 8 मरीजों की मौत; इंदौर 5, उज्जैन 2 और खरगोन के एक की जान गई
  • मुरैना में पति-पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर कर्फ्यू, ग्वालियर में टोटल लॉकडाउन 4 अप्रैल तक बढ़ा

भोपाल. मध्य प्रदेश में कोरोना के अब तक 120 संक्रमित मिले हैं। इनमें से 89 मामले सिर्फ इंदौर में हैं। भोपाल और इंदौर में संक्रमितों की संख्या बढ़ने से सरकार यहां लॉकडाउन की अवधि नए नियमों के साथ बढ़ा सकती है। शुक्रवार को भोपाल में एक आईएएस अफसर और चार जमातियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें 3 जमाती म्यांमार और एक ओडिशा के भुवनेश्वर का है। मुरैना में पति-पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर यहां कर्फ्यू लगा दिया गया है। ग्वालियर में मंगलवार रात 12 बजे से लागू किए टोटल लॉकडाउन को 4 अप्रैल तक बढ़ाया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संकेत दिए हैं कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ चल रही लड़ाई का विरोध करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इंदौर में मेडिकल टीम पर हमला करने वालों पर रासुका के तहत केस दर्ज होगा। प्रदेश में अब तक इंदौर 89, भोपाल 9, जबलपुर 8 उज्जैन 6, खरगोन 1, ग्वालियर, शिवपुरी, मुरैना, 2-2, छिंदवाड़ा में एक संक्रमित मिला। जबकि इंदौर 5, उज्जैन 2, खरगोन 1 की मौत हो चुकी है।

भोपाल में गुरुवार को ऐशबाग की रहमानिया मस्जिद और श्यामल हिल्स की अहाता रुस्तम खां मस्जिद के एक किमी क्षेत्र को कैंटोनमेंट (कोविड-19 इन्फेक्टेड एरिया) घोषित कर दिया है। श्यामला हिल्स के कैंटोनमेंट दायरे में सीएम हाउस भी आता है। इसके आसपास का पूरा क्षेत्र प्रतिबंधित घोषित कर दिया है। हालांकि शहर में कोरोना पॉजिटिव के जो भी मामले मिले हैं वे पुराने शहर के ही हैं। इसी वजह से प्रशासन ने शहर को सात जोन में बांटकर लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया है।

हेल्थ कॉर्पोरेशन के एमडी जे विजय कुमार संक्रमित
मध्य प्रदेश हेल्थ कॉर्पोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर और मध्य प्रदेश आयुष्मान भारत निरामयम सोसायटी के सीईओ जे विजय कुमार की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि, इसकी पुष्टि करने के लिए दोबारा जांच कराई जा रही है। कुमार 2011 बैच के आईएएस अफसर हैं। मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, वे चार-पांच दिन पहले ही प्रदेश के बाहर यात्रा करके लौटे थे। वापस आकर उन्होंने चार्ज भी संभाल लिया था। हालांकि, बुधवार को उन्होंने काम से दूरी बना ली थी। तबीयत खराब होने पर जांच में कोरोना वायरस के लक्षण मिले। गुरुवार देर रात जेपी अस्पताल पहुंचे। उनके संपर्क में आए स्टाफ को भी क्वारैंटाइन होने के लिए कहा गया है। 


शब-ए-बारात पर घर में ही इबादत करें: शहर काजी
भोपाल के काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी ने कहा है कि कोरोना के चलते लॉकडाउन का फैसला हमारी रक्षा के लिए है। मेरी बंदों से अपील है कि मस्जिदों के बदले जुमे की नमाज घर में ही अदा करें। मस्जिदों में सिर्फ इमाम-मुअज्जिन नमाज अदा करेंगे। आपात स्थिति में ही घर से बाहर निकलें। नदवी ने कहा- कुछ दिन बाद शब-ए-बारात है। इस दिन भी सभी बंदे घर में रहकर इबादत करें। उन्होंने कहा- अपने पूर्वजों की आत्मा को स्वर्ग में श्रेष्ठ स्थान मिले, इसके लिए भी घर में रहकर इबादत और दुआ करें। उन्होंने तब्लीगी जमात विषय पर स्पष्ट किया कि भोपाल में लॉकडाउन के चलते जितनी भी जमातें ठहरी हैं, उनकी सूचना प्रशासन को दे दी गई है।

छिंदवाड़ा में पहला कोरोना पॉजिटिव मिला
छिंदवाड़ा में गुलाबरा में रहने वाला एक युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया। 36 साल का युवक इंदौर में वाणिज्य कर विभाग में तैनात है। 2 दिन पहले इलाज कराने के लिए गुलाबरा में अपनी बहन के घर रुका। इससे पहले दो दिन गुलाबरा, दो दिन लालबाग, दो दिन मालहन वाड़ा में बिताए। बताया गया कि युवक लॉकडाउन से पहले ही छिंदवाड़ा आ गया था और यहां 7 दिन छिंदवाड़ा में बिताए। प्रशासन युवक के संपर्क में आने वाले लोगों की जांच कर रहा है। इससे पहले छिंदवाड़ा से भेजे गए 9 सैंपल निगेटिव पाए गए थे। प्रशासन ने सभी तरह के आवागमन पर पूरी तरह रोक लगाई है।  


मुरैना में 2 पॉजिटिव मिलने पर कर्फ्यू लगा

मुरैना में गुरुवार को दो लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से ग्वालियर-चंबल संभाग में संक्रमित लोगों की संख्या 6 हो गई। इससे पहले ग्वालियर और शिवपुरी में ऐसे 2-2 मामले पहले ही सामने आ चुके हैं। मुरैना में संक्रमित मिले लोगों में 17 मार्च को दुबई से लौटा युवक और उसकी पत्नी शामिल है। इन दोनों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। इसके साथ ही जहां ये लोग रहते थे, वहां पूरी कॉलोनी को सील कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि युवक ने दुबई से लौटकर कॉलोनी के लोगों और रिश्तेदारों को भोज दिया था। कलेक्टर ने यहां शुक्रवार सुबह 6 बजे से गैरमियादी कर्फ्यू घोषित किया है। इस दौरान शहर में 5 मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे।

मुरैना में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कोरना से बचाव का संदेश देती लड़कियां।

ग्वालियर में अब 4 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन

ग्वालियर में दो दिन के टोटल लॉकडाउन के बाद प्रशासन ने अगले दो दिन और यानी 4 अप्रैल रात 12 बजे तक इसे बढ़ा दिया है। अगले दो दिन भी किराना दुकानें और सब्जी मंडी नहीं खुलेंगी। दूध का वितरण तीन घंटे सुबह 6 से 9 बजे तक होगा। दवा और पेट्रोल अलग-अलग क्षेत्र के कुछ चुनिंदा स्थानों पर ही मिलेगा। वहीं, दिल्ली से ग्वालियर आए तब्लीगी जमात वाले फरीदाबाद के 11 लोग शहर में 80 लोगों से लगातार संपर्क में रहे। अवाडपुरा की आयशा मस्जिद में ठहरने के दौरान इनका कई लोगों के घर में रुकने से लेकर खाना-पीना तक हुआ। पुलिस ने इनकी पूरी चेन तलाश कर ऐसे 80 लोगों की सूची गुरुवार को तैयार की। इन सभी से संपर्क किया। इनमें से 43 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया, जबकि चार लोग घर से गायब हो गए।

ग्वालियर की क्षत्री सब्जी मंडी तीन दिन से बंद है।

अशोकनगर : दूसरे जमाती का पता चला, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
निजामुद्दीन मरकज की जमात में शामिल होकर आया दूसरा जमाती मिल गया। गुरुवार को चंदेरी निवासी इस व्यक्ति की जानकारी लगते ही प्रशासन और पुलिस ने उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया। वहीं, जमाती के संपर्क में रहे 11 अन्य लोगों को क्वारैंटाइन में जिला अस्पताल के नर्सिंग हॉस्टल में रखा जाएगा। बताया गया कि जमाती 18 मार्च को निजामुद्दीन से लौटकर घर में ही रह रहे थे। कुछ दिन पहले नईसराय थाने के ज्ञानपुर गांव के आमिर खान का नाम आते ही प्रशासन अलर्ट हुआ। जब उसकी मोबाइल लोकेशन चेक की तो वह दिल्ली से वापस नहीं लौटना पाया। लेकिन गुरुवार को फिर प्रशासन और पुलिस सकते में आ गया, जब चंदेरी निवासी अब्दुल हाफिज का नाम सामने आया। अब्दुल 18 मार्च को निजामुद्दीन से लौटकर घर में रह रहा था। 


इंदौर से चुपचाप भिंड पहुंचे, अब क्वारैंटाइन में

कोरोना संक्रमण को लेकर प्रदेश में हाई रिस्क जोन में चल रहे इंदौर से दो दिन पहले भिंड आए लोगों ने प्रशासन को इसकी सूचना नहीं दी। गुरुवार को जब पता चला तो इन्हें जिला अस्पताल लाया गया। यहां स्क्रीनिंग के बाद अस्पताल में ही क्वारैंटाइन किया गया। हालांकि इनमें अभी कोरोना से संबंधित लक्षण नहीं मिले। एक दिन पहले भी जिला प्रशासन ने अटेर और लहार से 33 तब्लीगी जमात के लोगों को पकड़कर उनकी जांच की थी। इनके द्वारा भी प्रशासन को सूचना नहीं दी गई थी। प्रशासन भी ऐसे लोगों पर कार्रवाई नहीं कर रहा है।

भिंड में उत्तर प्रदेश से पैदल आ रहे परिवार तेज धूप में पेड़ की छाया में आराम करते देखे गए। 

खजुराहो: 33 में से 11 विदेशी पर्यटकों को गाड़ियों से दिल्ली भेजा

लॉकडाउन के कारण खजुराहो घूमने आए 33 विदेशी पर्यटक फंस गए थे। इन सभी की थर्मल स्कैनिंग के बाद 14 दिन के क्वारैंटाइन में रखा गया था। इन 33 पर्यटकों में से 11 पर्यटकों को वाहनों से दिल्ली रवाना कर दिया गया। बुधवार शाम बेल्जियम के 9 और गुरुवार सुबह एक फ्रांस और एक पोलैंड के पर्यटक काे दिल्ली भेजा गया। यह सभी लोग होटलों और होम स्टे में ठहरे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *