चार्टर्ड बस का ड्राइवर तीन बार रास्ता भूला, यात्रियों ने किया हंगामा

भोपाल। भोपाल से छिंदवाड़ा तक चलने वाली चार्टर्ड बस में सोमवार को यात्रियों का सफर परेशानियों से भरा रहा। यह जानकार आपको हैरत होगी कि बस का ड्राइवर एक नहीं बल्कि तीन बार रास्ता भूल गया। लिहाजा गलत रूट पर करीब 25 किमी तक वह बस को घुमाता रहा। इस पर यात्रियों ने हंगामा किया तो कंडक्टर व ड्राइवर ही आपस में उलझ गए। बस अपने तय समय से दो घंटे देरी से छिंदवाड़ा पहुंची। बस यात्री उमंग खंडेलवाल ने बताया कि भोपाल से छिंदवाड़ा के लिए बस क्रमांक एमपी 09 पीए 0936 सोमवार सुबह 11.30 पर रवाना हुई थी। बुदनी के पास होशंगाबाद रूट पर जाने के स्थान पर बस सलकनपुर की ओर रवाना हो गई। करीब 25 किमी गलत रूट पर जाने के बाद यात्रियों ने आपत्ति जताई। इसके बाद बस दोबारा बुदनी से होशंगाबाद की ओर रवाना हुई।

मामला यही खत्म नहीं हुआ बल्कि ड्राइवर ने एक बार फिर बस को हाइवे पर ले जाने के स्थान पर होशंगाबाद शहर के अंदर ले गया। जब यात्रियों ने रास्ता बताया तो बस को सही दिशा में ले जाया गया। यही नहीं मुलताई से छिंदवाड़ा की ओर जाने के बजाय वह बस को नागपुर रोड पर ले गया। ऐसे में यात्रियों को ही ड्राइवर को सही रूट बताना पड़ा।
कंडक्टर और ड्राइवर की बीच विवाद : यात्रियों ने जब गलत रूट पर बस चलाए जाने को लेकर हंगामा किया तो कंडक्टर और ड्राइवर के बीच ही विवाद हो गया। दरअसल, कंडक्टर से ड्राइवर कह रहा था कि उसने सही रूट की जानकारी ही नहीं दी। जब यात्रियों ने बात की ड्राइवर ने उनके साथ भी अभद्रता कर दी। इधर, भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) के जनसंपर्क अधिकारी संजय सोनी का कहना है कि ऐसी कोई घटना की जानकारी नहीं मिली है।

बस में नहीं लिखा था टोल फ्री नंबर, शिकायत दर्ज नहीं कर सके यात्री

परेशान यात्रियों की शिकायत दर्ज नहीं हो सकी। दरअसल, शिकायत के लिए चार्टर्ड बस में टोल फ्री नंबर नहीं लिखा था। भोपाल चार्टर्ड दफ्तर के नंबर पर भी शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। जब बस दो घंटे देरी से शाम 7.30 पर छिंदवाड़ा पहुंची तो यात्री चार्टर्ड बस ऑफिस में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे, लेकिन यहां भी शिकायत दर्ज नहीं हो पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *