मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- सिंधिया समर्थित विधायक भी तो सरकार में मंत्री थे, क्या वे भी भ्रष्टाचारी हैं

  • कमलनाथ ने कहा- 18 वर्ष में कांग्रेस ने सिंधिया को भरपूर मान-सम्मान दिया, फिर भी वे भाजपा में क्यों गए
  • बोले-  विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव हो, उपाध्यक्ष का चुनाव हो या बजट, हमने बहुमत साबित किया है

भोपाल.मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि सिंधिया समर्थित विधायक भी तो सरकार में मंत्री थे, क्या वे भी भ्रष्टाचारी हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने पर कमलनाथ ने  कहा कि 18 वर्ष में कांग्रेस ने सिंधिया को भरपूर मान-सम्मान दिया, फिर भी वे भाजपा में क्यों गए? पढ़िए बातचीत के मुख्य अंश…
सवाल : सिंधिया ने सरकार पर ढेरों आरोप लगाएं हैं?
जवाब : उनके आरोपों की सच्चाई प्रदेश की जनता जानती है। मैं व्यक्तिगत आरोप- प्रत्यारोप की राजनीति में नहीं पड़ता। यदि भ्रष्टाचार था तो 14 माह बाद क्यों याद आ रहा है। कई मंत्री उनसे जुड़े थे, क्या वे उन्हें भी भ्रष्टाचारी मानते हैं?
सवाल : सिंधिया को टिकट देने में क्या परेशानी थी?
जवाब : 18 वर्ष में कांग्रेस ने सिंधिया को भरपूर मान-सम्मान दिया। कई पद दिए। उन्हें कुछ भी देने में परेशानी नहीं रही। फिर भी वे भाजपा में क्यों गए यह वे ही बता सकते हैं।
सवाल : सरकार फ्लोर टेस्ट से क्यों बचना चाहती है?
जवाब : किसने कहा कि हम फ्लोर टेस्ट से बचना चाहते हैं। चाहे विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव हो, उपाध्यक्ष का चुनाव हो या बजट, हमने बहुमत साबित किया है। अभी भी करेंगे।
सवाल : अपने विधायकों को जयपुर क्यों भेजा? 
जवाब : भाजपा माफिया के पैसे के दम पर खरीद-फरोख्त में लगी है। भाजपा की साजिश से बचने के लिये विधायकों ने खुद जाने का निर्णय लिया। आश्चर्य इस बात का है कि भाजपा ने किस डर से अपने विधायकों को बाहर भेज दिया?
सवाल : क्या आपकी सरकार पर कोई संकट है?
जवाब : हमारी सरकार पर कोई संकट नहीं है। थोड़ा इंतज़ार कीजिये, सब ठीक होगा। भाजपा की सारी साज़िश नाकाम होगी। हमारे विधायक भाजपा के बंधन से लौट कर वापस आएंगे, सच्चाई का साथ देंगे।
सवाल : किसान कर्ज माफी पर भी सवाल उठाए गए हैं? 
जवाब : हमने पहले चरण में 20 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है। दूसरे चरण में 7.5 लाख किसानों की कर्ज माफी प्रक्रिया चल रही है। तीसरे चरण में 1 जून से किसानों के दो लाख तक के कर्ज माफ करने जा रहे हैं। मंदसौर किसान गोलीकांड के दोषियों को कतई बख्शेंगे नहीं। यह भी सब को पता है कि किसकी सरकार में यह हत्याकांड हुआ था।  
सवाल : भाजपा क्यों सरकार को अस्थिर करने में लगी है?
जवाब : 14 माह में हमने प्रदेश की तस्वीर बदलने का काम किया है। युवाओं को रोजगार दिया, नया निवेश लेकर आए हैं। आइफा से विश्व स्तरीय ब्रांडिंग करने जा रहे हैं। माफिया मुक्त अभियान चला रहे हैं। भाजपा नेताओं के भ्रष्टाचार व घोटाले उजागर हो रहे थे, यही बात उनसे सहन नहीं हुई।
सवाल : क्या सिंधिया का यह कदम कांग्रेस के साथ धोखा है?
जवाब : मैंने पहले ही कहा कि मैं व्यक्तिगत आरोप- प्रत्यारोप की राजनीति में नहीं पड़ता। माफ़िया से मिलकर सरकार को अस्थिर करने वालों को, जनादेश का अपमान करने वालों को प्रदेश की 7.5 करोड़ जनता कभी माफ़ नहीं करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *