दिल्ली से लौटे 4 विधायक मुख्यमंत्री के सामने पेश

भोपाल । हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर चल रहे घटनाक्रम में बुधवार शाम को दिल्ली से विशेष विमान भोपाल पहुंचा, जिसमें विधायकों की खरीद-फरोख्त में चर्चा में आए चार विधायक एदल सिंह कंषाना, राजेश शुक्ला, संजीव सिंह कुशवाह और रामबाई परिहार आए। इन विधायकों को विशेष विमान से बेहद ही गोपनीय ढंग से स्टेट हैंगर से बाहर निकाला गया और सीधे मुख्यमंत्री निवास ले जाया गया, जहां उनकी मुख्यमंत्री के साथ लंबी बैठक चली। स्टेट हैंगर तथा मुख्यमंत्री निवास पर इन विधायकों को मीडिया से दूर रखा गया है। उधर, यह कहा जा रहा है कि अभी भी चार विधायक लापता हैं, जिनके बारे में कांग्रेस ने नामों का खुलासा नहीं किया है।

कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और निर्दलीय विधायकों से भाजपा द्वारा कथित रूप से संपर्क कर साथ देने के लिए राशि ऑफर की गई थी। तीन दिन से चल रहे इस घटनाक्रम में भोपाल से लेकर दिल्ली और बेंगलुरु तक मध्यप्रदेश की राजनीति का केंद्र बिंदु बना रहा है। बुधवार दोपहर को दिल्ली से कुछ विधायकों को भोपाल के लिए विशेष विमान से रवाना किया गया, जिसमें उनके साथ उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, नगरीय विकास मंत्री जयवर्धन सिंह, वित्त मंत्री तरुण भनोत और विधायक कुणाल चौधरी आए।

स्टेट हैंगर के दूसरे गेट से निकाला

शाम सवा चार बजे विमान भोपाल पहुंचा, जहां मीडिया का हुजूम लगा था और मीडिया से आमना-सामना करने से बचाने के लिए विधायकों के काफिले को स्टेट हैंगर के दूसरे गेट से बाहर ले जाया गया। बताया जाता है कि काफिले में सवार चौधरी ने हाथ हिलाकर अभिवादन किया तो एदल सिंह कंषाना, राजेश शुक्ला, संजीव कुशवाह व रामबाई परिहार गाड़ी में बैठे थे। यह काफिला तेज रफ्तार से विमानतल से निकलकर मुख्यमंत्री निवास पर पहुंचा। यहां मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ उनकी बैठक शुरू हुई। इस बीच दो अन्य असंतुष्ट विधायक रणवीर जाटव व कमलेश जाटव भी सीएम हाउस पहुंच गए। इनके साथ मुख्यमंत्री की बैठक देर शाम तक चली।

चार अभी लापता

इधर, सिंधिया समर्थक जसमंत जाटव और तराना उज्जैन के विधायक महेश परमार ने भाजपा के हॉर्स ट्रेडिंग प्रस्ताव की पुष्टि की। परमार ने कहा कि उन्हें दो मार्च को शिवराज सिंह चौहान ने खुद फोन कर 35 करोड़ रुपये का ऑफर दिया था। वहीं जसमंत जाटव ने भी कहा कि उन्हें भी 35 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया था। जसमंत जाटव ने यह आरोप मीडिया से चर्चा में लगाया है। सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह व लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि अभी भी चार विधायक लापता हैं। डॉ. सिंह ने कहा कि वे चारों भी दिग्विजय सिंह के संपर्क में हैं और जल्द ही लौट आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *