तब्लीगी मरकज की लापरवाही से फैला कोरोना, बड़ी कार्रवाई की तैयारी

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ते हुए पूरा देश लॉकडाउन है, लेकिन कुछ लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। ऐसी ही बड़ी लापरवाही दिल्ली के निजामुद्दीन में देखने को मिली है। यहां बीती 13 से 15 मार्च के बीच तब्लीगी मरकज में बड़ी संख्या में शामिल हुए। अब खुलासा हुआ है कि इनमें से कइयों को कोरोना वायरस था। इस भीड़ में शामिल लोगों में से अब तक 10 की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है, वहीं 300 लोगों को अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। मरने वालों में छह तेलंगाना के हैं। दिल्ली सरकार ने पुलिस से तब्लीगी मरकज के मौलाना के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने को कहा है।

बड़ी कार्रावाई की तैयारी: खबर है कि तब्लीगी मरकज के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हाई लेवल मिटिंग जारी है। वहीं जो विदेशी यहां मिले हैं, उनके वीजा रद्द करने की तैयारी चल रही है। एफआईआर भी हो सकती है।

बड़ी कार्रावाई की तैयारी: खबर है कि तब्लीगी मरकज के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हाई लेवल मिटिंग जारी है। वहीं जो विदेशी यहां मिले हैं, उनके वीजा रद्द करने की तैयारी चल रही है। एफआईआर भी हो सकती है।

खाली करवाया भवन: निजामुद्दीन स्थित मरकज का भवन अनधिकृत रूप से बनाया गया है। एसडीएमसी स्टैंडिंग कमेटी के डिप्टी चेयरमैन राजपाल सिंह ने सेंट्रल जोन के डीसी को पत्र लिखकर बिल्डिंग को सील करने को कहा है।

क्या है तब्लीगी
तब्लीगी का मतलब धर्म के विस्तार की शिक्षा और मरकज उसका मुख्यालय है। निजामुद्दीन स्थित इस केंद्र का मुसलमानों के लिए काफी महत्व है। 15 मार्च के बाद भी यहां विदेशी आते रहे। जिस समय लॉकडाउन हुआ, उस समय यहां 1500 लोग मौजूद थे।

कहां-कहां तक फैला संक्रमण

सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, निजामुद्दीन के मरकज में बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे, जिनमें से कुछ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। मरकज में तेलंगाना के लोग शामिल हुए थे। इनमें से हैदराबाद के गांधी अस्पताल में 2 लोगों की मौत हुई है, जबकि 2 निजी अस्पतालों में 1-1 व्यक्ति ने दम तोड़ा है। निजामाबाद और गडवल कस्बे में 1-1 व्यक्ति की मौत हुई है। वहीं दिल्ली में मरकज से जुड़े 24 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा 228 संदिग्ध मरीज भी दिल्ली के दो अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं।

विदेश से आया कोरोना वायरस

बताया जा रहा है कि मरकज से जुड़े कोरोना वायरस पीड़ित इंडोनेशिया, मलेशिया व जापान भी गए थे। वहां से लौटने के बाद इनमें से कई लोग तेलंगाना, तमिलनाडु और अंडमान गए थे। इस तब्लीगी मरकज में शामिल 1600 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है।

मौलाना के खिलाफ दर्ज होगी एफआइआर

दिल्ली सरकार ने पुलिस से तब्लीगी मरकज के मौलाना के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने को कहा है। सरकार का कहना है कि तब्लीगी मरकज में लॉकडाउन का पालन नहीं किया गया। इस संबंध में सभी जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *