MP पुलिस के जवानों की चिंता करेंगे ये अधिकारी, जानिए किसको मिली कौन सी जिम्मेदारी

भोपाल. मध्य प्रदेश के डीजीपी विवेक जौहरी को इस आपदा की स्थिति में जान जोखिम में डालकर फील्‍ड में काम कर रहे जवानों की चिंता है. डीजीपी जौहरी ने ड्यूटी के दौरान मैदानी पुलिसिंग को कोई दिक्कत न आए, इसलिए छह सीनियर आईपीएस अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी है. यह पुलिस अधिकारी पुलिसकर्मियों के लिए जरूरत के सामान से लेकर उनकी हर  समस्या का निपटारा करेंगे. सभी अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारियों को लेकर एक चार्ट भी जारी कर दिया गया है.

इस चार्ट में अधिकारियों के नाम के आगे उनकी भूमिका और उनके मोबाइल फोन नंबर है. इन नंबरों पर कोई भी जवान फोन लगाकर मदद ले सकता है या फिर अपनी शिकायत को भी दर्ज करा सकता है. डीजीपी ने यह सब इसलिए किया है, ताकि पुलिस जवान एक सुरक्षा के माहौल में अपनी ड्यूटी को कर सकें.

क्वारेंटाइम स्थान को चिन्हित करने से लेकर ठहरने की जिम्मेदारी
विशेष सशस्त्र बल के स्पेशल डीजी विजय यादव को यूनिट अस्पतालों, पुलिस लाइन बैरिक, बटालियन मुख्यालय, थाना परिसर, समस्त पीटीएस, अकादमी में किसी भी स्थान को चिन्हित कर क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था दी गई है. इसी तरह एडीजी विजय कटारिया को मैदान में तैनात पुलिसकर्मियों की यूनिफॉर्म बदलने के स्थान को तय करने के साथ कर्मचारियों के रुकने और भोजन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी मिली है.

एडीजी डी श्रीनिवास देंगे सुरक्षा किट
एडीजी डी श्रीनिवास राव के पास फील्‍ड में तैनात पुलिसकर्मियों के लिए जीवन रक्षक किट तैयार कर पहुंचाने की जिम्मेदारी है. साथ ही वह हर एक पुलिस जवान को सेनेटाइजर, साबुन के साथ हर ईकाई परिसर में ब्लीचिंग पाउडर की व्यवस्था करेंगे. आईजी योगेश चौधरी और एके सिंह को वर्तमान और भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस कर्मचारियों के लिए जीवन रक्षक सामग्रियों के संबंध में आकलन कर शासन से बजट की स्वीकृति कराने की जिम्मेदारी दी गई है.

ये अधिकारी कर्मचारियों के परिवार का भी रखेंगे ध्यान
एडीजी विपिन महेश्वरी और शशिकांत शुक्ला को कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों की समस्याओं को डीजी डेस्क के माध्यम से निराकरण करेंगे. एडीजी अंवेषण मंगलम और राजेश त्रिपाठी को लॉक डाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए वाहनों को अंतर राज्यीय और अंतर जिला के साथ टेलीकॉम, इंटरनेट सेवाएं और मीडिया की जिम्मेदारी दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *