निजामुद्दीन मरकज से लौटे भोपाल के 31 में से 22 लोगों के लिए गए सैंपल, CM ने दिए क्वारेंटाइन के आदेश

भोपाल: दिल्ली के निजामुद्दीन में मरकज में शामिल तबलीगी जमात के 31 लोग भोपाल के अलग-अलग इलाके से पकड़े गए हैं. जबकि मध्य प्रदेश से कुल 107 लोग इसमें शरीक होने गए थे. 31 लोगों के अलावा दिल्ली से लौटते समय 50 जमातें शहर की अलग-अलग मस्जिदों में रुकी थीं. एक जमात में करीब 15 से 20 या इससे अधिक लोग रहते हैं.

ऐशबाग के रहमानी मज्जिद से 11 लोगों की जमात  मिली. ये लोग बर्मा से दिल्ली निजामुद्दीन और फिर भोपाल पहुंचे. जहांगीराबाद की सिकंदराजहां मज्जिद से 8 लोगों की जमात मिली. जबकि दूसरी मज्जिद से 12 लोगों मिली जमात मिली है. 4 दिन से पुलिस इन सभी की तलाश कर रही थी. 
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जिला प्रशासन और पुलिस की मदद से ऐसे लोगों की तलाश कर उनके सैंपल लिए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि करीब 22 लोगों सैंपल लिए गए हैं. इन लोगों को घर पर ही क्वारेंटाइन किया गया है. 
बताया जाता है कि मरकज में शामिल होकर लौटी 50 जमातें भोपाल में रुकी थीं. दिल्ली से लौटे मध्य प्रदेश के 107 लोगों में से 31 लोग भोपाल के पुराने शहर के रहने वाले हैं. प्रशासन और लोगों की तलाश कर रहा है जो मरकज में शामिल हुए थे.
इसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. बैठक में निर्देश दिए कि तबलीग जमात में हिस्सा लेने वाले प्रदेश के नागरिकों को क्वॉरेन्टाइन में रखा जाए. मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जैसा कि खबर है कि कुछ दिन पहले दिल्ली के निजामुद्दी में तबलीग जमात का एक बड़ा धार्मिक आयोजन हुआ था. इसमें पूरे देश के श्रद्धालु भाग लेने गए थे. इस समूह में से 200 लोगों के COVID_19 से संक्रमित होने और इनमें से 6 लोगों की तेलंगाना में मृत होने की सूचना मिली है.
मध्य प्रदेश से भी 100 से अधिक व्यक्ति इस धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हुए थे. मुख्यमंत्री चौहान ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए की भोपाल में पाए गए इन जमातियों को चिन्हित करें. क्वॉरेन्टाइन में रखकर उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *